Acharya Indu Prakash
Fashion Blog

It's common knowledge that a large percentage of Wall Street brokers use astrology.

Acharya Indu prakash

Janmashtami Pooja Process



भगवान् श्री कृष्ण का कैसे पूजन करे

श्री कृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर विशेष पूजन कर अपने जीवन से कष्टों को दूर कर सकते है | नौकरी में कुछ अच्छा नहीं चल रहा है ,रोग से ग्रसित है ,धन रुक नहीं रहा है आदि कष्टों के निवारण के लिए आप भगवान् श्री कृष्ण का पूजन करे ,सबसे पहले व्रत का नियम प्रातः काल उठकर स्नानादि नित्यकर्म से निवृत होकर व्रत का निम्न संकल्प करे इसके पश्चात केले के खम्भे ,आम अथवा अशोक के पत्तों आदि से घर का द्वार सजाये तथा दरवाजे के मुख्य द्वार पर मंगल कलश भी स्थापित करे | रात्री में भगवान् श्री कृष्ण की मूर्ती की विधिपूर्वक पंचामृत से स्नान कराकर ,षोडशोपचार करते समय इस मंत्र का जाप करे | ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः | जन्मोत्सव के पश्चात कर्पुरादी प्रज्ज्वलित कर भगवान् की आरती करे व प्रसाद का वितरण करे |

आर्थिक समस्या दूर करने के लिए –

जिन लोगों के पास धन रुकता नहीं या फिर आर्थिक समस्या बनी रहती है वे जन्माष्टमी की रात्री १२ बजे एकांत में लाल वस्त्र पहन कर बैठे | अपने समक्ष 10 लक्ष्मी कारक कौड़ियों को रखकर तेल का दीपक जलाएं | प्रत्येक कौड़ी को सिन्दूर में भरकर रख ले | तत्पश्चात हकीक की माला से निम्न मंत्र “ॐ ह्रीं श्रीं श्रीयै फट”की 5 माला का जाप करे | जप पूर्ण करने के बाद पूजन में राखी कौड़ियों को धन रखने के स्थान पर रख दें | ऐसा करने से धन रुकने लगता है एवं आर्थिक स्थिति में मजबूती आती है |

अगर रुक नहीं रहा है धन –

अगर धन रुक नहीं रहा है तो श्री कृष्ण का पूजन करते समय पूजन स्थान पर कुछ मुद्रायें रखे | पूजन करने के बाद वे मुद्रायें अपने पर्स में रख लें | ऐसा करने से पर्स कभी खाली नहीं रहती है | सुख-समृद्धि बनाएं रखने के लिए जन्म अष्टमी के दिन सायं काल तुलसी पौधे के नीचे घी का दीपक जलाकर निम्न मंत्र ॐ वासुदेवाय नमः की 2 माला का जाप करें | इस उपाय को करने से श्री कृष्ण की असीम कृपा बनी रहती है |

धन की प्राप्ति के लिए –

जन्म अष्टमी की रात्री 12 बजे श्री कृष्ण का ,दूध से अभिषेक करने से घर में धन वैभव बना रहता है | माँ लक्ष्मी की कृपा बनायें रखने के लिए आज के दिन पीला अनाज दान करने से पूरे वर्ष माँ लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है |

घर में कलह दूर करने के लिए –

जन्म अष्टमी के दिन क्लीं कृष्णाय वासुदेवाय हरि परमात्मने प्रणतःक्लेशनाशाय गोविन्दाय नमो नमः  इस मंत्र का किसी  मंदिर में तुलसी की माला से जाप करने से घर में हर प्रकार सुख व् शांति बनी रहेगी |

रोग नाश करने के लिए –

दक्षिणावर्ती शंख से श्री कृष्ण जी का अभिषेक करने से घर में रोग का नाश होता है तथा लक्ष्मी जी की कृपा बनी रहती है |

 

जन्माष्टमी पूजा विधि 

जन्माष्टमी हिन्दुओं  का पवित्र त्यौहार माना जाता है | इस दिन भगवान श्री कृष्ण जी को प्रशन्न करने के लिए बहुत  सारे कार्यक्रम आयोजित किये जाते है | भक्त लोग पुरे दिन अपने घर और मंदिरों में जाकर भगवान के भजन करते है मंदिरों को फूलों और लाइटों से सजाया जाता है |

बच्चे श्री कृष्ण , राधा ,सुदामा  जी के अभिनय को करके उनकी याद दिलाते है | भारी मात्रा में भक्त मंदिर जाकर इन सब झांकियों के देख कर बहुत प्रशन्न होते है |सुबह से ही भगवान श्री कृष्ण जी  की पूजा आरम्भ हो जाती है सबसे पहले भगवान श्री कृष्ण जी को कई चीजों से नहलाते है जैसे की दूध ,दही,घी,शहद ,गंगाजल इत्यादि ...

और फिर नए वस्त्र  पहनाये जाते है और फिर उनको पेड़ा,दूध,खीर आदि से  भोग  लगाया जाता है ,उसके बाद भगवान जी की आरती बड़े  ही ध्यान से की जाती हे और अंत में वो ही प्रसाद खा कर भक्त अपना व्रत खोलते है |

जय श्री कृष्णाय नमः

 

Janmashtami Pooja Process 

Janmashtami is considered as a pure day by hindus. Various activities are done to make Lord Krishna happy. Firstly bhajans are being sung ahole the day in all the temples and all homes by devotees. Temples are decoraed with flowers and lightning. Kids play role of different character like Krishna, Sudama, Radhe, Kans etc to review the past.

Large number of of devotees visit at temple to feel good by watching kids in their respective characters. Pooja process begins in early morning for giving bath to Lord Krishna's idol with lot of things like curd, honey, ghee, gangajal etc. Finally new clothes are Put on to idol. And then Bhog is offered to idol of lord Krishna with pedha, milk, kheer etc. At last special pooja is done by blownig conch and aarti is done. After all this devotess break thier fast.



Advertise

Your AD Here

Related Articles


Contact Us

Now You can publish your articles with us. if selected it will be publised in our magazines after taking your conformation