Acharya Indu Prakash
Fashion Blog

It's common knowledge that a large percentage of Wall Street brokers use astrology.

Acharya Indu prakash

देवी चंद्रघंटा



chandraghanta

 

माँ चंद्रघंटा की कृपा से साधक के समस्त पाप और बाधाएं नस्ट हो जाते हैं | माँ भक्तो के कष्ट का निवारण ये शीघ्र कर देती हैं | इसका वाहन सिंह हैं, अतरू इनका उपासक सिंह की तरह पराक्रमी और निर्भया हो जाता है | इनके घंटे की ध्वनि सदा अपने भक्तों की प्रेत से रक्षा करती है |

माँ दुर्गा की त्रित्य सक्ति का नाम चंद्रघंटा है | नवरात्रि विग्रह के तीसरे दिन इन का पूजन किया जाता है | माँ का यह स्वरुप शांतिदायक और कल्याणकारी है | इनके माथे पर घंटे के आकर का अर्धचंद्र है, इसी लिए इन्हें चंद्रघंटा कहा जाता है | इनका शरीर स्वर्ण के सामान उज्जवल है, इनके दस हाथ हैं | दसों हाथों में खड्ग, बाण आदि शस्त्र सुशोभित रहते हैं |  इनका वाहन सिंह हैं | इनकी मिदरा युद्ध के लिए उद्यत रहने वाली हैं | इनके घंटे की भयानक चंडध्वनि  से दानव , अत्याचारी, दैत्य डरते रहते हैं | इस दिन साधक का मन मणिपुर चक्र में प्रविष्ट होता हैं माँ चंद्रघंटा की कृपा से साधक के समस्त पाप और बाधाएं नष्ट हो जाते हैं | माँ भक्तों के कष्ट का निवारण ये शीघ्र कर देती हैं | इनका वाहन सिंह हैं, अतः इनका उपासक सिंह की तरह पराक्रमी और निर्भय हो जाता है | इनके घंटे की ध्वनि सदा अपने भक्तों की प्रेत से रक्षा करती है | माँ चंद्रघंटा के साधक और उपासक जहाँ भी जाते है लोग उन्हें देखकर शांति और सुख का अनुभव करते हैं | माँ चंद्रघंटा की कृपा से साधक की समस्त बाधाएं दूर हो जाती हैं | भगवती चंद्रघंटा का ध्यान, स्तोत्र और कवच का पाठ करने से मणिपुर चक्र जाग्रत हो जाता है और सांसारिक परेशानियों से मुक्ति मिल जाती है |

विवाह में बाधा निवारण के उपाय

विवाह में आने वाली वाधा दूर करने के लिए ये उपाय बहुत ही कारगर है | 36 लौंग और 6 कपूर के टुकड़े लें, इसमें हल्दी और चावल मिलकर इससे माँ दुर्गा को आहुति दें | आहुति देने के पहले लौंग और कपूर पर बाधा निवारण मन्त्र का ग्यारह माला जप करें |

सर्वाबाधा विनीमुर्क्तो धन धान्यं सुतान्वितः |

मनुष्यो मत्प्रसादेन भवष्यति न संशयः ||

कारोबार में बाधा निवारण के उपाय अगर आप का कारोबार ठीक से नहीं चल रहा है तो दूर करने के लिए लौंग और कपूर में अमलताश नहीं है तो कोई भी पिला फूल मिलाये माँ दुर्गा को आहुति दें आपका बिज़नेस खूब फलेगा | आहुति से पहले सामग्री पर बाधा निवारण मन्त्र की एक माला जप करें |

विदेश यात्रा में बाधा निवारण उपाय

जिन लोगों की विदेश यात्रा में कठिनाई या बाधा आ रही है वो मूली के टुकड़ो को हवन सामग्री में मिला लें और हवन करें | विदेश यात्रा का योग बनेगा | आहुति से पहले सामग्री पर बाधा निवारण मन्त्र की छः माला जप करें |

स्वास्थय सम्बन्धी बाधा निवारण उपाय

अगर किसी को स्वास्थ सम्बन्धी परेशानी हो तो 152 लौंग और 42 कपूर के टुकड़ो लें इसमे नारियल की गिरी शहद और मिश्री मिला लें | इससे हवन करें सभी समस्याओं से निजात मिलेगा | आहुति से पहले सामग्री पर बाधा निवारण मन्त्र की पांच माला जप करें |

 

 

 

 

 

 


नवरात्र के तीसरे दिन देवी चंद्रघंटा की पूजा की जाती है | माँ का यह रूप पाप - ताप और सभी विघ्न बाधाओं से मुक्ति प्रदान करता है | परम शांतिदायक और कल्याणकारी है माँ का ये रूप |

 

माता देवी चंद्रघंटा के उपाय :-

ऋण मुक्ति के उपाय :-
उपाय :- 1  कच्चे आटे की लोई में गुड भरकर पानी में बहायें |
उपाय :- 2  कमल गट्टे को पीस कर देशी घी की सफ़ेद बर्फी मिला कर 21 आहुति दें | 
उपाय :- 3  पीली कौड़ी और हर सिंगार की जड़ को रोली, अक्षत, पुष्प, धूप, दीप से पूजन करके धारण करें, या अपने पास रखें तो ऋण से मुक्ति प्राप्त होगी |
उपाय :- 4  सफ़ेद कपड़े में पांच गुलाब के फूल, चांदी का टुकड़ा, चावल और गुड, सफ़ेद कपड़े में रखकर 21 बार गायत्री मन्त्र का पाठ करें | "मेरी परेशानी उतर जाये मेरा कर्ज उतर जाये" मन में ऐसा विचार करते हुये जल में प्रवाहित करें | 
उपाय :- 5  कमल की पंखुड़ियों में आज के दिन माता को मक्खन मिसरी का भोग लगाकर 48 लौंग और 6 कपूर की आहुति दीजिये | 
उपाय :- 6  केले के पेड़ की जड़ में रोली, चावल, फूल और जल अर्पित करें और नवमी वाले दिन केले के पेड़ की थोड़ी सी जड़ तिजोरी में रखें कर्ज से मुक्ति होगी |  
उपाय :- 7 पांच गुलाब के खिले हुये फूलों को गायत्री मन्त्र पढ़ते हुये डेढ़ मीटर सफ़ेद कपड़े में बाँध दीजिये और इसे नदी में प्रवाहित कर दीजिये | जल्दी ही आपको कर्ज से मुक्ति मिलेगी |

राशि :-

मेष राशि :- राशि वालों आर्थिक स्थिति बेहतर होगी | इस साल वाहन और मकान दोनों के लिये ऋण लेने का योग बन रहा है | लेकिन उम्मीद है कि आप इस काम में पूरी सावधानी बरतेंगे और लिया गया कर्ज आप पर बोझ नहीं बनेगा | ऋण मुक्ति  मन्त्र 21 बार रोज पढ़ें |
वृष राशि :- जीवन स्तर के सुधार के लिये ऋण लेंगे | अचल संपत्ति और वाहन दोनों में सुधार होगा जो आपके लिये मुनाफे की नजर से बेहतरी की वजह बनेगा | साल ख़त्म होते होते ये बोझ कम हो जायेगा साथ ही अगले साल तक ये बोझ, बोझ न रह कर खिलौना बन जायेगा | पश्चिम दिशा की ओर मुंह करके ऋण मुक्ति मन्त्र को 23 बार जरुर पढ़ें |
मिथुन राशि :- राशि वालों इस साल नये कर्ज लेंगे लेकिन कर्ज लेने में सावधानी वरतें क्योंकि मुनाफे और आमदनी का ऋण से तालमेल विठाकर ही कर्ज लेना उचित रहेगा | इस मामले में चूक भारी पड़ सकती है | इस लिये कर्ज लेने से पहले परिस्थितियां का सटीक आंकलन कर लेना बेहतर होगा |  ऋण मुक्ति मन्त्र को 25 बार रोज पढ़ें |
कर्क राशि :- ऋण बढ़ेगा | ऋण और रोग दोनों से ही बचने की कोशिश करनी होगी साथ ही आमदनी की बढ़ोत्तरी का जरिया भी खोजना होगा | मौजुदा आमदनी पर्याप्त नहीं है, लेकिन सावधान आमदनी बढ़ाने के चक्कर में आपके कदम भटक सकते हैं, सावधान रहें | ऋण मुक्ति मन्त्र को 20 बार रोज पढ़ें |
सिंह राशि :- साल के शुरू में ही ऋण ले लेंगे लेकिन साल ख़त्म होते - होते बोझ हल्का हो जायेगा | शादी ब्याह के लिये रिश्तेदारों से व्यक्तिगत कर्ज लेंगे जो समय के साथ खुद ही निपट जायेगा | ऋण मुक्ति मन्त्र को पूर्व दिशा की ओर मुंह करके 32 बार रोज पढ़ें |
कन्या राशि :- अचल सम्पत्ति में पूँजी निवेश करने के लिये ऋण लेंगे जो शीघ्र ही आपके लिये मुनाफे का साधन बन जायेगा | काफी लम्बे समय बाद आप ऋण का स्वाद चखेंगे और वो भी मजे के लिये | ये ऋण बोझ न होकर खिलौना होगा और जल्द ही उतर जायेगा |  उत्तर दिशा की ओर मुंह करके ऋण मुक्ति मन्त्र को 24 बार रोज पढ़ें |
तुला राशि :- राशि वालों कर्ज के मामले में आपको सावधान रहना होगा | मौजुदा ग्रह गोचर कर्ज लेने के लिये अनुकूल परिस्थितियों का संकेत नहीं दे रहा है | इसलिये बहुत जरुरत पड़ने पर ही ऋण लेने का विचार बनायें | ऋण मुक्ति मन्त्र को पश्चिम दिशा की ओर मुंह करके 27 बार रोज पढ़ें |  
वृश्चिक राशि :- राशि वालों ये वर्ष भी आपके लिये ऋण और तनाव से मुक्ति का है | इस समय का आनंद लें | अचल संपत्ति के निर्माण में हल्का फुल्का ऋण लेना पड़ सकता है जो हंसते खेलते उतर जायेगा | ऋण मुक्ति मन्त्र को 21 बार रोज पढ़ें |
धनु राशि :- धनु राशि वालों कर्ज लेने की आवश्यकता नहीं है लेकिन चल और  अचल संपत्ति की खरीद के लिये जल्द ही कर्ज लेंगे और तीन साढ़े तीन वर्षो में ये कर्ज उतर जायेगा | ऋण मुक्ति मन्त्र को ईशान दिशा की ओर मुंह करके 54 बार पढ़ें |
मकर राशि :- मकर राशि वालों आमदनी बढ़ेगी और कर्ज लेने से बचेंगे | जरुरत होने पर भी आप कर्ज लेना avoid करेंगे | जून और जुलाई के महीने में किसी रचनात्मक काम के लिये कर्ज लेना पड़ सकता है | ऋण मुक्ति मन्त्र 26 बार रोज पढ़ें |
कुम्भ राशि :- राशि वालों आर्थिक स्थिति बेहतर होगी | इस साल वाहन और मकान दोनों के लिये ऋण लेने का योग बन रहा है | लेकिन उम्मीद है कि आप इस काम में पूरी सावधानी बरतेंगे और लिया गया कर्ज आप पर बोझ नहीं बनेगा | पश्चिम दिशा की ओर मुंह करके 31 बार रोज पढ़ें |
मीन राशि :- आपको अपने पुराने मकान के रिनोवेशन, मांगलिक कार्य या किसी नये प्रोजेक्ट के लिये बहुत थोड़ी मात्रा में, आसानी से अदा होने वाला ऋण लेना पड़ेगा | ऋण मुक्ति मन्त्र 21 बार रोज पढ़ें | 



Advertise

Your AD Here

Related Articles


Contact Us

Now You can publish your articles with us. if selected it will be publised in our magazines after taking your conformation