Acharya Indu Prakash
Fashion Blog

It's common knowledge that a large percentage of Wall Street brokers use astrology.

Acharya Indu prakash

सूर्य पुत्र कर्ण ने शुरू की थी छठ पूजा



छठ पूजा का आरम्भ सूर्य पुत्र कर्ण ने किया था, वे प्रतिदिन घंटों पानी में खड़े होकर सूर्य को अर्ध्य देते थे। सूर्य भगवान की कृपा से ही वे महान योद्धा बने थे । द्रोपदी अपने परिवार के कल्याण और लंबी उम्र के लिए नियमित सूर्य पूजा किया करती थीं ।

छठ अर्थात सूर्य पूजा किये जाने के प्रमाण महाभारत काल से मिलते है। कर्ण भगवान सूर्य के अनन्य भक्त थे। छठ पूजा का आरंभ सूर्य पुत्र कर्ण ने ही किया था। पुराणों से मिली जानकारी के अनुसार वे प्रतिदिन घंटों कमर तक पानी में खड़े हो कर सूर्य को अध्र्य देते थे। सूर्य भगवान की कृपा से ही वे महान योद्धा बने थे। महाभारत में इस बात का भी उल्लेख मिलता है पांडवों की पत्नी द्रोपदी अपने परिवार के कल्याण और लंबी उम्र के लिए नियमित सूर्य पूजा किया करती थीं। किस प्रकार दें अध्र्य किसी भी पवित्र नदी में कमर तक पानी में खड़े होकर भगवान सूर्य को प्रातः काल और शाम को अध्र्य दें। उसके बाद एक टोकरे में विभिन्न प्रकार के फल जैसे नारियल, सेब, अनार, सिंघाड़ा, केला, मिठाई रखकर टोकरे पर घी के दीपक जला कर परिक्रमा की जाती है। यह गेहूं के आटे में गुड़ या शक्कर(चीनी) मिलाकर एक खास प्रकार का प्रसाद बनाया जाता जिसको ठेकुआ कहा जाता है यह छठ मैया का प्रिय प्रसाद है । पूजा के दिन सुहागिनों को सिंदूर लगाया जाता है। और यह सब सामग्री घर में सब ही लोगों में बाँट दी जाती है ।

 

Chhath pooja started by karna

 

The origin of Chhath or Surya Pooja is from the age of Mahabharat. Karan was an avid devotee of Lord Surya. Chhath Pooja was initiated by the son of Lord Surya, Karan. From the knowledge gained by the Purans, Karan used to stand for hours in water upto his back offering arghya to Lord Surya. By the blessings of Lord Surya he became a great warrior. It is mentioned in the Mahabharat that D r a u p a d i u s e d t o worship Lord Surya for the benefit and long life of her family.

 

How to offer arghya:

 

Stand in any river with water upto your back and offer arghya to Lord Surya early in the morning or in the evening. Collect different fruits like coconut, apple, pomegranate, banana, water chestnut and sweets in a basket and light a diya filled with ghee atop the basket. After that move around the basket in circles. A special prasad is made by mixing jiggery or sugar in wheat flour. This is called thekua and is believed to be liked by Goddess Chhath. Married women apply sindhoor on the day of pooja. All items used in the pooja are distributed among the people of the house.

 

छठ –व्रत 

बिहार से लेकर मुम्बई तक मनाये जाने वाले छठ व्रत की कहानी काफी पुरानी है | वेद  से लेकर पुराणों तक में इसका जिग्र है कि भगवान राम का लंका से अयोध्या लौटने पर उनका राज्याभिषेक इसी दिन हुआ था | राम और सीता ने यशस्वी पुत्र कामना के लिए छठ का व्रत किया था | महाभारत में भी छठ व्रत का जिग्र आता है | जब पांडव वनवास में थे और उनका सब कुछ छीन गया था तब भगवान कृष्ण ने द्रौपदी को छठ का व्रत रहने के लिए कहा था द्रौपदी ने इस व्रत को किया और सूर्य भगवान के आशीर्वाद से उन्हें महाभारत कि लड़ाई में जीत  मिली | पुराणों में कहा गया है कि छठ का व्रत करने वाले की जिन्दगी में मंगल ही मंगल होता है जिनके घर में बरसों से संतान नहीं हुई हो इस व्रत को करने से सूर्य भगवान को अर्ध्य देने से आंगन में किलकारिया गूंजने लगती है | पुराणों में कहा गया है कि छठ के दिन सूर्य को अर्ध्य देने से रोगों से मुक्ति मिलती है | और छठ माता हर मुराद पूरी करती है |

Dim lights Embed 

सूर्योदय एवं सूर्यास्त


मुंबई में सूर्यास्त -

 

सूर्य होरा 
शुभ चौघड़िया

मुंबई में सूर्योदय

पटना में सूर्यास्त

शुक्र होरा 
शुभ चौघड़िया

पटना में सूर्योदय

दिल्ली में सूर्यास्त

सूर्य होरा 
शुभ चौघड़िया

दिल्ली में सूर्योदय

लख्ननऊ में सूर्यास्त

शुक्र होरा 
शुभ चौघड़िया

लखनऊ में सूर्योदय

कोलकाता में सूर्यास्त

शुक्र होरा 
शुभ चौघड़िया

कोलकाता में सूर्योदय

मेष  राशि----------आज के दिन अपने मन में शुद्ध विचार रखें और कर्मो की शुद्धता बरक़रार रखे किसी बुजुर्ग महिला से आशीर्वाद लें | शनि देव को प्रसन्न करने के लिए बंदर को केला खिलाएं  आर्थिक तंगी दूर  होगी नौकरी या बिजनेस में तरक्की के लिए एकांत जगह में सुरमा जमीन में दबा दें बेहतर स्वास्थ्य  के लिए बरगद के पेड़ की जड़ के दूध का तिलक करे |
वृष राशि ---------रसोई को अपवित्र ना बनाए बड़े भाई या गाय की सेवा करे और सूर्य को मीठे पानी का अर्ध्य दे , शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए ध्यान रखे कि धर्मस्थान से आपका जूता चोरी ना हो  , लोहे का सामान आज के दिन ना खरीदे और काले कुत्ते को रोटी दे |
मिथुन राशि --------मुली का दान करे झूठ बोलने से परहेज रखे | शनि देव को प्रसन्न रखने के लिए अपने घर के छत कि सफाई करे और किसी छोटी कन्या का आशीर्वाद ले सबकुछ अच्छा होगा |
कर्क राशि ----------छठ के दिन किसी भी हालत में बहन से झगडा न करे | काले और हरे कपड़े ना पहने | शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए कुएं में दूध डाले |
सिंह राशि -----------पीतल के बर्तनों का प्रयोग करें बहुत नर्म या गर्म स्वभाव ना रखे | दान के माल से दूर रहे शनि देव को प्रसन्न करने के लिए मिट्टी के बर्तन में शहद भर कर एकांत स्थान पर रखे |
कन्या राशि ---------सिर पर पगड़ी या टोपी धारण करे | अपना भेद किसी को ना बताये और शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए चांदी का चौकोर टुकड़ा अपने पास रखे | और आठ किलो उड़द जल प्रवाह करे |
तुला राशि --------- महिलाओं  के झगडे में ना, पड़े नेत्रहीनो को भोजन करायें, और शरीर पर शुद्ध सोना धारण करे शनि देव को प्रसन्न करने के लिए नंगे पैर मंदिर में जाये |
वृश्चिक राशि --------अगर नौकरी करते हैं या बिजनेस करते हो तो अपना व्यवहार बहुत ही बिनम्र रखे | लेकिन आप किसी सरकारी विभाग में नौकरी करते हो तो अपना व्यवहार गर्म रखना चाहिए | शनि देव को प्रसन्न करने के लिए पूजा के दौरान सोना और केसर अपने साथ रखे |
धनु राशि ---------सूर्य को अर्ध्य देते समय बेहद सावधानी बरते हो सके तो मीठे पानी से अर्ध्य दे | आवश्यकता अनुसार आप पानी में चीनी घोल सकते है | शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए घर से निकलते  समय पानी या दूध से भरा घड़ा कलश के तौर पर रखे इसे अपने दरवाजे के बायीं  ओर स्थापित करे |
मकर राशि ---------आज के दिन झूठ बोलने से परहेज करे | किसी के प्रति इर्ष्या अपने मन में ना रखे | और अपने भांजे को कुछ गिफ्ट करे | तिन कुत्तो को अपने भोजन का हिस्सा देने से शनिदेव प्रसन्न होंगे |
कुम्भ राशि ---------मुफ्त के माल पे नजर ना रखें | किसी से गिफ्ट या दान ना लें नारियल या सरसों का तेल या बादाम धर्मस्थान पर दान करें | शनिदेव कि कृपा पाने के लिए तांबे के बर्तनों का प्रयोग करें | भूमि शयन करे दूसरो के माल पर नज़र ना रखें और पराई स्त्री से दूर रहें |
मीन राशि ----------किसी से बिजली का सामान गिफ्ट ना ले | किसी कि अमानत पर नज़र ना रखें | भूरी चीटियों को चावल का आटा , गेहूं का आटा और चीनी मिलाकर खिलाये  शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए केसर का तिलक लगायें |
                                    राशिफल के अनुसार उपाय
मेष राशि ---- वैरागी स्वभाव ,बच्चो कि उन्नति एनर्जी लेवल डाउन ,एसिडिटी गैस और कन्फ्यूजन से अपना बचाव करे |
उपाय - पूरे महीने सोना धारण करे | नेत्रहीनो को भोजन कराये |
वृष राशि - नई नौकरी की प्राप्ति होगी बच्चों से मनमुटाव होगा भाग्य में बढ़ोत्तरी होगी | एकाउंट्स में गड़बड़ी हो सकती है | दूसरों के जलन का शिकार हो सकतें हैं |
उपाय - पीतल के बर्तनों का प्रयोग करें | लाल रंग का रूमाल अपने पास रखें |
मिथुन राशि - बहुत सी सम्मान जनक स्थिति ,प्रेम सम्बन्ध बेहतर होंगे |हर कामना पूरी होगी |
सोते समय ऊर्जा से भरे रहेंगे |
उपाय - भूरी चींटियों को त्रिचौली यानी चावल का आंटा या गेंहू का आंटा और चीनी मिलाकर डालें | 
दिन की शुरुआत शहद खा कर करें  |
कर्क राशि - स्वभाव में मधुरता बनी रहेगी | प्रेम संबंधो में नई मधुरता आएगी | दूर स्थान से सफलता के समाचार प्राप्त होंगे |
उपाय- घर से निकलते वक्त चीनी खाकर पानी पीकर जाये | घर में इस महीने बेलदार पौधे न लगाये |    
सिंह राशि - जीवन साथी को मिलेगा ढेर सारा प्यार, मनोकामनाएं पूरी होंगी पैतृक संपत्ति से फायदा होगा बेटी से सुख मिलेगा |
उपाय - सर पर टोपी लगाकर रखें | यानी इस महीने सूर्य की रोशनी नंगे सिर पर न पड़े | हिरण को घास खिलाएं | अगर पॉसिबल न हो तो पोस्टर घर में लाकर घर की दक्षिण दीवार पर चिपकाएँ |
कन्या राशि – इस महीने आपका स्वभाव किसी नेता की तरह होगा | वादे तो करेंगें लेकिन उन्हें निभाने की याद नहीं रहेगी | अगर वादे निभाएं तो किस्मत साथ देगी | दाम्पत्य जीवन में खटपट होगी, राज्य या पिता से कुछ फायदा होगा | नजले जुकाम और मानसिक दुश्चिन्ताओं से अपना बचाव करें |
उपाय - रविवार के दिन मांस मछली का सेवन न करें, अगर बच न सके तो बुधवार को मूली का दान करें | मिट्टी के बर्तन में शहद भरकर घर में रखें |
तुला राशि- धर्म के प्रति आस्था रखने से स्वभाव इस महीने मधुर रहेगा | अगर धर्म कि उपेक्षा कि तो इस महीने कई बनते काम आपकी कटुवाणी कि वजह से बिगड़ सकते है |
उपाय - जेलसी से बचे और बीते समय को याद ना करें | इस महीने अपने घर में मंगलवार को अपने घर में नीम का पेड़ लगाये अगर मुमकिन न होतो पेड़ के निचे कुछ देर के लिए जाकर खड़े हो जाएं |
वृश्चिक राशि - बहन से प्यार मिलेगा |-पिता से दुरी बढ़ेगी | - एक्स्ट्रा मैरिटल रिलेशन्स से सावधान रहे |       
उपाय -बड़े भाई को कुछ गिफ्ट करे - किसी बुजुर्ग विधवा  स्त्री का आशीर्वाद प्राप्त करे |
धनु - इस महीने स्वभाव बहुत उग्र रहेगा | लेकिन उग्र रहेगा | लेकिन आप संभल संभल कर चलेगे | पराक्रम बढ़ेगा | मेहनत से उन्नति का रास्ता खुलेगा | भाग्य रह रहकर साथ छोड़ता नज़र आएगा लेकिन किस्मत से बहुत कुछ मिलेगा | 
उपाय - नारियल और बादाम धर्म स्थान पर दान करें | मीठा खाकर दिन की शुरुआत करे |
मकर - स्वभाव मदुर होगा | बच्चो कि शिक्षा में बेहतरी होगी | मुक़दमे में जित सकते है | 
उपाय - गंगाजल घर में रखे ,और बंदर को गेहूं गुड खिलाये | इस महीने घर में ख़ुशी हो तो मिठाई न बांटे अगर मिठाई बांटना मज़बूरी हो तो साथ में कुछ नमकीन भी बांटे | 
कुम्भ - बच्चे पढाई के लिए घर से दूर जायेगे | भाई से नजदीकी बढ़ेगी | नया वाहन और नया मकान भी खरीद सकते है |
उपाय - माता या दादी का आशीर्वाद ले | चांदी के कड़े में तांबे कि किल लगवाकर दाहिने हाथ में पहने | 
मीन - स्वभाव बहुत गंभीर रहेगा | शरीर एनर्जी लेवल से भरा हुआ है | गणेश जी को सफेद फूल चढ़ाने से किस्मत में इजाफा होगा |
उपाय - पूरे महिने घर की पश्चिम दिशा में कम से कम उजाला रखें 
- भाई या साले को कुछ गिफ्ट करें |



Advertise

Your AD Here

Related Articles


Contact Us

Now You can publish your articles with us. if selected it will be publised in our magazines after taking your conformation