Acharya Indu Prakash
Fashion Blog

It's common knowledge that a large percentage of Wall Street brokers use astrology.

Acharya Indu prakash

थाई पोंगल (Thai Pongal)



थाई पोंगल

तमिल में पोंगल का अर्थ होता है दूध में चावल उबालना। थाई पोंगल के दिन तमिल लोग अपने घर को रंगोलियों, आम और केले के पत्तों से सजाते हैं और सूर्य देव का पूजन करते हैं।
इस चार दिवसीय फसलों के त्योहार में बारिश, सूर्य और खेतीहर जानवरों का शुक्रिया अदा किया जाता है। यह एक तरह से लघु दीपावली जैसा होता है, जिसमें सिर्फ आतिशबाजी नहीं होती। पोंगल तमिल महीने “थाई” के पहले दिन मनाया जाता है इसलिए इसे “थाई पोंगल” कहते हैं।
इस दिन लोग तड़के ही उठ जाते हैं और नए कपड़े पहनकर मंदिर जाते हैं, जहां विशेष पूजा-अर्चना की जाती है।
लोग पारम्परिक व्यंजन बनाते हैं। “चकारई पोंगल” के साथ “वेन पोंगल” भी बनाया जाता है। “वेन पोंगल” चावल, दाल, घी और तले हुए काजू से बनाया जाता है। जब उबलते दूध में कच्चे चावल और दाल डाली जाती हैं तो लोग जोर-जोर से “पोंगोलो पोंगल, पोंगोलो पोंगल” बोलते हैं। कुछ घरों में पूजा के दौरान शंख बजाया जाता है। इस दिन से तमिल महीना चिथिरई शुरू होता है।
केरल के राजधानी नगर तिरुवनंतपुरम से तीन किमी की दूरी पर स्थित अट्टूकल के विख्यात काली माता मंदिर का भव्य, शानदार और अनूठा पोंगल महोत्सव दुनियाभर में मशहूर है। इस महोत्सव की खास बात यह है कि इसमें केवल स्त्रियां ही भाग लेती हैं।
इस पवित्र अवसर पर स्त्रियां नैवेद्य तैयार कर मातृस्वरूपिणी काली माता को चढ़ाती हैं। गिनीज बुक ने प्रमाणित किया कि 23 फरवरी 1997 के पोंगल महोत्सव में 15 लाख महिलाओं ने हिस्सा लिया था। यह अवलोकन किया गया कि दुनियाभर में स्त्रियों के किसी धार्मिक पर्व में इतनी महिलाएं अन्यत्र कभी इकट्ठा नहीं हुईं। इसे 2006 में गिनीज बुक में दर्ज किया गया था।

Thai Pongal

Thai Pongal has been celebrated for over 2200 years by Tamils world wide. Pongal is a non & religious festival celebrated over four days to honour and thank Nature and the Agricultural livestock for supporting our livelihood. Markham became the first municipality in Canada to officially recognize this auspicious celebration by proclaiming January 13, 14 and 15 as Tamil Heritage Days, Tamil New Year, Thai Pongal. Please join us as we celebrate Thai Pongal to euperience the display of a rich culture, enjoy entertainment by young talented artists and partake in homemade traditional refreshments.



Advertise

Your AD Here

Related Articles


Contact Us

Now You can publish your articles with us. if selected it will be publised in our magazines after taking your conformation