Acharya Indu Prakash
Fashion Blog

It's common knowledge that a large percentage of Wall Street brokers use astrology.

Acharya Indu prakash

शरद पूर्णिमा



मनुष्य की कामनाओं को पूर्ण करने वाली ,पूर्ण चन्द्र से युक्त ,अधूरेपन से पूर्णता की और ले चलने वाली तिथि को पूर्णिमा कहते हैं | -' पूरणं  पूर्णिः  ,   पुर्णिम मितीते पूर्णिमा’ | मत्स्य पुराण के इस उद्धरण को हेमाद्री के काल खंड के प्रष्ट -311 पर भली- भाँती देखा समझा जा सकता है | काल निर्णय के प्रष्ट -300 से 307 ; वर्ष क्रिया कौमुदी 77 -81 ;तिथितत्व के प्रष्ट -133 ;समय मयूख प्रष्ट 104 से 116 ; स्मृति कौस्तुम प्रष्ट -270 -271 के अलावा विष्णु धर्म सूत्र ,कृत्यरत्नाकर , प्रष्ट -430 -431 ; काल विवेक -प्रष्ट -346 -347 ;और हेमाद्री के काल खंड के प्रष्ट -640 पर पौर्णमासी कृत्यों का विशेष उल्लेख है |

साल की अनेक पूर्णिमाओं में शरद पूर्णिमा का अलग ही महत्त्व है | वर्षा ऋतू के बाद जाड़े की शुरुआत में शरद की ऋतू की इस पूर्णिमा के दिन चाँद से अमृत बरसता है | इस दिन दूध और चावल की खीर बनाकर चाँद की किरणों के नीचे रख दी जाती है और समझा जाता है की ओस की बूंदों के साथ चाँद से बरसा हुआ अमृत खीर में आ जायेगा | और इसे खाने से आयु बढ़ेगी | इस खीर को खाने से अस्थमा दूर होता है | खीर का सबसे अच्छा प्रभाव रात में चंद्रमा के अस्त होने पर 24 मिनट के अन्दर रहता है | सुबह भी खीर में असर तो रहता है लेकिन समय से खीर खाने से गजब का फायदा होता है |

भारत के अलावा विश्व के अनेक हिस्सों में शरद पूर्णिमा के साथ परम्परायें जुडी होने के तथ्य प्राप्त होते हैं | चाहे -पूर्वी चीन -कोरिया और जापान के बौद्धों की जेन शाखा हो या इटली के तांत्रिक विश्वासों का वैम्पायर सम्प्रदाय या अफ्रीका के आदिवासी कबीले -सभी जगह शरद पूर्णिमा से जुडी परम्परायें मिल जाती हैं |


मां लक्ष्मी को मनाने का मंत्र

ऊं श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद श्रीं ह्रीं श्रीं महालक्ष्म्यै नमः

कुबेर को मनाने का मंत्र :-

ऊं यक्षाय कुबेराय वैश्रवणाय धन धान्याधिपतये |
धन धान्य समृद्धिं मे देहि दापय स्वाहा | |

 


शरद पूर्णिमा का एक और महत्वपूर्ण कृत्य है

लक्ष्मी कुबेर की पूजा ,श्रीयंत्र और कुबेर यंत्र की सिद्धि और एक ही रात की पूजा में साल भर के लिये लक्ष्मी और कुबेर को मना लेने का सुन्दर अवसर प्राप्त होता है | इसके अलावा मनोबल की वृद्धि ,बेहतर स्मरण शक्ति ,अस्थमा रोग से छुटकारा , ग्रह बाधा से निवारण ,घर से दारिद्र्य के निष्कासन इत्यादि की क्रियायें की जा सकती हैं |

ये सब करने का मुहूर्त कब है ?

इसका सम्बन्ध चंद्रोदय -चंद्रास्त और गुरु के गोचर नक्षत्र के आठवें नक्षत्र में चंद्रमा के प्रवेश करने से है | रात में उसी समय खीर बनाना और सुबह चंद्रास्त के बाद जल्दी से जल्दी खा लेना चाहिये | पूजा इत्यादि भी इसी बीच करना चाहिये | हम आपको अलग -अलग शहरों के हिसाब से ये समय बताये देते हैं ताकि आप सही वक्त पर काम को अंजाम दे सकें -  

चंद्रोदय और चंद्रास्त का समय

  चंद्रोदय  चंद्रास्त 
    दिल्ली 17:18   05:31            
    मुंबई 17:45    05:44
    चंडीगढ़ 17:19   05:35
    भोपाल 17:22    05:26
    लखनऊ 17:06  05:16
कोलकाता   16:38     04:41
अहमदाबाद     17:42   05:47

इस शरद पूर्णिमा पर सूर्य - शनि का द्विग्रही संयोग

इस संयोग पर लक्ष्मी पूजन से धन - संपत्ति की प्राप्ति | इस साल पूर्णिमा पर ये योग होने से दीपावली के कारोबार में रौनक बढ़ेगी | इस रात्रि में लक्ष्मी पूजन के साथ श्रीयंत्र, कुबेर यंत्र की सिद्धि की जा सकती है | शरद पूर्णिमा को कोजागरी पूर्णिमा भी कहते हैं |

शरद पूर्णिमा पर द्विग्रही योग में लक्ष्मी पूजन का विशेष महत्त्व है | महालक्ष्मी पूजन एवं स्रोत पाठ से धन धान्य की प्राप्ति की जा सकती है | रात में लक्ष्मी पूजन करें | श्री सूक्त एवं लक्ष्मी सूक्त के साथ विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ करने वाले पर लक्ष्मी जी की विशेष कृपा होती है |

आचार्य जी - और अब मै आपको बताता हूँ कि इस शरद पूर्णिमा पर किस राशि के लोग क्या करें कि उन्हें खास फायदा हो |
मेष राशि :- बहन को कुछ गिफ्ट करें, २१ नीम की पत्तियाँ अपने घर में लाकर रखें और अगले दिन खीर खाने के बाद नदी में विसर्जित कर दें | खीर खाने के बाद गर्म पानी से स्नान करें | 
वृष राशि :- शिव जी के मन्दिर में दूध और गुड़ चढ़ाएं, इर्ष्या भाव से दूर रहें और सोने की कोई चीज पहने | 
मिथुन राशि :- छोटे बच्चों को कुछ दान करें, गंगा जल घर में रखें और चांदी पहने |
कर्क राशि :- बड़े भाई की पत्नी का आशीर्वाद लें | आज तीन काले कुत्तों को रोटी खिलायें | 
सिंह राशि :- घर में पूजा की जगह न बदलें | नंगे पैर किसी धर्म स्थान पर जायें |
कन्या राशि :- आज शाम उत्तर दिशा में एक मोमबत्ती जलाइये | हनुमान जी के मन्दिर में बेसन का लड्डू चढ़ाएं | 
तुला राशि :- आज किसी मजदूर को खाना खिलायें | नारियल नदी में प्रवाहित करें |
वृश्चिक राशि : आज शहद लाकर अपने कमरे के उत्तर के कोने में रखिये | पक्षियों को सतनजा ( सात अनाज डालें ) |
धनु राशि :- पूर्णिमा के दिन सूर्य की रोशनी सर पर न पड़ने दें, टोपी या पगड़ी लगायें | बन्दर को गेहूं खिलाएं |
मकर राशि :- बहन से झगड़ा ना करें | नारियल का तेल दान करें |
कुम्भ राशि :- दाहिने हाथ में लाल धागा पहने | दामाद को कुछ दान करें |
मीन राशि :- रात को खाना पकाने के बाद चूल्हे में दूध के छींटे मारे मिटटी के बर्तन में शहद भरकर वीराने में रख दें |


आज के दिन क्या खास है......

दीवाली से ठीक पंद्रह दिन पहले आज की रात सभी के लिए कुछ न कुछ लेकर आएगी ..... मैं आपको कुछ बतादूँ कि शरद पूर्णिमा की रात खीर बनाकर उसे चांद की रोशनी में रखकर खाने से अस्थमा दूर होता है...और चांद की रोशनी में सूई में धागा डालने से आँखों की ज्योति तेज होती है ...... इस शरद पूर्णिमा पर सूर्य - शनि का द्विग्रही संयोग होने से यह पूर्णिमा और भी शुभ हो गयी है ..इस संयोग पर लक्ष्मी पूजन से धन - सम्पति की प्राप्ति होती है .... लेकिन सवाल ये उठता है कि कैसे मनाया जाय धन की देवी लक्ष्मी को  .....तो मै आपको बता दूँ महालक्ष्मी को मनाने के लिए आपको कुछ ज्यादा नही करना ... बस मां का यन्त्र और मंत्र बदलेगा की आपकी जिन्दगी ...तो सबसे पहले आपको बताते है लक्ष्मी का यन्त्र ...जिसे आपको आज रात को तैयार करना है .......
ऐंकर- आचार्य जी आज निकलेगा सबसे खुबसूरत ....सबसे अदभुत चांद... तो अब हमारे दर्शको को एक बार प्रमुख शहरों मे आज के चंद्रोदय और चंद्रास्त का समय बता दीजिये ......



Advertise

Your AD Here

Related Articles


Contact Us

Now You can publish your articles with us. if selected it will be publised in our magazines after taking your conformation