ज्योतिषहिंदी

आत्मविश्वास और बल पाने के लिए धारण करें 11 मुखी रुद्राक्ष

Image result for shiv ji and hanuman ji
गयारह मुखी रुद्राक्ष (11 mukhi rudraksha) को भगवान शिव के ग्यारवें अवतार भगवान हनुमान का प्रतिक माना गया है | मान्यता के अनुसार इसमें ग्यारह रुद्रों की शक्ति भी विद्यमान है | ग्यारह मुखी रुद्राक्ष को उसपे बनी ग्यारह धारियों से पहचान सकते हैं | भगवान शिव जी का आशीर्वाद पाने के लिए भी यह रुद्राक्ष काफी लाभदायक है

ग्यारह मुखी रुद्राक्ष (11 mukhi rudraksha) धारण करने के लाभ :-

– यह रुद्राक्ष धारण करने से धारक में आत्मविश्वास, बौद्धिक क्षमता, शारीरिक बल की वृद्धि होती है।
– इसे धारण करने से व्यक्ति के अंदर नेतृत्व (leadership) के गुणों का विकास होता है और घर के सभी कार्यों में सफलता मिलती है |
– यह रुद्राक्ष हृदय रोग, शुगर, हाई ब्लैड प्रेशर, पेट संबंधी परेशानियां या अम्ल-पित्त की समस्या, साथ ही लिवर, सिरदर्द, चक्कर आना, कमजोर याद्दाश्त जैसी शारीरक समस्याओं से भी धारक को निजाद दिलाता है |
– यह धारक को अचानक होने वाली मृत्यु और किसी दुर्घटना के भय से बचाव करता है |

ग्यारह मुखी रुद्राक्ष (11 mukhi rudraksha) धारण करने की विधि :-

सोमवार यानि शिव जी का दिन और मंगलवार यानि हनुमान जी दिन दोनों ही ग्यारह मुखी रुद्राक्ष (11 mukhi rudraksha) को धारण करने के लिए शुभ मने जाते है | धारण करने से पहले रुद्राक्ष को गंगाजल से स्नान करा कर शुद्ध करे और फिर इसकी पूजा करें | साथ ही थोड़ा-सा चंदन लगाएं और सफेद फूल चढ़ा कर शिव जी की मूर्ति, तस्वीर या शिवलिंग से रुद्राक्ष को स्पर्श करायें |
उसके बाद पंचाक्षरी मंत्र का 11 बार जप करें।

ऊँ नमः शिवाय ।

अगर आप ग्यारह मुखी रुद्राक्ष प्राप्त करना चाहते हैं तो आप Astro E Shop वेबसाइट पर जा कर इसे प्राप्त कर सकते हैं | इस वेबसाइट पर सही नक्षत्रों में बने रुद्राक्ष, यंत्र और रत्न मिलते हैं |
साथ ही अगर आप अपने जीवन में किसी भी समस्या से निजाद पाना चाहते हैं तो आचार्य इंदु प्रकाश जी से मिल कर आप अपने परेशानियों से मुक्ति पा सकते हैं |

Leave a Response