ज्योतिषहिंदी

शिक्षा और एकाग्रता बढ़ाता है 4 मुखी रुद्राक्ष

भगवान शिव कल्याण करने वाले देवता हैं | माना जाता है की भगवान शिव को खुश करना ज़्यादा मुश्किल भी नहीं है, शिव जी बहुत भोले हैं और यह उन देवताओं में से हैं जो भक्तों से जल्दी प्रसन्न हो जाते हैं |

4_mukhi_rudraksha

भगवान शिव हमेशा से चाहते रहे हैं की उनके भक्तों का कल्याण ज़रूर हो, इसी वजह से उन्होंने अपने आंसुओं से रुद्राक्ष (4 mukhi Rudraksha) को उत्पन्न किया जिससे उनके भक्तों अपनी समस्याएँ दूर कर सकें |

इसीलिए आज हम बात करेंगे 4 मुखी रुद्राक्ष (4 mukhi Rudraksha) की | यह 4 मुखी रुद्राक्ष ब्रह्मा जी का स्वरूप माना जाता है | क्योंकि ब्रह्मा जी सभी वेदों के ज्ञाता हैं इसीलिए यह रुद्राक्ष धारक के जीवन में शिक्षा प्राप्ति के मार्ग खोल देता है |

यह रुद्राक्ष (4 mukhi Rudraksha) धारक को कईं लाभ देता है | तो आईये जानते हैं 4 मुखी रुद्राक्ष के लाभ |

– शिक्षा में कमज़ोर बच्चों को चार मुखी रुद्राक्ष से लाभ मिलता है |

– यह एकाग्रता बढ़ाने में काफी मदद करता है |

– संतान प्राप्ति में यह रुद्राक्ष लाभ दायक है |

– इसे धारण करने से पेट की समस्याओं, शरीर में दर्द, मस्तिष्क में विकार, चरम रोग, डीएमए रोग जैसी समस्याओं से निजाद मिलती है |

अब बात करते हैं 4 मुखी रुद्राक्ष (4 mukhi Rudraksha) को धारण करने की विधि की | रुद्राक्ष का सीधे तौर पर शिव जी से सम्बंध रखता है | इसीलिए हमे रुद्राक्ष सोमवार के दिन धारण करना चाहिए |

– सबसे पहले सोमवार के दिन प्रात: उठ कर स्नान आदि कार्यों से निवृत हो जाएँ |

– फिर मन्दिर में रुद्राक्ष को रख कर उसका पूजन कर सिद्ध करें | इसके पश्चात रुद्राक्ष को किसी शिवलिंग से स्पर्श करा कर धारण करें |

अगर आप रुद्राक्ष (4 mukhi Rudraksha) प्राप्त करना चाहते हैं तो Astro E Shop वेबसाइट पर लॉग ऑन कर प्राप्त कर सकते हैं | यहाँ सही नक्षत्रों में बने रुद्राक्ष, रत्न और यंत्र मिलते है |

अपने जीवन की किसी समस्या का समाधान पाने के लिए आचार्य इंदु प्रकाश जी (Acharya Indu Prakash Ji) से परामर्श हेतु 9971000226 पर सम्पर्क करें |

#Acharyainduprakash #Bhavishyavani #Rudraksha #4mukhirudraksha

Leave a Response