हिंदी

जीवन के सुख-दुख के सहारे के लिए ज्योतिष का बड़ा योगदान है

Related image

ज्योतिषशास्त्र (Astrology) का प्रधान कार्य मानव जीवन को फलादेश कर्म से जोड़े रखना ही है। कर्म के परिपाक को व कर्म के फल को अभिव्यक्ति करना ही ज्योतिष का कार्य है। जिस प्रकार अंधकार में स्थित वस्तुओं का दर्शन दीप के सहारे होता है ठीक उसी तरह ज्योतिष (Astrology) के अनुसार ग्रहों के सहारे कर्म के फल की भी किरणे होती है। ज्योतिषाचार्यों के द्वारा बताया गया है की ग्रहों के आधार पर जगत (विश्व  ब्रह्माण्ड) के शुभ और अशुभ से सम्बंधित हर प्रकार के फल बताये जा सकते हैं । ग्रहों से ही राज्य का निर्माण होता है और ग्रहों के ही द्वारा राज्य का हरण होता है|

जिस प्रकार यात्रा के समय मंत्रियों की सुरक्षा के लिए सुरक्षा कर्मी लगाए जाते हैं, ठीक उसी प्रकार मानव जगत की सुरक्षा के लिए ज्योतिषशास्त्र प्रवीण है, आपदाओं के समय नौका का सहारा मिलता है ठीक उसी प्रकार मानव जीवन के सुख-दुःख को सहारा देने के लिए ज्योतिष शास्त्र का बहुत बड़ा योगदान रहता है क्योंकि ज्योतिषशास्त्र एक सद मार्ग को बतलाता है | और उस मार्ग पर चलने की अनुमति देता है। इस प्रकार ज्योतिषशास्त्र के शब्दों पर ध्यान देने से लगता है की ग्रहों के कारण ही सब कुछ होता है|

मानव जीवन से जुड़े लोग ग्रहों (ज्योतिषशास्त्र) के माध्यम से अपने भूत, भविष्य एवं वर्तमान से जुडी हर प्रकार के सुख और दुःख की समस्याओं की जानकारी विश्व विख्यात श्रेष्ठ ज्ञान पुरुष ज्योतिषाचार्य इन्दु प्रकाश जी द्वारा जान सकते हैं क्योंकि वर्तमान समय में ज्योतिष शास्त्र का लोप होता हुआ दीखाई दे रहा है जो मानव जीवन मे संकटों का कारण बन सकता है।

#Festival #AcharyaInduPrakash #AIP #InduPrakashMishra #Bhavishyavani #IndiaTv #Astrology #BestAstrologer #Astrologer #Jyotish #Luck #kismat #Love

Leave a Response