हिंदी

अनजाने में भी ना करें नई-नई जगहों पर जाकर पूजा

आज के बदलते समाज और बदलती जीवन शैली में लोग अपने रीति-रिवाज, देवी-देवताओं को भूलते जा रहे है जबकि ऐसा नहीं करना चाहिए। आज की युवा पीढ़ी बहुत ही सफल, शिक्षित है। लेकिन कही न कही अज्ञानता के कारण अपने पूर्वजो के द्वारा चलाये गये रीति-रिवाजो को मानने की बजाए उनके विपरीत/विमुख होती जा रही है।
Image result for kul devta
किसी के कहने पर या किसी से सुनने पर उनकी पूजा छोड़कर अन्य किसी की पूजा करना शुरू कर देते है। जबकि किसी के कहने पर या किसी को देखकर अपने देवी-देवताओं की पूजा करना छोड़कर अन्य किसी की पूजा करना एक अपराध के समान है।
सभी को अपने देवी-देवताओं को सम्मान देना चाहिए तथा उनके अपने और अपने परिवार वालो के लिए सुख-समृद्धि का आशीर्वाद लेना चाहिए क्योकि हमारे देवी-देवता हमारे (माता-पिता) के सामान है और जब हमारे माता-पिता हमारे साथ है तो हमे किसी और को देखकर या अन्य किसी के कहने पर अन्य देवी-देवताओं की पूजा नहीं करनी चाहिए। ऐसा करना देवी-देवताओं का अपमान करने के सामान है। ऐसा करने से देवी-देवता नाराज भी हो सकते है। जिसका हमें खामियाजा भी भुगतना पड़ सकता है। ऐसा गलत कार्य करने से हमको, हमारे परिवार को या आने वाली पीढ़ियों को भी कष्टों की प्राप्ति हो सकती है।
Image result for worship hindu
ज्योतिषाचार्य इंदु प्रकाश जी कहते हैं कि जिस प्रकार जीवन भर इंसान के माता पिता एक ही होते है उसी तरह हमारे इष्ट (Kul Devta) भी एक ही होते है। हमें किसी के पीछे नहीं चलना चाहिए क्योकि यह जरुरी नहीं के वो सही विधि-विधान से पूजा कर रहे हो। हमारे बड़े-बुजुर्ग जिन देवी-देवताओं को पूजते आये है हमें उन्हें नहीं छोड़ना चाहिए। साल में जिन रीति-रिवाजों पर जितनी बार भी उनको पूजने का विधान चलता आ रहा हो उसे वैसे ही करना चाहिए ना की उनको छोड़ना चाहिए। उनको छोड़ने से बृहस्पति खराब हो जाते है जिससे एक विपरीत चक्र चालू हो जाता है और अपने भाग्य को चोट मिलने लगती है। इसलिए जो भी खानदानी चलता आया हो उसे नहीं छोड़ना चाहिए। देखा-देखी में किसी नई जगह पर पूजा पाठ नहीं करनी चाहिए। सिर्फ अपने भाग्य के साथ संबंध रखने वाले धन भाग, दिमाग वाला घर, 5वे घर के साथ सम्बन्ध रखने वाले जो भी ग्रह हो जिंदगी में रोजाना उनकी पूजा करें ।
ऐसा करने से आपका भाग्य उदय होगा। अपना सर सभी धर्मों के देवी-देवताओं के आगे झुकाएँ । कभी किसी की निंदा ना करे और पूजा-पाठ सिर्फ अपने देवी-देवताओं (Kul Devta) का ही पूरे विधि-विधानों के साथ करे। यदि आप जीवन से जुडी किसी भी अन्य समस्या का  निदान चाहते हैं या तो विश्व विख्यात ज्योतिषाचार्य इंदु प्रकाश जी से जुड़ कर अपनी समस्या का निदान प्राप्त कर सकते हैं।

#Worship #Luck #Problems #AcharyaInduPrakash #BestAstrologersInIndia #BestVastuConsultantInGurgaon #IndiaTvAstrologer #KulDevta

Leave a Response