त्योहारहिंदी

हनुमान जयंती में किये जाने वाले उपाय

धर्म ग्रंथों के अनुसार हनुमान जंयती (Hanuman Jayanti) को भगवान हनुमान के जन्‍म के उपलक्ष्‍य में चैत्र मास के पू्र्णिमा को मनाया जाता है। हनुमान जी की पूजा सभी हिंदुओं के द्वारा की जाती है और कई मंदिर भी हनुमान जी को समर्पित होते हैं। जिन मंदिरों में भगवान राम की पूजा होती है वहां भी हनुमान जी की पूजा की जाती है।
भगवान हनुमान के जन्‍म का रहस्‍य लोक पंरपराओं के अनुसार, हनुमान जी के पास कई असीम शक्तियां थी, जिनके कारण वह बुरी शक्तियों और आत्‍माओं को दूर भगा देते थे। उनके जन्‍मदिवस के अवसर पर भी नकारात्‍मक ऊर्जा और बुरी शक्तियों से छुटकारा पाने के लिए पूजा की जाती है।

आइए जानते हैं हनुमान जयंती (Hanuman Jayanti) के महत्‍व और किंवदंतियों के बारे में –

माना जाता है कि भगवान हनुमान ने एक बार माता सीता को सिंदुर लगाते हुए देखा। उन्‍होंने जिज्ञासावश माता सीता से पूछा कि वह यह लाल रंग अपने माथे पर क्यों लगा रहीं है। इस पर माता सीता ने कहा कि ऐसा करने से भगवान राम की आयु बढ़ेगी। ऐसा सुनकर, भगवान हनुमान गए और उन्‍होंने अपने पूरे बदन पर सिंदुर का लेप कर लिया, ताकि भगवान राम की आयु दीर्घ हो जाए। तब से लेकर आज तक, भगवान हनुमान की पूजा सामग्री में सिंदुर भी चढ़ाया जाता है।

करें इस दिन ये खास उपाय  – 

  1. हनुमान मंदिर में एक सरसों के तेल और एक शुद्ध घी का दीपक जलाएं और हनुमान जी का पाठ करें।
  2. पैसों की तंगी से जूझ रहे हैं तो हनुमान जयंती (Hanuman Jayanti) के दिन पीपल के 11 पत्ते पर श्रीराम का नाम लिख कर जल प्रवाह करें।
  3. हनुमान जी को विशेष पान का बीड़ा चढ़ाएं। इसमें सभी मुलायम चीजें डलवाएं, जैसे खोपरा बूरा, गुलकंद, बादाम कतरी आदि और सुन्दर काण्ड का पाठ करें।
आप इस लेख से जुड़ी अधिक जानकारी चाहते हैं या आप अपने जीवन से जुड़ी किसी भी समस्या से वंचित या परेशान हैं तो आप लिंक astroeshop पर क्लिक या विश्व विख्यात ज्योतिषाचार्य इन्दु प्रकाश जी द्वारा जानकारि प्राप्त कर समस्या का सामाधान प्राप्त कर सकते हैं। 

Leave a Response