ज्योतिषहिंदी

कैसे लगाया जा सकता है व्यक्ति की योग्यताओं का अनुमान

Image result for जन्मकुंडली सूर्य
सम्पूर्ण विश्व में प्रसिद्ध भारतीय अखंड ज्योतिषशास्त्र के द्वारा जातक की जन्मकुंडली को देखकर उसकी योग्यता का अनुमान आसानी से लगा सकते हैं और ज्योतिषशास्त्र में सर्वप्रथम किया जाने वाला सर्वाधिक आवश्यक कार्य होता है। वर्तमान समय के इस भौतिक वातावरण को देखते हुये व्यक्ति के करियर में श्रेष्ठतम सफलता का मूलभूत श्रोत है। क्योंकि यही सफलताजातक की सामाजिक प्रतिष्ठा का पैमाना होता है।
ज्योतिषाचार्य इन्दु प्रकाश जी कहते हैं कि ज्योतिषशास्त्र के अनुसार व्यक्ति की जन्मकुंडली में बैठे ग्रह व्यक्ति के योग्यताओं को प्रभावित करता है। जैसेसूर्य की उत्तम स्थिति राज मान व उच्चतम सफलता का पैमाना होता है जबकि मंगल ग्रह का अच्छा होना व्यक्ति की व्यवहारिकता, कार्य शक्ति व दक्षता का पैमाना दर्शाती है। बुध की श्रेष्ठतम स्थिति विभिन्न व्यवसायों को कुशलतापूर्वक अपनाये जाने की योग्यता को उजागर करती है। जन्मकुंडली में देवगुरु की स्थिति कार्य क्षेत्र में विस्तार गति को तय करती है। रंक से राजा बनाने वाले में नैतिकता ग्रह शनि की उत्तम स्थिति जातक की योजना बनाने की योग्यता तथा करियर में स्थिरता का संकेत देती है तथा कुंडली में बैठे ग्रहों की स्थिति के अतिरिक्त कर्म क्षेत्र व कर्म क्षेत्र के स्वामी व उस भाव में स्थित ग्रह की भूमिका भी अत्यंत महत्वपूर्ण होती है।
यदि आप भी अनेकों समस्याओं से घिरे हैं या आपके बनते-बनते काम बिगड़ जाते है तो आप अपनी हर समस्या के समाधान के लिये विश्व विख्यात ज्योतिषाचार्य इन्दु प्रकाश जी (best astrologer in gurgaon) से संपर्क कर या निचे दिये गये लिंक पर क्लिक कर अपनी हर समस्या का समाधान प्राप्त कर सकते हैंl जो की आपके जीवन को सुखों से प्रभावित कर आनंदित कर देंगे |

1 Comment

Leave a Response