आध्यात्मिकहिंदी

माँ कात्यायनी

काफी समय पहले जब राक्षसराज महिषासुर का अत्याचार बढने लगा, तब देवताओं के कार्य को पूरा करने के लिए देवी मां ने महर्षि कात्यान के तपस्या से प्रसन्न होकर उनके घर एक पुत्री के रूप में जन्म लिया।

यदि कोई पूरी श्रद्धा भाव से नवरात्री के छठे दिन माता कात्यायनी की पूजा करते हैं तो उन्हें आज्ञा चक्र की प्राप्ति होती है। इससे उनके सारे रोग, शोक, दुःख, क्लेह, भय हमेशा के लिए खत्म हो जाते हैं। ऐसा माना जाता है की भगवन श्री कृष्ण को पति के रूप में पाने के लिए रुक्मिणी ने कात्यायनी माता की ही पूजा की थी| माता की पूजा करने से बड़ी आसानी से ही आपके धर्म, कर्म और मोक्ष की प्राप्ति हो जाती है|

माता कात्यायनी का ग्रह है ब्रहस्पति | लाल गुलाब का फूल मां कात्यायनी को बहुत पसंद है और बृहस्पति ग्रह पर इनका आधिपत्य है | इसलिए बृहस्पति से संबंधित कष्टों जैसे सही औधा ना मिलना और समृधि की कमी से मुक्ति पाने के लिए मां कात्यायनी की पूजा करनी चाहिए |ब्रहस्पति यंत्र पहनना भी इस परिस्तिथि में मदद मिलती है |

माँ कात्यायनी का पूजन करते समय इस मंत्र का जाप जरूर करें |

चन्द्रहासोज्वलकरा शार्दूलवरवाहना।

कात्यायनी शुभं दघाद्देवी दानवघातिनी।।

ब्रहस्पति यंत्र पाने के लिए आप AstroEshop website पर जा सकते हैं | उस वेबसाइट पर आपको अच्छी गुणवत्ता और सही नक्षत्रों में बना यंत्र मिलेगा| ब्रहस्पति यंत्र धारण करने से आपको समृधि अवश्य मिलेगी | इसके आलावा Diabetes के मरीजों को भी ब्रहस्पति यंत्र से लाभ होगा |

आप आचार्य जी से सलाह ले कर गुरु यंत्र इस दिन धारण करें | आचार्य जी से सम्पर्क करने के लिए कॉल करें  9971000226

#BrahsaptiYantra #Punarvasu #Vishakha #Poorvabhadrapada #yantra #katyayani #katyayaniDevi #lifePartner #AcharyaInduPrakash #AIP #InduPrakashMishra #Bhavishyavani #IndiaTv #Astrology #BestAstrologer #Astrologer #Jyotish #Luck #Brahsapti #Love #AstroEshop

Leave a Response