आध्यात्मिक

धनतेरस और उस दिन किये जा सकने वाले राशि अनुसार उपाय

आयोग्य हेतु धन्वंतरि मंत्र-

ऊं नमो भगवते महासुदर्शनाय वायुदेवाय धन्वंतरायेः ।

अमृतकलश हस्ताय सर्व भयविनाशाय सर्व रोगनिवारणाय ।।

त्रिलोकपथाय सर्व रोगनिवारणाय श्री महाविष्णुस्वरुप ।

श्री धनवंतरी स्वरुप श्री श्री औषधचक्र नारायणाय नमः ।।

कार्तिक कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि को धनतेरस का त्योहार मनाया जाता है । इसी दिन आयुर्वेद के गुरु कहे जाने वाले भगवान धन्वन्तरि प्रकट हुए थे । धनतेरस पूजा के लिए सबसे उपयुक्त समय प्रदोष काल को माना जाता है। लक्ष्मी के आवाहन से पहले आरोग्य की प्राप्ति और यम को प्रसन्न करने के लिए कर्मों का शुद्धिकरण करना अति आवश्यक है, इसलिए यह त्यौहार मनाया जाता है। इस दिन भगवान धन्वन्तरि को प्रसन्न करने के लिए घर में नए बर्तन जरूर लाने चाहिये। ऐसी मान्यता है कि जब भगवान धन्वन्तरि पैदा हुए थे तो उनके हाथों में कलश था । वेदों में धन्वन्तरि से धन की कामना करने को लेकर एक मंत्र बताया गया है । इस मंत्र का जाप करने से धन संपदा से जुड़ी दिक्कतों का अंत होता है-

ऊं भूरिदा भूरि देहिना, या दभ्रं भूर्या भर, भूरिरेदिन्द्र दित्ससि ।। ऊं भूरिदा व्यसि श्रुतः पुरुत्रा शूर वृत्रहन, आ नो भजस्व राधसि ।। 

ऋग्वेद  (4/32/20-21) अथात् हे लक्ष्मीपति आप दानी हैं, साधारण दानदाता ही नहीं बहुत बड़े दानी हैं । आप्तजनों से सुना है कि संसार भर से निराश होकर जो याचक आपसे प्रार्थना करता है, उसकी पुकार सुनकर आप उसे आर्थिक कष्टों से मुक्त कर देते हैं, उसकी झोली भर देते हैं । हे भगवान! मुझे अर्थ संकट से मुक्ति दो ।

धनतेरस के उपाय-

  • इस दिन घर के बाहर चंदन या सिंदूर से स्वास्तिक का निशान बनाना चाहिये । इससे माता लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होती है ।
  • इस दिन धन्वन्तरि की पूजा विधि-विधान पूर्वक करनी चाहिये ।
  • अपनी क्षमता के अनुसार तांबे, पीतल, चांदी के घर में उपयोगहोने वाले बर्तन लाने चाहिए ।
  • धनतेरस की शाम को किसी मिट्टी या तांबे के पात्र में तिल के तेल से दीप प्रज्वलित करें ।
  • एक बर्तन में कुछ फूल डालकर उसे मुख्य द्वार के पास उत्तर या पूर्व दिशा में रखना चाहिये । इससे परिवार के मुखिया के ऐश्वर्य में वृद्धि होती हैढ

 

धनतेरस को मनाया जाता है राष्ट्रीय आयुर्वेदिक दिवस

आयुर्वेदिक चिकित्सा के क्षेत्र में भारत का नाम प्राचीन समय से ही रहा है । अपने देश में आयुर्वेदिक पद्धति को और बढ़ावा देने के लिए भारत सरकार के आयुष मंत्रालय ने सन् 2016 में एक बड़ी पहल की । इसके तहत हर वर्ष पड़ने वाली धन्वन्तरि जयंती के दिन राष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस मनाने का निर्णय लिया गया । आयुर्वेद के शाब्दिक अर्थ को देखें तो इसे ”जीवन का ज्ञान“ भी कहा जाता है । आयुर्वेद के उपचारों में सबसे ज्यादा हर्बल का उपयोग किया जाता है । आयुर्वेदिक औषधी बनाने में कुछ खनिज और धातुओं का उपयोग भी किया जाता है । पुराणों के अनुसार भगवान धन्वन्तरि पुराने समय में आयुर्वेदिक औषधियों का इस्तेमाल करके सबका उपचार करते थे । ऐसी भी मान्यता है कि उस समय औषधियों से अमृत निकालने की कला सिर्फ धन्वन्तरि को ही आती थी । जिस समय देवताओं और दैत्यों के बीच अमृत मंथन हुआ था, उस समय धन्वन्तरि महाराज हाथ में कलश लेकर प्रकट हुए और उस समय मंथन से निकलने वाली औषधियों से अमृत निकालने का काम उन्होंने ही किया । गरुड़ पुराण की कथा के अनुसार एक बार नारद जी, भगवान विष्णु के पास गए और कहा कि देव लोक और पृथ्वी पर रहने वाले लोगों के रोगों के निदान के बारे में कोई उचित उपाय बताइयें । तब भगवान विष्णु ने कहा कि इसके लिए मैं समुद्र मंथन के बाद धन्वन्तरि स्वरूप में अवतार लूंगा । इसके बाद से ही भगवान धन्वन्तरि को वैद्य कहा जाने लगा |

धनतेरस पर राशिनुसार उपाय-

मेष राशि- इस राशि वाले को धनतेरस के दिन अपनी तीजोरी में माँ लक्ष्मी की चांदी की मूर्ति रखने से धन-लाभ होगा और व्यपार में वृद्धि होगी।

वृष राशि- इस राशि के जातक धनतेरस के दिन चांदी का सिक्का खरीद कर पूजा करे सुख सौभाग्य की प्राप्ति होगी ।

मिथुन राशि- वालों के लिए धनतेरस नई सौगात लेकर आयेगा । इस दिन चांदी के 5 बर्तन खरीदे घर में मां लक्ष्मी का वास होगा ।

कर्क राशि- कर्क राशि के जातक धनतेरस के दिन धनवन्तरि जी की पूजा करते समय खोये से बनी मिठाई चढ़ायें । आर्थिक समस्या से राहत मिलेगी ।

सिंह राशि- इस राशि के जातक धनतेरस के दिन अपने जीवनसाथी को सोने की कोई भी ज्वलरी उपहार स्वरूप भेट करें । इससे दाम्पत्य संबंध में मधुरता बढ़ेगी ।

कन्या राशि- के जातक जो मैरिज हाॅल के मालिक हैं, वो धनतेरस के दिन भैरो बाबा की प्रतिमा खरीद उनकी पूजा करें, कारोबार में बढ़ोत्तरी होगी ।

तुला राशि- तुला राशि के लवमेट धनतेरस के दिन कोई भी प्रेम का प्रतीक एक दूसरे को उपहार में दने से सम्बंध और भी मजबूत होगा ।

वृश्चिक राशि- वालों धनतेरस के दिन टी.वी. खरीद सकते है । शाम को पूजा में गणेश जी को लड्डू चढ़ाने से आर्थिक पक्ष और मजबूत बनेगा ।

धनु राशि- धनु राशि वाले जातक धनतेरस के दिन चांदी की थाली खरीदे तो कारोबार में तरक्की के नये रास्ते खुलेंगे ।

मकर राशि- मकर राशि वालों धनतेरस के दिन अपनी मां को सोने या चांदी का कोई उपहार दें । घर में सुख-सौभाग्य बना रहेगा ।

कुंभ राशि- इस राशि के जातक धनतेरस के दिन पंचधातु से बने लक्ष्मी गणेश की मूर्ति खरीदे और दीपावली पर उनकी पूजा करें । इससे धन लाभ होगा ।

मीन राशि- मीन राशि वाले जातक धनतेरस के दिन लक्ष्मी-गणेश को सफेद मिठाई चढ़ाये । परिवार में सुख-समृद्धि बनी रहेगी ।

For Consultation With Acharya Indu Prakash Or Appointment With Worlds Best Astrologer Call Us On 9971000226

Leave a Response