हिंदी

मकर संक्रांति का विशेष महत्व क्यों है? जानिए

जब सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है तब मकर संक्रांति का पर्व मनाया जाता है| मकर संक्रान्ति को पंजाब में लोहडी पर्व, उतराखंड में उतरायणी, गुजरात में उत्तरायण, केरल में पोंगल, गढवाल में खिचडी संक्रान्ति के नाम से मनाया जाता है।
इस दिन लोग सूर्य की उपासना करते हैं | सूर्य की उपासना श्वेतार्क तथा रक्त रंग के पुष्प से करें | इस दिन सूर्य की पूजा करने के साथ सूर्य को अर्घ्य ज़रूर दें ।   
और दिनों की तुलना में मकर संक्रांति के दिन किये गए दान का अधिक महत्व है | इस दिन ज़रूर किसी गरीब को अन्नदान या तिल व गुड का दान करना
चाहिए। तिल या फिर तिल से बने लड्डू या फिर तिल के अन्य खाद्ध पदार्थ भी दान करना शुभ रहता है। शास्त्रों के अनुसार धर्म कार्य का फल तभी मिलता है, जब वह पूर्ण आस्था और विश्वास के साथ किया जाय । जितना जितना आप दान कर सकते है उतना हे दान करें ।
मकर संक्रान्ति के दिन साथ काफी सारे पौराणिक तथ्य भी जुड़े हैं जिसमें से कुछ के अनुसार इस दिन भगवान आशुतोष ने भगवान विष्णु जी को आत्मज्ञान का दान दिया था। इसके अतिरिक्त देवताओं के दिनों की गणना इस दिन से ही प्रारम्भ होती है। सूर्य जब दक्षिणायन में रहते है तो उस अवधि को देवताओं की रात्री व उतरायण के छ: माह को दिन कहा जाता है। महाभारत की कथा के अनुसार भीष्म पितामह ने अपनी देह त्यागने के लिये मकर संक्रान्ति का दिन ही चुना था।
Image result for daan on makar sankranti 2019
कहा जाता है कि आज ही के दिन गंगा जी भगीरथ के पीछे-पीछे चलकर कपिल मुनि के आश्रम से होते हुए सागर में जा मिली थी। इसीलिए आज के दिन गंगा स्नान व तीर्थ स्थलों पर स्नान दान का विशेष महत्व माना गया है। साथ ही इसी दिन से मौसम में बदलाव आना शुरू हो जाता है | इस दिन के बाद से ही दिन बड़े और रातें छोटी होनीलगती हैं | सूर्य के प्रकाश में गर्मी और तपन बढ़ने लगती है |
इस दिन देव भी धरती पर अवतरित होते हैं, आत्मा को मोक्ष प्राप्त होता है, अंधकार का नाश व प्रकाश का आगमन होता है. इस दिन पुण्य, दान, जप तथा धार्मिक अनुष्ठानों का महत्व है।
मकर संक्रान्ति के दिन खाद्य पदार्थों  में जी भर कर तिलों का प्रयोग किया जाता है।
 इस दिन भगवान विष्णु ने असुरों का अंत करके युद्ध समाप्ति की घोषणा भी की थी। उन्होंने सभी असुरों के सिरों को मंदार पर्वत में दबा दिया था। इसलिए यह दिन बुराइयों और नकारात्मकता को खत्म करने का दिन भी माना जाता है।
If you are facing any problem in your career, education, marriage, family etc then meet the best astrologer in gurgaon Acharya Indu Prakash and remove all your problems.

Leave a Response