आध्यात्मिकहिंदी

बुधवार को क्यों पूजे जाते हैं श्री गणेश?

Image result for ganeshमान्यता है कि यदि बुधवार के दिन भगवान श्री गणेश की पूजा की जाये तो भगवान गणेश जी का आशीर्वाद अवश्य मिलता है।

प्रत्येक शुभ कार्य में सबसे पहले भगवान गणेशजी की ही पूजा की जानी अनिवार्य बताई गयी है। देवता भी अपने कार्यों की बिना किसी विघ्न के पूरा करने के लिए गणेश जी की अर्चना सबसे पहले करते हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि देवगणों ने स्वयं उनकी अग्रपूजा का विधान बनाया है। शास्त्रों में एक बार जिक्र आता है कि भगवान शंकर त्रिपुरासुर का वध करने में जब असफल हुए, तब उन्होंने गंभीरता पूर्वक विचार किया कि आखिर उनके कार्य में विघ्न क्यों पड़ा? तब महादेव को ज्ञात हुआ कि वे गणेशजी की अर्चना किए बगैर त्रिपुरासुर से युद्ध करने चले गए थे। इसके बाद शिवजी ने गणेशजी का पूजन करके उन्हें लड्डुओं का भोग लगाया और दोबारा त्रिपुरासुर पर प्रहार किया, तब उनकी विजय हुई।

हिन्दू शास्त्रों के एक कथा के अनुसार चूंकि भगवान श्री गणेश का शरीर विशालकाय और मुंह की जगह हाथी का मुख लगा हुआ था तो कोई कन्या श्री गणेश से विवाह को तैयार नहीं हो रही थी। इस पर भगवान गणेश जी बहुत ही गुस्सा हो गये और अपने वाहन मूषक को समस्त देवी-देवताओं के विवाह में विघ्न डालने को कहा। सारे देवता परेशान हो गये किसी का विवाह ठीक ठाक से संपन्न नहीं हो रहा था। कभी मंडप जमींदोज हो जाते कभी बारात को आगे प्रस्थान करने के लिये रास्ता ही नहीं बचता। तंग आये देवताओं ने भगवान ब्रह्मा से कोई उपाय करने की गुहार लगाई तब ब्रह्मा जी ने दो कन्याओं ऋद्धि और सिद्धी की रचना की और भगवान गणेश से उनका विवाह करवाया।

गणेश भगवान की पूजा विधि

प्रातः काल स्नान ध्यान आदि से शुद्ध होकर सर्व प्रथम ताम्र पत्र के श्री गणेश यन्त्र को साफ़ मिट्टी, नमक, निम्बू  से अच्छे से साफ़ किया जाए।  पूजा स्थल पर पूर्व या उत्तर दिशा की ओर मुख कर के आसान पर विराजमान हो कर सामने श्री गणेश यन्त्र की स्थापना करें।

शुद्ध आसन में बैठकर सभी पूजन सामग्री को एकत्रित कर पुष्प, धूप, दीप, कपूर, रोली, लाल मोली, चंदन, मोदक आदि गणेश भगवान को समर्पित कर, भगवान गणेश जी की आरती करे।

अंत में भगवान गणेश जी का स्मरण कर ॐ गं गणपतये नमः का 108 बार मंत्र का जाप करना चाहिए।

ग्रह दोष और शत्रुओं से बचाव के लिए-

गणपूज्यो वक्रतुण्ड एकदंष्ट्री त्रियम्बक:।

नीलग्रीवो लम्बोदरो विकटो विघ्रराजक:।।

धूम्रवर्णों भालचन्द्रो दशमस्तु विनायक:।।

गणपर्तिहस्तिमुखो द्वादशारे यजेद्गणम्।।

इन मंत्रो का जाप अगर मंदिर में गणेश जी की प्रतिमा के सामने किया जाए तो गणेश जी प्रसन्न होते है अगर आप के घर के आस पास कोई मंदिर नहीं है तो घर में ही गणेश जी की प्रतिमा के सामने आप इन मंत्रो का जाप कर सकते है ।

बुधवार के दिन करे ये काम

Image result for ganesh

– बुधवार के दिन घर में सफेद रंग के गणपति की स्थापना करने से समस्त प्रकार की तंत्र शक्ति का नाश होता है।

– धन प्राप्ति के लिए बुधवार के दिन श्री गणेश को घी और गुड़ का भोग लगाएं। थोड़ी देर बाद घी व गुड़ गाय को खिला दें। ये उपाय करने से धन संबंधी समस्या का निदान हो जाता है |

– घर के मुख्य दरवाजे पर गणेशजी की प्रतिमा लगाने से घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है। कोई भी नकारात्मक शक्ति घर में प्रवेश नहीं कर पाती है।

If you are facing problems in your carrier, married life, child problem or any other issue related to your life concern with Acharya Indu Prakash “Worlds Best Astrologer”.

For More Details or Information Call – 9971-000-226.

To know more about yourself. watch ‘Bhavishyavani’ show.

1 Comment

Leave a Response