Rahukaal Today/ 17 March 2017 (Delhi)-23 March 2017

  • Mon
  • Tue
  • Wed
  • Thu
  • Fri
  • Sat
  • Sun
Rahukaal Today
7:53:22 - 9:24:45

8:31:22 - 9:51:45
Rahukaal Today
15:30:45 - 17:02:22

7:14:52 - 8:58:45
Rahukaal Today
12:27:30 - 13:59:22

12:19:30 - 13:57:22
Rahukaal Today
13:59:00 - 15:31:00

13:57:37 - 15:35:45
Rahukaal Today
10:58:15 - 12:29:00

10:42:30 - 12:15:00
Rahukaal Today
9:26:45 - 10:57:37

9:10:30 - 10:42:45
Rahukaal Today
17:01:52 - 18:33:00

16:50:00 - 18:22:00
There are no translations available.

देवी कात्यायनी देवी

katyayani

जिन कन्याओ के विवाह मे विलम्ब हो रहा हो, उन्हे इस दिन माँ कात्यायनी की उपासना अवश्य करनी चाहिए,जिससे उन्हे मनोवान्छित वर की प्राप्ति होती है।

विवाह के लिये कात्यायनी मन्त्र—

ॐ कात्यायनी महामाये महायोगिन्यधीश्वरि ! नंदगोपसुतम् देवि पतिम् मे कुरुते नम:।

माँ दुर्गा के छठे रूप का नाम कात्यायनी है। एक समय कि बात है , एक  कत नाम के प्रसिद्ध ऋषि थे। उनके पुत्र ऋषि कात्य हुए, उन्हीं के नाम से प्रसिद्ध कात्य गोत्र से, विश्वप्रसिद्ध ऋषि कात्यायन उत्पन्न हुए। उन्होंने भगवती पराम्बरा की उपासना करते हुए कठिन तपस्या की। उनकी इच्छा थी कि भगवती उनके घर में पुत्री के रूप में जन्म लें। माता ने उनकी यह प्रार्थना स्वीकार कर ली। कुछ समय के पश्चात जब महिषासुर नामक राक्षस का अत्याचार बहुत बढ़ गया था, तब उसका विनाश करने के लिए ब्रह्माविष्णुऔर महेश ने अपने अपने तेज़ और प्रताप का अंश देकर देवी को उत्पन्न किया था। महर्षि कात्यायन ने इनकी पूजा की इसी कारण से यह देवी कात्यायनी कहलायीं। अश्विन कृष्ण चतुर्दशी को जन्म लेने के बाद शुक्ल सप्तमीअष्टमी और नवमी, तीन दिनों तक कात्यायन ऋषि ने इनकी पूजा की, पूजा ग्रहण कर दशमी को इस देवी ने महिषासुर का वध किया। इन का स्वरूप अत्यन्त ही दिव्य है। इनका वर्ण स्वर्ण के समान चमकीला है। इनकी चार भुजायें हैं, इनका दाहिना ऊपर का हाथ अभय मुद्रा में है, नीचे का हाथ वरदमुद्रा में है। बांये ऊपर वाले हाथ में तलवार और निचले हाथ में कमल का फूल है और इनका वाहन सिंह है। आज के दिन साधक का मन आज्ञाचक्र में स्थित होता है। योगसाधना में आज्ञाचक्र का महत्त्वपूर्ण स्थान है। इस चक्र में स्थित साधक कात्यायनी के चरणों में अपना सर्वस्व अर्पित कर देता है। पूर्ण आत्मदान करने से साधक को सहजरूप से माँ के दर्शन हो जाते हैं |इस देवी की उपासना करने से परम पद की प्राप्ति होती है। इसलिए कहा जाता है कि इनकी उपासना और आराधना से भक्तों को बड़ी आसानी से अर्थ, धर्म, काम और मोक्ष चारों फलों की प्राप्ति होती है। उसके रोग, शोक, संताप और भय नष्ट हो जाते हैं। जन्मों के समस्त पाप भी नष्ट हो जाते हैं।

 


माँ कात्यायनी को दुर्गा की छठी शक्ति का रूप माना जाता है | नवरात्र के छठे दिन कात्यायनी के इस अद्दभुत स्वरुप की पूजा की जाती है | माँ कात्यायनी मन की शक्ति की देवी है इनकी उपासना से सभी इन्द्रियों को वश में किया जा सकता है सभी पापियों का सर्वनाश करने वाली माँ कात्यायनी की महिमा अपरंपार है |
ऐसा कथन है कि कात्यायन ऋषि ने जप कर के पुत्री के रूप में जिस शक्ति की कामना की, उसका भाव यही है कि मेरी सारी इन्द्रियां वश में हो जायें, मेरा आचरण पिता की तरह हो जाये और मन को पुत्री मान कर उसका लालन पोषण करूं अगर मन की पुत्री मान जाये तो सारी बुरी शक्तियां अपने आप समाप्त हो जाती हैं .. देवी कात्यायनी की आराधना का मतलब भी यही है, अर्थात माता कात्यायनी की पूजा से मन की आँखें खुल जाती हैं | माँ कात्यायनी की पूजा से होती हैं सभी इन्द्रियां वश में |


कात्यायनी देवी के उपाय :-


सफलता पाने के उपाय :-


उपाय :- 1 सफलता पाने के लिए कन्याओं को चने की सब्जी खिलाएं |
उपाय :- 2 सबसे पहले करियर में सफलता के उपाय .. 6 कौड़ियां , लाल सिंदूर दो लौंग , एक टूकड़ा कपूर को एक साथ लाल कपड़े में बांध कर देवी को चढ़ाकर अपने साथ रखें , करियर में सफलता निश्चित मिलेगी  |
उपाय :- 3 रियल स्टेट , कारोबारी , transporters और industrialists के लिए सफलता के उपाय बेहद आसान हैं ...
- रियल - स्टेट के लोग - पत्थर की मूर्ति दान करें
- कारोबारी - साबूत मूंग की दाल दान करें
- ट्रांसपोर्ट्स - नमकीन बादाम दान करें
- उधोगपति - सोने की चेन दान करें
उपाय :- 4 कारोबार में सफलता नहीं मिल रही हो .. मुश्किलें आ रही हों तो ये उपाय जरुर करें .. एक नीला फूल , एक सफेद फूल , एक पीला फूल , एक लाल फूल और एक नारियल देवी मां को नवमी के दिन चढ़ाइए , दशहरे के दिन फूलों को नदी में बहा दीजिए , नारियल को लाल कपड़े में लपेट कर तिजोरी में रखें , कारोबार में सफलता मिलेगी |
उपाय :- 5 पांच टुकड़े फिटकरी 6 नीले फूल और एक कमल में बांधने की बेल्ट आज देवी को चढ़ा दें कल यानि दशमीं को बेल्ट किसी कन्या को दान दें .. नीले फूल बहते पानी में डालें और फिटकरी के टुकड़ों को संभाल कर अपने पास रखें , इन्टरव्यु में जाते वक्त या अपने कारोबार से जुड़े किसी महत्वपूर्ण काम पर जाते वक्त ये फिटकरी के टुकड़े अपने साथ लेजाना न भूलें .. सफलता मिलेगी .
उपाय :- 6 पांच गुडहल के फूल अलग अलग आंटे की 5 लोइयों में दबा कर इन आंटे की लोइयों को आज देवी को चढ़ा दें और कल यानि दशमी के दिन इन्हें सांड को खिला दें .. आप चाहे जिस कारोबार में हों आपको कामयाबी ज़रुर हासिल होगी |
उपाय :- 7 नये कारोबार में कामयाबी पाने का उपाय :
- पांच पान के पत्ते , पांच अलग - अलग मिठाई लें और साथ में पांच फूल , दस कपूर दस लौंग मिलाएं फूलों की पत्तियों और मिठाइयों को मिला लें नवमी के दिन पान के पांचो पत्तों पर मिठाई और फूल रखें फिर नींबू काट दीजिए और ध्यान रहे कि नींबू अलग न होने पाए
नींबू के हर पीस पर एक - एक लौंग और कपूर रखें - और इन्हें जला दें , अगले दिन सुबह ये सब नदी में डाल दें कारोबार में आपको सफलता ज़रुर मिलेगी |
उपाय :- 8 अलग - अलग चीजों का बिज़नेस करने वाले अलग - अलग चीजें दान में दें .. सौंदर्य - प्रसाधन के व्यवसायी - घी और रुई दान करें
लोहे के व्यवसायी - काजू और किशमिश दान करें
कपड़े के व्यवसायी - मीठा शर्बत पिलाएं |

 


राशि

मेष राशि :- इस राशि के जो लोग फैशन डिजाइनिंग में है उनके लिये आने वाला समय बहुत अनुकूल है | अगर जॉब के लिये apply करना चाहते हैं तो कर दीजिये | मेहनत के मुकाबले 63 फीसदी सफलता का योग बन रहा है | पश्चिम दिशा की ओर मुंह करके सफलता प्राप्ति मन्त्र को 51 बार रोज पढ़ें | 
वृष राशि :- इस राशि के जो लोग अपनी किस्मत फ़िल्मी दुनिया में आजमाना चाहते हैं उनके लिये एक सुन्दर समय है | संतान की सफलता का बहुत ही अच्छा योग  है, और संतान की सफलता में ही आपकी सफलता है | 32 बार रोज सफलता प्राप्ति मन्त्र जरुर पढ़ें |
मिथुन राशि :- इस राशि वाले लोगों की कार्य क्षमता पर प्रभाव पड़ेगा | आप अपना energy level काफी कम महसूस करेंगे | रह - रह कर बाधायें आती रहेंगी आपको सतर्क रहते हुये तमाम बाधाओं से मुकाबला करना होगा तभी आपको सफलता मिलेगी | सफलता प्राप्ति मन्त्र रोज 21 बार जरुर पढ़ें |    
कर्क राशि :- कर्क राशि के जो लोग राजनीति के क्षेत्र में है उनके लिये समय अनुकूल नहीं है | जीवन में सफलता पाने के लिये कड़ी मेहनत करनी पड़ेगी | इस महीने अगर अपने काम की प्लानिंग करें तो विशेष सफलता मिलेगी | सफलता प्राप्ति मन्त्र का रोज 11 बार जप जरुर करें |  
सिंह राशि :- इस राशि के जो लोग artist हैं उनको अपनी कला कृतियों के प्रदर्शन का सुनहरा अवसर प्राप्त होगा |  आपको रह - रह कर सफलतायें मिलती रहेंगी | माता की कृपा का प्रसाद आपको लगातार मिलता रहेगा इस प्रसाद को संभाल कर रखेंगे तो अच्छा होगा | सफलता प्राप्ति मन्त्र का पाठ पूर्व की ओर मुंह करके 53 बार रोज करें |
कन्या राशि :- इस राशि के नाट्य कलाकारो को अपनी कला दिखाने का अवसर मिलेगा | आपका कोई बड़ा stage show भी हो सकता है | अप्रैल का महिना आपके लिये खुशियों भरा होगा | मां की विशेष कृपा रहेगी | उत्तर दिशा की ओर मुंह करके 33 बार रोज सफलता प्राप्ति मन्त्र का जप करें |
तुला राशि :- इस राशि वाले मूवी डायरेक्टर को मूवी बनाने में नई script और नये विचार मिलेंगे | धीरे धीरे आपके कदम खुद-ब-खुद सफलता की ओर बढ़ते चले जायेंगे | जीवन के हर क्षेत्र में आपको सफलता मिलने का योग बन रहा है | सफलता प्राप्ति मन्त्र को पश्चिम दिशा की ओर मुंह करके 51 बार रोज पढ़ें |
वृश्चिक राशि :- वृश्चिक राशि के जो लोग लेदर डिजाइनिंग से जुड़े हैं उनको जॉब बदलने का मौका मिलेगा | विदेश से भी बुलावा आ सकता है | अप्रैल महीने की 19, 28 तारीख को छोड़ कर हर दिन अच्छा फल देने वाला होगा | सफलता प्राप्ति मन्त्र को 21 बार रोज पढ़ें | 
धनु राशि :- धनु राशि के चित्रकारों को एक नया और अनोखा विषय जिसे आप काफी दिनो से तलाश रहे थे वो समय आ गया है | माता की कृपा से छोटी - मोटी समस्यायें सुलझ जायेंगी | सफलता प्राप्ति मन्त्र का 11 बार जप ईशान दिशा की ओर मुंह करके रोज करें | 
मकर राशि :- मकर राशि के जो student, fine art के क्षेत्र में जाना चाहते हैं उनके लिये समय अभी ठीक नहीं है | अप्रैल के महीने थोड़ा कठिन है लेकिन समय बदलेगा 16 मई और उसके बाद के महीनो में सफलता का योग है | सफलता प्राप्ति मन्त्र का जप पश्चिम दिशा की ओर मुंह करके 51 बार रोज करें |
कुम्भ राशि :- इस राशि के जो लोग बैंकिंग सेक्टर या furniture designing से जुड़े हैं उनको एक बड़ा agreement मिलने वाला है | जिस काम में भी हाँथ डालेंगे सफलता मिलेगी | निश्चिन्त होकर माता का भजन कीजिये | सफलता प्राप्ति मन्त्र का पाठ 32 बार रोज करें |

मीन राशि :- मीन राशि वाले विद्यार्थियों के लिये ये समय तरह तरह के उतार चढ़ाव से भरा है | आपको confusion से बचना चाहिये | जो लोग राजनीति से जुड़े है उनकी सफलता में थोड़ा वक्त अभी बाकी है | सफलता प्राप्ति मन्त्र का पाठ 21 बार रोज करें |

Share this post

Submit Devi Katyayani in Delicious Submit Devi Katyayani in Digg Submit Devi Katyayani in FaceBook Submit Devi Katyayani in Google Bookmarks Submit Devi Katyayani in Stumbleupon Submit Devi Katyayani in Technorati Submit Devi Katyayani in Twitter