Rahukaal Today/ 18 February 2017 (Delhi)-24 February 2017

  • Mon
  • Tue
  • Wed
  • Thu
  • Fri
  • Sat
  • Sun
Rahukaal Today
8:17:30 - 9:43:00

8:31:22 - 9:51:45
Rahukaal Today
15:25:45 - 16:51:22

7:14:52 - 8:58:45
Rahukaal Today
12:34:00 - 13:59:45

12:19:30 - 13:57:22
Rahukaal Today
14:00:00 - 15:26:00

13:57:37 - 15:35:45
Rahukaal Today
11:07:45 - 12:34:00

10:42:30 - 12:15:00
Rahukaal Today
9:44:15 - 11:09:22

9:10:30 - 10:42:45
Rahukaal Today
16:49:45 - 18:15:00

16:50:00 - 18:22:00
अक्षय तृतीया
There are no translations available.

वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया को अक्षय तृतीया कहते हैं | सत युग की शुरुआत इसी दिन हुई थी | विष्णु धर्म सूत्र के अलावा मत्स्य पुराण और नारदीय संहिता में इसका उल्लेख हुआ है | कहा गया है कि इस दिन भगवान विष्णु की पूजा की जानी चाहिये | अक्षत यानि चावलों से हवन करना चाहिये | इस दिन जो कुछ भी किया जाता है यानि स्नान, दान, जप, अग्नि होम और पितरों को जल तर्पण सभी कुछ अक्षय हो जाता है | इस तिथि में जल - पात्रों, छात्रों एवं जूते - चप्पल दान करने से इनमे कमी नहीं पड़ती | कन्नोज के राजा गोविन्द चन्द्र के 'लार' नामक अभिलेखों से पता चलता है कि संवत 1202 की अक्षय तृतीया यानि  15 अप्रैल  सन 1146 के दिन राजा ने गंगा में स्नान करके श्रीधर ठक्कुर नामक ब्राह्मण को एक ग्राम (गाँव) दान में दिया | इसका उल्लेख एविका इण्डिका के भाग - 7 के पृष्ठ 79 पर भी देखा जा सकता है | इस तिथि के बारे में विस्तार से जानने के लिये स्मृति कौस्तुभ के पृष्ठ - 109 , व्रतराज के पृष्ठ 93 - 96 और हेमाद्रि के व्रतभाग - 1 के पृष्ठ 500 से 512 और काल खंड के पृष्ठ 618 को देखा जा सकता है | कालांतर में इस दिन सोना खरीदने की परम्परा पड़ गई क्योंकि इस दिन ख़रीदा गया सोना अक्षय हो जाता है |

अक्षय तृतीया बड़ा ही ख़ास महत्व है | दक्षिण भारतीय मान्यताओं के अनुसार इस दिन अगर सोमवार और रोहिणी नक्षत्र हो तो अत्यंत शुभ है जबकि उत्तर भारतीय ग्रथों के अनुसार अक्षय तृतीया को कृतिका नक्षत्र अत्यंत शुभ है माजी की बात ये है कि दोनों ही नक्षत्र वृष राशि में है जो चन्द्रमा की उच्च राशि है | ध्यान रहे कि वैशाख मास में सूर्य भी अपनी उच्च राशि में होता है | यानि पूरे साल में यही एक दिन ऐसा होता है जिस दिन सूर्य और चन्द्रमा एक साथ उच्च राशि में होते हैं |


अक्षय तृतीया किसको क्या देगी :-

मेष - धन संपत्ति और यश मिलेगा |

वृष - स्वभाव में मधुरता, नया मकान, नया वाहन मिलेगा |

मिथुन - स्त्री सुख, चैन की नींद मिलेगी |

कर्क - राज्य में उन्नति, यश मिलेगा |

सिंह - किस्मत बुलंद होगी | नौकरी में जल्द बदलाव होगा |

कन्या - भाग्य प्रबल होगा | स्त्री सुख मिलेगा | संतान के विवाह के योग हैं |

तुला - परिवार में नया सदस्य आयेगा | एक्सट्रा मैरीटल रिलेशन बनेंगे |

वृश्चिक - गणेश पूजा से किस्मत चमकेगी | खर्चें बढ़ेंगे | विद्या के क्षेत्र में सफलता मिलेगी |

धनु - संतान से यश मिलेगा | नया वाहन और मकान मिलेगा | व्यापार बढ़ेगा |

मकर - संतान प्राप्त होगी | पदोन्नति होगी |

कुम्भ - माता से सुख मिलेगा | शत्रु नष्ट होंगे | खूब मेहनत से जीवन संवरेगा |

मीन - परिवार में दबदबा बढ़ेगा | सुख के साधन बढ़ेंगे | मन की इच्छा पूरी होगी |


धन प्राप्ति का उपाय :-

चौकी पर सफ़ेद कपड़ा बिछायें |

सवा - सवा किलो की चावल की दो बोरियां बनायें |

बोरियों पर पानी के लोटे रखें |

लोटे में सुपारी डालें |

'ॐ नमो भगवते वासुदेवाय' का 11 बार जाप करें |

बायें हाथ वाला लोटा और दक्षिणा ब्राह्मण को दें |

चावल नारायण के मंदिर में दान करें |

दूसरे लोटे के चावल संभाल कर रखें |

बाधाओं के निवारण का उपाय :-

दो छाते पर 'ॐ नमो भगवते वासुदेवाय' मन्त्र लिखें |

मन्त्र की चार माला पढ़ें |

एक छाता ब्राह्मण को दान दें |

एक छाता अपने पास रखें |

विद्या पाने के लिये उपाय :-

पांच - पांच मुठ्ठी राई के दो ढेर बनायें |

दोनों पर सवा - सवा किलो छाछ रखें |

'ॐ नमो भगवते वासुदेवाय' का जाप करें |

राई का एक ढेर, छाछ ब्राह्मण को दान करें |

राई का दूसरा ढेर, छाछ कृष्ण मंदिर में दान करें |

दुर्घटना से बचाव का उपाय :-

चन्दन के दो टुकड़े लें |

'माधवाय नम:' मन्त्र का 2 माला जाप करें |

चन्दन का एक टुकड़ा ब्राह्मण को दान दें |

चन्दन का दूसरा टुकड़ा अपने पास रखें |

दाम्पत्य प्रेम बढ़ाने का उपाय :-

कुमकुम की दो डिबियां  लें |

'अनन्ताय नम:' का 3 माला का जाप करें |

एक डिब्बी ब्राह्मण को दान दें |

दूसरी डिब्बी का कुमकुम इस्तेमाल करें |

पति को भटकने से रोकने का उपाय :-

काजल की दो डिब्बी लें |

'अच्युताय नम:' का 2 माला का जाप करें |

एक डिब्बी ब्राह्मण को दान दें |

दूसरी डिब्बी का काजल खुद लगायें |

बीमारियों से मुक्ति पाने का उपाय :-

ढाई - ढाई किलो के चावल के दो ढेर बनायें | चावल के ढेर पर चांदी, सुपारी, केसर/हल्दी, दालचीनी, मिश्री रखें |

'अच्युत अनंत गोविन्द नाम उच्चारण भेषजं,

नश्यन्ति सकला रोगा: सत्यं सत्यं वदाम्यहम' का 11 माला का जाप करें |


संतान प्राप्ति के लिये उपाय :-

ताम्बे के लोटे में कपूर, केसर, सुपारी डालें |

'गोपालाय नम:' का 21 माला का मन्त्र पढ़ें |

ताम्बे के लोटे को दक्षिणा सहित ब्राह्मण को दान दें |

कैरियर, बिजनेस में सफलता का उपाय :-

एक बना हुआ पान लें |

पान में सोने और चांदी के टुकड़े रखें |

'ॐ नमो भगवते कृष्णाय वासुदेवाय' का 7 माला का जाप करें |

पान ब्राह्मण को खिलायें, सोना चांदी दान करें |

राशिवार किसे क्या खरीदना चाहिये :-

मेष - सर पर पहनने का आभूषण |

वृष - बाजूबंद |

मिथुन - दोनों कलाइयों के लिये कोई चीज |

कर्क - गले में पहनने के लिये |

सिंह - बायें हाथ के लिये कोई चीज |

कन्या - दाहिने हाथ के लिये कोई चीज |

तुला - अंगूठी |

वृश्चिक - नाक में पहनने का गहना |

धनु - कान में पहनने की कोई वस्तु |

मकर - कंठ हार |

कुम्भ - कमर में धारण करने की कोई वस्तु |

मीन - मस्तक पर पहनने योग्य गहना |


राशिवार - कौन क्या दान करें :-

मेष - छाता

वृष - जूता

मिथुन - पानी का जग

कर्क - पानी का गिलास

सिंह - जूता

कन्या - छाता

तुला - छाता

वृश्चिक - पैर की चप्पल या जूता

धनु - जूता/सैन्डल

मकर - सिंथेटिक चप्पल

कुम्भ - सिंथेटिक जूता

मीन - छाता

Share this post

Submit अक्षय तृतीया in Delicious Submit अक्षय तृतीया in Digg Submit अक्षय तृतीया in FaceBook Submit अक्षय तृतीया in Google Bookmarks Submit अक्षय तृतीया in Stumbleupon Submit अक्षय तृतीया in Technorati Submit अक्षय तृतीया in Twitter