Rahukaal Today/ 17 January 2017 (Delhi)-23 January 2017

  • Mon
  • Tue
  • Wed
  • Thu
  • Fri
  • Sat
  • Sun
Rahukaal Today
8:31:45 - 9:50:30

8:31:22 - 9:51:45
Rahukaal Today
15:10:00 - 16:29:30

7:14:52 - 8:58:45
Rahukaal Today
12:31:00 - 13:50:45

12:19:30 - 13:57:22
Rahukaal Today
13:51:22 - 15:11:15

13:57:37 - 15:35:45
Rahukaal Today
11:12:00 - 12:32:00

10:42:30 - 12:15:00
Rahukaal Today
9:52:15 - 11:12:22

9:10:30 - 10:42:45
Rahukaal Today
16:32:45 - 17:53:00

16:50:00 - 18:22:00
Vasantiya Navraatra
There are no translations available.

Navratri Special 2014

Dim lights Embed Embed this video on your site

Dim lights Embed Embed this video on your site

  Dim lights Embed Embed this video on your site

  Dim lights Embed Embed this video on your site

  Dim lights Embed Embed this video on your site

Dim lights Embed Embed this video on your site

  Dim lights Embed Embed this video on your site

Dim lights Embed Embed this video on your site

शैलपुत्री

आज वासंतिक नवरात्र का पहला दिन है | माता शैलपुत्री का दिन | माता से आप को मिल सकता है भूमि, भवन और वाहन का वरदान | सबसे पहले देखते हैं कि किसकी किस्मत में क्या लिखा है |

 

मेष राशि :- मेष राशि वालों को इस साल माता की कृपा से अच्छी भूमि, अच्छा भवन और अच्छा वाहन पाने का योग अत्यंत प्रबल है |

वृष राशि :- वृष राशि वालों का ये योग थोड़ा कमजोर है लेकिन माता की कृपा से क्या नहीं हो सकता |

मिथुन राशि :- मिथुन राशि वालों को इस साल किसी अस्पताल या स्कूल के पास भूमि, भवन पाने का योग है |

कर्क राशि :- कर्क राशि वाले अगर अपने जीवन साथी के नाम मकान लेना चाहेंगे तो उनकी ये इच्छा जरुर पूरी होगी |

सिंह राशि :- सिंह राशि वालों को इस साल ससुराल की मदद से भूमि, भवन पाने का योग साफ़ दिखाई दे रहा है |

कन्या राशि :- कन्या राशि वालों इस वर्ष संतान के लिये मकान ले सकते हैं | अगर लौटरी में apply करना हो तो अपने साथ संतान का नाम जोड़िये, फायदा होगा |

तुला राशि :- तुला राशि वालों का भूमि, भवन, वाहन योग इस वर्ष अत्यंत प्रबल है | किसी नदी के किनारे मकान ले सकते हैं |

वृश्चिक राशि :- वृश्चिक राशि वाले इस वर्ष कृषि योग्य भूमि, बड़ा फॉर्म हाउस या ऐसा मकान जिसमे कच्ची जमीन शामिल हो जरुर खरीदेंगे |

धनु राशि :- धनु राशि वालों का अचल संपत्ति योग अत्यंत मजबूत है | मकान बनेगा और साल के अंत में नई गाड़ी भी मिलेगी |

मकर राशि :- मकर राशि वाले इस साल अपने सपनो का घर पा जायेंगे | आपको बधाई हो |

कुम्भ राशि :- कुम्भ राशि वाले इस साल अपनी अचल संपत्ति को बेचने का मन बनायेंगे | आगे चल कर नया घर बसेगा |

मीन राशि :- मीन राशि वाले अपने पुराने घर को इस साल रीनोवेट करेंगे या पुराना घर खरीद सकते हैं |

 

सितारे चाहे जो कहें लेकिन माता की कृपा आपकी जिंदगी की कहानी बदल सकती है तो शैल पुत्री से कैसे पायें भूमि, भवन और वाहन | इसके उपायों की चर्चा करते हैं |

भूमि और भवन पाने के उपाय :-

१. अगर आप मकान बनाना चाहते हैं तो एक लाल कपड़े में छ: चुटकी कुमकुम, छ: लौंग, नौ बिंदिया, नौ मुट्ठी साफ़ मिट्टी और छ: कौड़ियाँ लपेट कर नदी में आज ही विसर्जित कर दें | माता की कृपा से आपको जल्द ही अपना मकान मिलेगा |

२. एक मिट्टी की कोरी हांडी में दूध, दही, घी, शक्कर, मिश्री, कपूर और शहद डाल कर उस हांडी के आगे दुर्गा नवार्ण मन्त्र का जप करें और आज ही वो हांडी किसी नदी या तालाब में ले जा कर जमीन में गाड़ दें तो माता की कृपा से शीघ्र आपको भूमि और भवन प्राप्त होगा |

मनचाही जमीन या मकान पाने के लिये :- उस स्थान की थोड़ी सी मिट्टी लाकर एक कांच की शीशी में उसे डालें | उसमे गंगा जल और कपूर डाल कर अपनी पूजा में जौ के ढेर पर स्थापित करें | नवरात्र भर उस शीशी के आगे नवार्ण मन्त्र  ' ऐं हीं क्लीं चामुण्डाय विच्चे ' का पांच माला जप करें और जौ में रोज गंगा जल डालें | नवमी के दिन थोड़े से अंकुरित जौ निकाल लें और ले जाकर मन चाही जगह पे डाल दें | शेष सामग्री को नदी में डाल दें | कृपा कांच की शीशी को नदी में न डालें | आपको मनचाहा घर मिल जायेगा |

मनचाहा वाहन पाने के उपाय :- एक सादा कागज़ आज अपने पूजा स्थल में लगायें | उस सादे कागज़ में अपनी मनचाही गाड़ी की कल्पना करते हुये पांच माला नवार्ण मन्त्र उस कागज़ के सामने बैठकर रोज पढ़ें, जप के अंत में छ: लौंग और एक टुकड़ा कपूर देवी के आगे जला दें | नवमी के दिन वो कागज़ ले जा कर माता के मंदिर में चढ़ा दें | माता की कृपा से आपको मनचाही गाड़ी मिलेगी |

२. बच, कूट, अगर, तगर, छैल, म़ातृलिंगी और सप्तमृतिका को छान कूट कर शहद और घी में घोल लें | भोज पात्र पर अनार की कलम से उस गाड़ी का नाम लिखकर उसके आगे नित्य पांच माला नवार्ण मन्त्र पढ़िये | नवें दिन ये भोज पात्र पांच गुडहल फूलों के साथ माता को अर्पित कर दें | आपको मनचाही गाड़ी जरुर मिलेगी |

 

 


ब्रह्मचारिणी

आज नवरात्र का दूसरा दिन है यानि माँ ब्रह्मचारिणी का | माँ ब्रह्मचारिणी की पूजा का क्या महत्व है ये बतायेंगे आपको आचार्य इन्दुप्रकाश और ये भी कि देवी आपके लिये education और carrier का क्या योग लेकर आयी है |

मेष राशि :- मेष राशि वालों के लिये शुभ समय है | खाश कर कामर्स और होटल मैनेजमेंट के विद्यार्थियों के लिये विशेष शुभ है | माता कि निरंतर स्तुति आपको सफलता का वरदान जरुर देगी | 21 बार रोज विद्या मंत्र जरुर पढ़ें |

वृष राशि :- वृष राशि वालों को संयम से काम लेना होगा खाश तौर से मेडिकल और फाइन आर्ट के विद्यार्थियों को थोडा इंतजार करना चाहिए | और प्रेक्टिश में अपना मन लगाना चाहिये | थोडा सा इंतजार  जरुर करना होगा लेकिन जल्दी सफलता का मीठा स्वाद चखने को मिलेगा माता की कृपा प्राप्त करने के लिये पश्चिम दिशा की ओर मुंह करके विद्या मंत्र को 25 बार रोज पढ़े |

 

मिथुन राशि :- आपको अपनी वर्क efficiency बढ़ानी होगी | आपके ग्रह स्थिति के मद्देनजर कुदरत ने आपका इनर्जी लेवल बढ़ा दिया है | इस एनर्जी लेवल का इस्तेमाल करके आपको मौके का फायदा उठाना चाहिये | विद्या मंत्र रोज 23 बार जरुर पढ़ें |

कर्क राशि :- विद्या के दृष्टि से ये समय संघर्ष पूर्ण लेकिन थोड़ी सी मेहनत बड़ा रास्ता खोज सकती है | रोज 20 बार विद्या मंत्र पढ़ने से विशेष सप्कलाता प्राप्त होगी | जो लोग मेडिकल के क्षेत्र में आगे बढ़ना चाहते है | वो लोग 41 बार विद्या मंत्र का जप करें |

सिंह राशि :- विद्या का सदुपयोग होगा मन के  मुताबिक विद्या पाने के  दरवाजे खुलेंगे | इस राशि के architect और interior decoraters के लिये अच्छा समय है | विद्या मंत्र का पाठ पूर्व दिशा की ओर मुंह करके 24 बार रोज करें |

कन्या राशि :- विद्या प्राप्ति के नये रास्ते खुलेंगे | विद्या के प्रदर्शन का सुनहरा मौका भी मिलेगा | ऊँची उड़ान भरने के लिये तैयार है | उत्तर दिशा की ओर मुंह करके 32 बार रोज विद्या मंत्र पढ़ने से आपको विद्या मिलेगी | इस विद्या से आपको ख्याति और पैसा भी मिलेगा |

तुला राशि :- अच्छी विद्या हासिल करेंगे | अगर आप प्रतियोगिता परीक्षा में बैठने जा रहे हैं तो सफलता की उम्मीद मजबूत है | विद्या मंत्र को पश्चिम दिशा की ओर मुंह करके 24 बार रोज पढ़े |

वृश्चिक राशि :- ग्रह स्थिति उन्नति का सन्देश लेकर आई है इस राशि वाले commerce और कानून के विद्यार्थिओं के लिये बहुत अनुकूल समय है | विद्या मंत्र को 27 बार रोज पढ़ें |

धनु राशि :- फैशन designing , फलित ज्योतिष , होटल मैनेजमेंट , agriculture के विद्यार्थियों के लिये बहुत अच्छा मौका है | जिंदगी एक positive टर्न लेने के लिये तैयार है | अभूतपूर्व सफलता सामने खड़ी है | विद्या मंत्र का 21 बार जप इशान दिशा की ओर मुंह करके रोज करें |

मकर राशि :- सफलता के लिये संघर्ष करना पड़ेगा | आपको अपने लेसंस बार -बार रिवाइज करना होगा | विद्या मंत्र का जप पश्चिम दिशा की ओर मुंह करके 54 बार जप करें |

कुम्भ राशि : - समय संघर्ष पूर्ण लेकिन अच्छा है इस राशि के जो लोग इंजीनियरिंग , aeronautics में है उनके लिये विशेष सफलता का योग है | विद्या मंत्र का पाठ 27 बार रोज करें |

मीन राशि :- सफलता के रास्ते खुले हुये हैं | एक कदम उठाइये पूरी मजबूती के साथ | इस राशि के कला संकाय , fine आर्ट्स , साहित्य और दर्शन के विद्यार्थियों के लिये समय अनुकूल है | विद्या मंत्र का पाठ 21 बार रोज करें |

 

1. आईटी में जाने के लिये देवी को कपूर से तिलक करें और स्वयं भी कपूर को अपने मस्तक पर टिके की तरह लगायें, आपके रास्ते में आने वाली सभी बाधायें दूर हो जायेंगी |

2. फिल्म इंडस्ट्री या फिर ग्लैमर की दुनिया में भाग्य आजमाने वाले देवी को देशी घी का तिलक लगायें और उनके सामने घी का दीपक जलायें देवी आपको सफलता दिलायेंगी |

3. इंजीनियर बनने के लिये गौरोचन से देवी को तिलक लगायें और स्वयं भी तिलक करें, सफलता आपके कदम चूमेगी |

4. कोर्पोरेट वर्ल्ड में जाने के लिये देवी को शहद का तिलक लगायें और सुबह सबसे पहले शहद का सेवन करें, आपको फायदा होगा |

5. आर्मी या फिर पुलिस फ़ोर्स में जाने के लिये सिंदूर से देवी को तिलक लगायें और खुद भी सिंदूर का तिलक लगायें ये आपको आपकी सर्विस के दौरान सभी मुश्किलों से बचायेगा |

6. डॉक्टर बनने के लिये कुमकुम से देवी का तिलक लगायें | देवी को फूलों की माला भी चढाने से आपको सफलता मिलेगी |

7. क्रिकेटर और खेलकूद के क्षेत्र में सफलता पाने के लिये देवी को सिंदूर और शहद मिलाकर तिलक करें और अपनी माँ का आशीर्वाद जरुर लें | दोनों माँ का आशीर्वाद आपको सफलता जरुर दिलायेगा |

विद्यादायिनी हैं माँ ब्रह्मचारिणी

विद्या प्राप्ति के उपाय :-

उपाय:- (1) चमेली हरश्रृंगार या किसी भी सफ़ेद फूल को 6 लौंग और एक टुकड़े कपूर के साथ रुपदेवी सर्वभूतेषु विद्यारुपेण संस्तिथा नमस्तस्यै, नमस्तस्यै, नमस्तस्यै, नमो नम: पढ़ते हुए 54 आहुतियाँ नित्य माँ दुर्गा के सामने देने से उत्तम विद्या प्राप्त होती है.

उपाय:-() बच्चे के सिर से पैर तक एक धागा नाप कर तोड़ लें  उसमे, या देवी सर्वभूतेषु विद्यारुपेण संस्तिथा नमस्तस्यै,नमस्तस्यै,नमस्तस्यै नमो नम: पढ़ते हुए 54 गांठे लगाइये, इसे माता को समर्पित कर के नवरात्र भर इस धागे का जप करे. नवमी के दिन धागा जल में प्रवाहित कर दे.

उपाय():- ब्राह्मी  बूटी पर या देवी सर्वभूतेषु विद्यारुपेण संस्तिथा नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:108 बार पढ़ें और ब्राह्मी बच्चो को खिला दें  7 दिन लगातार ऐसा करने से बालक मेधावी हो जाता है |

उपाय():- सात दालों का चूरा बनाकर उनपर ' या देवी सर्वभूतेषु विद्यारुपेण संस्तिथा नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम: 1100 बार पढ़ें  बच्चे का हाँथ लगाकर किसी पेड़ की जड़ में रखे या चिड़ियों को खिलायें .

उपाय(५):- शहद लाकर रोज देवी को शहद और लौंग की आहुति प्रदान करें | बच्चे की जीभ पर लौंग से 'ए' अक्षर लिखें |


देवी चंद्रघंटा

Dim lights Embed Embed this video on your site

नवरात्र के तीसरे दिन देवी चंद्रघंटा की पूजा की जाती है | माँ का यह रूप पाप - ताप और सभी विघ्न बाधाओं से मुक्ति प्रदान करता है | परम शांतिदायक और कल्याणकारी है माँ का ये रूप |

मेष राशि :- राशि वालों आर्थिक स्थिति बेहतर होगी | इस साल वाहन और मकान दोनों के लिये ऋण लेने का योग बन रहा है | लेकिन उम्मीद है कि आप इस काम में पूरी सावधानी बरतेंगे और लिया गया कर्ज आप पर बोझ नहीं बनेगा | ऋण मुक्ति  मन्त्र 21 बार रोज पढ़ें |

वृष राशि :- जीवन स्तर के सुधार के लिये ऋण लेंगे | अचल संपत्ति और वाहन दोनों में सुधार होगा जो आपके लिये मुनाफे की नजर से बेहतरी की वजह बनेगा | साल ख़त्म होते होते ये बोझ कम हो जायेगा साथ ही अगले साल तक ये बोझ, बोझ न रह कर खिलौना बन जायेगा | पश्चिम दिशा की ओर मुंह करके ऋण मुक्ति मन्त्र को 23 बार जरुर पढ़ें |

मिथुन राशि :- राशि वालों इस साल नये कर्ज लेंगे लेकिन कर्ज लेने में सावधानी वरतें क्योंकि मुनाफे और आमदनी का ऋण से तालमेल विठाकर ही कर्ज लेना उचित रहेगा | इस मामले में चूक भारी पड़ सकती है | इस लिये कर्ज लेने से पहले परिस्थितियां का सटीक आंकलन कर लेना बेहतर होगा |  ऋण मुक्ति मन्त्र को 25 बार रोज पढ़ें |

कर्क राशि :- ऋण बढ़ेगा | ऋण और रोग दोनों से ही बचने की कोशिश करनी होगी साथ ही आमदनी की बढ़ोत्तरी का जरिया भी खोजना होगा | मौजुदा आमदनी पर्याप्त नहीं है, लेकिन सावधान आमदनी बढ़ाने के चक्कर में आपके कदम भटक सकते हैं, सावधान रहें | ऋण मुक्ति मन्त्र को 20 बार रोज पढ़ें |

सिंह राशि :- साल के शुरू में ही ऋण ले लेंगे लेकिन साल ख़त्म होते - होते बोझ हल्का हो जायेगा | शादी ब्याह के लिये रिश्तेदारों से व्यक्तिगत कर्ज लेंगे जो समय के साथ खुद ही निपट जायेगा | ऋण मुक्ति मन्त्र को पूर्व दिशा की ओर मुंह करके 32 बार रोज पढ़ें |

कन्या राशि :- अचल सम्पत्ति में पूँजी निवेश करने के लिये ऋण लेंगे जो शीघ्र ही आपके लिये मुनाफे का साधन बन जायेगा | काफी लम्बे समय बाद आप ऋण का स्वाद चखेंगे और वो भी मजे के लिये | ये ऋण बोझ न होकर खिलौना होगा और जल्द ही उतर जायेगा |  उत्तर दिशा की ओर मुंह करके 24 बार रोज पढ़ें |

तुला राशि :- राशि वालों कर्ज के मामले में आपको सावधान रहना होगा | मौजुदा ग्रह गोचर कर्ज लेने के लिये अनुकूल परिस्थितियों का संकेत नहीं दे रहा है | इसलिये बहुत जरुरत पड़ने पर ही ऋण लेने का विचार बनायें | ऋण मुक्ति मन्त्र को पश्चिम दिशा की ओर मुंह करके 27 बार रोज पढ़ें |

वृश्चिक राशि :- राशि वालों ये वर्ष भी आपके लिये ऋण और तनाव से मुक्ति का है | इस समय का आनंद लें | अचल संपत्ति के निर्माण में हल्का फुल्का ऋण लेना पड़ सकता है जो हंसते खेलते उतर जायेगा | ऋण मुक्ति मन्त्र को 21 बार रोज पढ़ें |

धनु राशि :- धनु राशि वालों कर्ज लेने की आवश्यकता नहीं है लेकिन चल और  अचल संपत्ति की खरीद के लिये जल्द ही कर्ज लेंगे और तीन साढ़े तीन वर्षो में ये कर्ज उतर जायेगा | ऋण मुक्ति मन्त्र को ईशान दिशा की ओर मुंह करके 54 बार पढ़ें |

मकर राशि :- मकर राशि वालों आमदनी बढ़ेगी और कर्ज लेने से बचेंगे | जरुरत होने पर भी आप कर्ज लेना avoid करेंगे | जून और जुलाई के महीने में किसी रचनात्मक काम के लिये कर्ज लेना पड़ सकता है | ऋण मुक्ति मन्त्र 26 बार रोज पढ़ें |

कुम्भ राशि :- राशि वालों आर्थिक स्थिति बेहतर होगी | इस साल वाहन और मकान दोनों के लिये ऋण लेने का योग बन रहा है | लेकिन उम्मीद है कि आप इस काम में पूरी सावधानी बरतेंगे और लिया गया कर्ज आप पर बोझ नहीं बनेगा | पश्चिम दिशा की ओर मुंह करके 31 बार रोज पढ़ें |

मीन राशि :- आपको अपने पुराने मकान के रिनोवेशन, मांगलिक कार्य या किसी नये प्रोजेक्ट के लिये बहुत थोड़ी मात्रा में, आसानी से अदा होने वाला ऋण लेना पड़ेगा | ऋण मुक्ति मन्त्र 21 बार रोज पढ़ें |

ऋण मुक्ति हेतु माता चंद्रघंटा की कृपा पाने का मन्त्र :

दारिद्रय दुःख भय हरिणी का त्वदन्या

सर्वोपकार करणाय सदार्द चित्ता |

ऋण मुक्ति के उपाय :-

उपाय(१):- कच्चे आटे की लोई में गुड भरकर पानी में बहायें |

उपाय(२):- कमल गट्टे को पीस कर देशी घी की सफ़ेद बर्फी मिला कर 21 आहुति दें |

उपाय(३):- पीली कौड़ी और हर सिंगार की जड़ को रोली, अक्षत, पुष्प, धूप, दीप से पूजन करके धारण करें, या अपने पास रखें तो ऋण से मुक्ति प्राप्त होगी |

उपाय(४):- सफ़ेद कपड़े में पांच गुलाब के फूल, चांदी का टुकड़ा, चावल और गुड, सफ़ेद कपड़े में रखकर 21 बार गायत्री मन्त्र का पाठ करें | "मेरी परेशानी उतर जाये मेरा कर्ज उतर जाये" मन में ऐसा विचार करते हुये जल में प्रवाहित करें |

उपाय(५):- कमल की पंखुड़ियों में आज के दिन माता को मक्खन मिसरी का भोग लगाकर 48 लौंग और 6 कपूर की आहुति दीजिये |

उपाय(६):- केले के पेड़ की जड़ में रोली, चावल, फूल और जल अर्पित करें और नवमी वाले दिन केले के पेड़ की थोड़ी सी जड़ तिजोरी में रखें कर्ज से मुक्ति होगी |

 


कुष्मांडा देवी

आज हम बतायेंगे देवी की कृपा से कैसे आपको धन दौलत मिल सकती है | अगले नवरात्र तक आपके जीवन में धन - दौलत कमाने का योग है | हम आपको बतायेंगे ऐसे छोटे और आसान उपाय जिन्हें आजमाने से आपके जीवन में धन - संपत्ति की बढ़ोत्तरी होगी |

महालक्ष्मी का मन्त्र :-

मंत्र (१) :-

ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालेय प्रसीद प्रसीद

श्रीं ह्रीं श्रीं महालक्ष्म्यै नम :

मंत्र (२) :- धन प्राप्ति के लिये मन्त्र है -

दुर्गे स्मृता हरसिभीतिमशेष जन्तो : स्वस्थ्याई :

स्मृता मति मतीव

शुभाम ददासि दारिद्रयदु:खभय हारिणी

कात्वदन्या सर्वोप कारकारणाय

सदार्दचित्ता

एक और आसान उपाय है पान में गुलाब की सात पंखुड़ियां रखकर, पान को देवी को चढ़ा दें | आपको धन की प्राप्ति होगी |

अचानक धन प्राप्ति का उपाय :- गुलाब के फूल में कपूर का टुकड़ा रखें | शाम के समय फूल में एक कपूर जला दें और फूल को देवी को चढ़ा दें | इससे आपको अचानक धन मिल सकता है |

कर्ज से छुटकारा पाने के लिये :- पांच गुलाब के खिले हुये फूलों को गायत्री मन्त्र पढ़ते हुये डेढ़ मीटर सफ़ेद कपड़े में बाँध दीजिये और इसे नदी में प्रवाहित कर दीजिये | जल्दी ही आपको कर्ज से मुक्ति मिलेगी |

नवरात्र की षष्ठी तिथि को शाम के समय बेल के पेड़ के जड़ पर मिट्टी, इत्र, पत्थर और दही चढ़ा दें और अगले दिन सुबह के समय बेल के पेड़ से एक छोटी टहनी तोड़ कर घर ले आयें और उसे अपनी तिजोरी में रख दें | ऐसा करने से आपको बेहिसाब धन - संपदा प्राप्त होगी |

मेष राशि - मेष राशि के लोगों को धन प्राप्ति में थोड़ी बहुत दिक्कत बनी रहेगी लेकिन चिंता न करें आपको कष्ट नहीं होंगे | खर्चे सेहत पर करने होंगे और कुछ इन्वेसमेंट प्रोपर्टी पर नजर आता है आपको धन लाभ के लिये थोड़ी कोशिश करनी होगी | धन प्राप्ति मन्त्र का पाठ पूर्व की ओर मुंह करके 24 बार रोज करें |

वृष राशि - वृष राशि वालों के जीवनसाथी को भारी धन लाभ और राज्य लक्ष्मी की प्राप्ति होगी और इसका फायदा आपको भी होगा | सुरक्षित रास्तों से आमदनी बढ़ेगी, आपको माता की कृपा प्राप्त है | धन प्राप्ति मन्त्र का पाठ 21 बार रोज करें |

मिथुन राशि :- मिथुन राशि वाले अपने खर्च कम करें तभी धन बचेगा और घर में धन संपदा बढ़ेगी | आर्थिक फैसलों के मामलों में इष्ट मित्रो से सलाह करना बेहतर होगा, जल्दबाजी में कोई भी काम नुकसानदायक हो सकता है | इसलिये सावधान रहें | धन प्राप्ति मन्त्र का 21 बार जप ईशान दिशा की ओर मुंह करके रोज करें |

कर्क राशि :- कर्क राशि वालों को ननिहाल से मदद मिलेगी लेकिन आप अपना financial बजट बना लें तो आपके लिये  बेहतर होगा | इससे आप अपने खर्चों में भी कटौती कर सकते हैं | प्रतिदिन आमदनी लगातार घटेगी | अचानक धन हानि होने की संभावना है | नियमित मां की आराधना करें फायदा होगा | धन प्राप्ति मन्त्र को 51 बार रोज पढ़ें |

सिंह राशि :- सिंह राशि के लोगों को पराक्रम से संपत्ति प्राप्त होगी | आने वाले छ: महीने में भूमि, भवन और वाहन प्राप्त करने का प्रबल योग है | आप के लिये संयम बरतना और आमदनी को संयोजित करना उचित होगा | धन प्राप्ति मन्त्र का पाठ 27 बार रोज करें |

कन्या राशि :- एक तू ही है भगवान भाई ,तुझे माता की कृपा का धन मिल रहा है | हालांकि पैसा हाथ का मैल है लेकिन ये मैल लगातार इकठ्ठा हो जायेगा | आने वाले समय में जमीन या वाहन खरीदने का योग है | धन प्राप्ति मन्त्र का जप उत्तर दिशा की ओर मुंह करके 54 बार करें |

तुला राशि :- इस राशि वाले बेकार के खर्चों से बचे, अपने खर्चों को कंट्रोल करें इसी में आपकी भलाई है | अचानक होने वाले खर्च जमा पूंजी पर असर डाल सकते हैं ...अपनी आमदनी बढ़ाने की कोशिश कीजिये ...माँ की स्तुति जरुर काम आयेगी | धन प्राप्ति मन्त्र का पाठ 28 बार रोज करें |

वृश्चिक राशि :- वृश्चिक राशि वालों के खर्चे बढ़े रहेंगे हालाकि कोई भी खर्च फालतू नहीं होगा | धन के आभाव में कोई काम नहीं रुकेगा सभी काम आराम से पूरे होंगे | मां की आराधना करने से धन की प्राप्ति होगी | जीवन साथी के सहयोग से आर्थिक लाभ प्राप्त होगा | रोज धन प्राप्ति मन्त्र 41 बार पढने से लाभ होगा |

धनु राशि :- धनु राशि वालों को भारी धन लाभ का योग है | अचानक कहीं से ढेर सारा धन प्राप्त होने वाला है, जिसकी आपने कल्पना भी नहीं की होगी | जो खर्चे होंगे उनका सम्बन्ध खुशी और निर्माण से होगा | माता के दर्शन से फायदा होगा | धन प्राप्ति मन्त्र को उत्तर दिशा की ओर मुंह करके 25 बार रोज पढ़ें |

मकर राशि :- मकर राशि वालों के जीवन में थोड़ा संघर्ष है लेकिन चिंता की कोई बात नहीं है | कोशिश करने से हर संघर्ष का परिणाम सुखद होगा | मकर राशि वालों के लिये देवी का सन्देश है कि वो मेहनत करें | मेहनत करने से सभी मनोकामनायें पूरी होंगी | धन प्राप्ति मन्त्र को रोज 33 बार जरुर पढ़ें |

कुम्भ राशि :- कुम्भ राशि वालों को राज्य से आमदनी होगी | प्रमोशन और increment के जरिये income बढ़ेगी | थोड़ी मेहनत करने से सफलता जरुर हासिल होगी, माँ की कृपा आप पर लगातार बनी रहेगी | उत्तर की ओर मुंह करके 32 बार रोज धन प्राप्ति मन्त्र पढ़ें |

मीन राशि :- मीन राशि वालों किस्मत से धन का छिका टूटने वाला है लेकिन थोड़ा सतर्क रहें छोटी सी गलती बड़ी समस्या बन सकती है | भाग्य आपके साथ है लेकिन अपने खर्चों पर थोड़ा नियंत्रण रखें आज की बचत कल काम आयेगी | जीवन में गुणात्मक परिवर्तन आयेगा | धन प्राप्ति मन्त्र को 27 बार रोज पढ़ें |

लक्ष्मी प्राप्ति का उपाय :-

१- पान में गुलाब की सात पंखुड़िया रखें और पान को देवी को चढ़ा दें .....आप को धन की प्राप्ति होगी |

२- गुलाब की फूल में कपूर का टुकड़ा रखें ....शाम के समय फूल में एक कपूर जला दें ...और फूल देवी को चढ़ा दें ....इससे आपको अचानक धन मिल सकता है |

३- चौदह मुखी रुद्राक्ष सोने में जड़वा कर ....किसी पत्र में लाल फूल बिछाकर उस पर रखें ...दूध, दही, घी ,मधु, और गंगाजल से स्नान करायें .... धूप दीप से पूजा करके धारण करें |

४- इमली के पेड़ की डाल काट कर घर में रखें या धन रखने की स्थान पर रखें तो धन की वृद्धि होगी |

५- एक नारियल और उसके साथ एक लाल फूल, एक पीला, एक नीला फूल और सफ़ेद फूल माँ को चढ़ायें...नवमी के दिन ये फूल नदी में बहा दें और नारियल को लाल कपड़े में लपेट कर तिजोरी में रखें ...अखंड लक्षी की प्राप्ति होगी |

६ - धन प्राप्ति में किसी भी तरह की मुश्किल से बचने के लिये लौंग और कपूर में गन्ने का रस मिलकर माँ दुर्गा को आहुति दें |

७ - पान में गुलाब की पंखुड़िया रखकर पान देवी को चढायें |


स्कंदमाता

आज नवरात्र का पांचवा दिन है और आज के दिन स्कंदमाता की पूजा की जाती है | स्कंदमाता को मां दुर्गा की पांचवी शक्ति का रूप माना जाता है |

स्कंदमाता भगवान कार्तिकेय की माँ है | नौ ग्रहों की शांति  के लिये स्कंदमाता की खास पूजा अर्चना की जाती है, ऐसा माना जाता है कि नवरात्र के पांचवे दिन स्कंदमाता को खुश करने से बुरी ताकतों का नाश होता है और बुरी नज़र से मुक्ति मिलती है | देवी के इस रूप की  पूजा से असंभव काम भी संभव हो जाते है |

मेष राशि :- मेष राशि वालों अगर single हैं और अपना जीवन साथी तलाश रहे हैं तो उनकी तलाश अब माँ की कृपा से पूरी हो जायेगी | कैरियर में बेहतरी होगी | Income बढ़ेगी और आप खूब धन कमायेंगे और आप अपनी तरक्की को देखकर खूब खुश होंगे और life को enjoy करेंगे | पश्चिम दिशा की ओर मुंह करके बाधा निवारण मन्त्र को 24 बार रोज पढ़ें |

वृष राशि :- वृष राशि वालों कारोबार में आ रही समस्यायें दूर होंगी | आपको बिजनेस में भारी लाभ होने वाला है | इस राशि के लोगों के लिये ये समय बहुत ही अच्छा है | जीवन पूरी तरह बाधा मुक्त होगा | सभी क्षेत्र निर्बाध होंगे | बाधा निवारण मन्त्र का 21 बार रोज जप करें |

मिथुन राशि :- इस राशि वाले लोगों के लिये समय कुछ ठीक नहीं है, आने वाले दो महीने मुश्किल से भरे रहेंगे | हर काम में बाधा आयेगी | इस राशि के students को विद्या प्राप्ति में कुछ दिक्कते आ सकती हैं, घबरायें नहीं धैर्य और सूझबूझ से काम लें | बाधा निवारण मन्त्र को रोज 11 बार रोज पढ़ें |

कर्क राशि :- इस राशि वाले लोगो की राह में काफी मुश्किलें आयेंगी | आपको कैरियर के मामले में बाधाओं का सामना करना पड़ेगा | अपने गुस्से पर कंट्रोल रखें, घर का वातावरण बिगड़ सकता है | ग्रह क्लेश को avoid करें | बाधा निवारण मन्त्र को रोज 26 बार रोज पढ़ें |

सिंह राशि :- सिंह राशि वाले विद्यार्थियों का समय बहुत अनुकूल है जो भी एक बार पढेंगे वो आपको कंठस्थ हो जायेगा | इस महीने के अंत तक कारोबार और कैरियर सम्बन्धी समस्याओं का निवारण हो जायेगा | मां दुर्गा की पूजा और दर्शन से सभी परेशानियां दूर होगी | उत्तर दिशा की ओर मुंह करके 32 बार रोज बाधा निवारण मन्त्र का जप करें |

कन्या राशि :- इस राशि के लोगों के लिये समय बहुत ही अच्छा | जीवन पूरी तरह बाधा मुक्त है | मां की कृपा से इस समय आपकी पांचो अंगुलियाँ घी में है, आपको बहुत फायदा होने वाला है | इस राशि के लोगों पर माता की विशेष कृपा है | बाधा निवारण मन्त्र का पाठ पूर्व दिशा की ओर मुंह करके 24 बार रोज करें |

तुला राशि :- तुला राशि वाले अगर आप बहुत time से विदेश यात्रा के लिये कोशिश कर रहे थे तो थोड़ी सी और मेहनत से आपको सफलता मिल जायेगी | आप पर जो भी ग्रह बाधायें हैं मां की कृपा से धीरे-धीर समाप्त हो जायेंगी | बाधा निवारण मन्त्र को 27 बार रोज पढ़ें |

वृश्चिक राशि :- वृश्चिक राशि वाले आप अपनी सेहत का ध्यान रखें | अगर आप लोहे या कोयले के बिजनेस में हैं या प्लास्टिक से जुड़ा कोई काम करतें हैं तो इस साल आपको अपना बिजनेस बढ़ाने का मौका मिलेगा | बाधा निवारण मन्त्र पश्चिम दिशा की ओर मुंह करके 41 बार रोज पढ़ें |

धनु राशि :- आपका अब अच्छा वक़्त शुरू हो चुका है | संतान पक्ष से आ रही सभी बाधायें दूर हो चुकी है | सिर्फ इतना ही नहीं जीवन के हर क्षेत्र से बाधाओं - मुश्किलों का अंत हो चुका है | आप जिस क्षेत्र की तरफ बढ़ेंगे सफलता आपके कदम चूमेगी | बाधा निवारण मन्त्र का जप पश्चिम दिशा की ओर मुंह करके 54 बार जप करें |

मकर राशि :- इस राशि वालों को थोड़ी बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है जबकि आगे चलकर आर्थिक समस्या से सामना होगा | जमकर मेहनत कीजिये, आपकी मेहनत रंग लाने वाली है | समस्यायें खुद-ब-खुद हल हो जायेंगी | बाधा निवारण मन्त्र का 21 बार जप ईशान दिशा की ओर मुंह करके रोज करें |

कुम्भ राशि :- इस राशि वालों की लम्बे समय से चली आ रही समस्यायें ख़त्म होंगी | थोड़ी बहुत बाधायें होंगी, जिन पर आप आसानी से विजय पा लेंगे | घर के सदस्यों में आपस में प्यार बढ़ेगा | जीवन सुखमय होगा | बाधा निवारण मन्त्र का पाठ 27 बार रोज करें |

मीन राशि :- इस राशि वालों के आने वाले महीने बाधा मुक्त होंगे | Students को आने वाली प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता मिलने का योग है | इस राशि की महिलाओं के जीवन में बहार आने वाली है | बाधा निवारण मन्त्र का पाठ 25 बार रोज करें |

बाधा निवारण मन्त्र :-

सर्वबाधा विनिर्मुक्तो धन - धान्य सुतान्वित: |

मनुष्यो मत्प्रसादेन भविष्यति न संशय: ||

उपाय(1):- विवाह में आने वाली बाधा दूर करने के लिए ये उपाय बहुत ही कारगर है | 36 लौंग और 6 कपूर के टुकड़े लें, इसमे हल्दी और चावल मिलाकर इससे माँ दुर्गा को आहुति दें |

उपाय(2):- अगर आपको संतान प्राप्ति नहीं हो रही है तो आप लौंग और कपूर में अनार के दाने मिला कर माँ दुर्गा को आहुति दे जरुर लाभ होगा | संतान प्राप्ति का सुख मिलेगा |

उपाय(3):- अगर आप का कारोबार ठीक से नहीं चल रहा है तो दूर करने के लिये लौंग और कपूर में अमलताश के फूल मिलाये ,अगर अमलताश नहीं है तो कोई भी पिला फूल मिलाये माँ दुर्गा को आहुति दें आपका बिजनेस खूब फलेगा |

उपाय(4):- जिन लोगों की विदेश यात्रा में कठिनाई या बाधा आ रही  है वो मूली  के टुकड़ों को हवन सामग्री में मिला लें और हवन करें | विदेश यात्रा का योग बनेगा |

उपाय(5):- अगर किसी को स्वास्थ्य सम्बन्धी परेशानी हो तो 152 लौंग और 42 कपूर के टुकड़े ले लें इसमे नारियल की गिरी सहद और मिश्री मिला ले इससे हवन करें सभी समस्याओं से निजात मिलेगा |

उपाय(6):- सम्पति सम्बन्धी बाधाओं को दूर करने के लिये लौंग और कपूर में गुड और खीर मिलाकर माँ दुर्गा को आहुति दे इस तरह की तमाम बाधाओं से मुक्ति मिलेगी |

उपाय(7):- अगर आप भूत-प्रेत के साये में है ,उससे छुटकारा चाहते हैं तो 152 लौंग लीजिये | 42 कपूर के टुकड़े लेकर उसमे जटामाशी मिलाकर माँ दुर्गा को आहुति दें  |


कात्यायनी देवी

माँ कात्यायनी को दुर्गा की छठी शक्ति का रूप माना जाता है | नवरात्र के छठे दिन कात्यायनी के इस अद्दभुत स्वरुप की पूजा की जाती है | माँ कात्यायनी मन की शक्ति की देवी है इनकी उपासना से सभी इन्द्रियों को वश में किया जा सकता है सभी पापियों का सर्वनाश करने वाली माँ कात्यायनी की महिमा अपरंपार है |

ऐसा कथन है कि कात्यायन ऋषि ने जप कर के पुत्री के रूप में जिस शक्ति की कामना की, उसका भाव यही है कि मेरी सारी इन्द्रियां वश में हो जायें, मेरा आचरण पिता की तरह हो जाये और मन को पुत्री मान कर उसका लालन पोषण करूं अगर मन की पुत्री मान जाये तो सारी बुरी शक्तियां अपने आप समाप्त हो जाती हैं .. देवी कात्यायनी की आराधना का मतलब भी यही है, अर्थात माता कात्यायनी की पूजा से मन की आँखें खुल जाती हैं | माँ कात्यायनी की पूजा से होती हैं सभी इन्द्रियां वश में |

मेष राशि :- इस राशि के जो लोग फैशन डिजाइनिंग में है उनके लिये आने वाला समय बहुत अनुकूल है | अगर जॉब के लिये apply करना चाहते हैं तो कर दीजिये | मेहनत के मुकाबले 63 फीसदी सफलता का योग बन रहा है | पश्चिम दिशा की ओर मुंह करके सफलता प्राप्ति मन्त्र को 51 बार रोज पढ़ें |

वृष राशि :- इस राशि के जो लोग अपनी किस्मत फ़िल्मी दुनिया में आजमाना चाहते हैं उनके लिये एक सुन्दर समय है | संतान की सफलता का बहुत ही अच्छा योग  है, और संतान की सफलता में ही आपकी सफलता है | 32 बार रोज सफलता प्राप्ति मन्त्र जरुर पढ़ें |

मिथुन राशि :- इस राशि वाले लोगों की कार्य क्षमता पर प्रभाव पड़ेगा | आप अपना energy level काफी कम महसूस करेंगे | रह - रह कर बाधायें आती रहेंगी आपको सतर्क रहते हुये तमाम बाधाओं से मुकाबला करना होगा तभी आपको सफलता मिलेगी | सफलता प्राप्ति मन्त्र रोज 21 बार जरुर पढ़ें |

कर्क राशि :- कर्क राशि के जो लोग राजनीति के क्षेत्र में है उनके लिये समय अनुकूल नहीं है | जीवन में सफलता पाने के लिये कड़ी मेहनत करनी पड़ेगी | इस महीने अगर अपने काम की प्लानिंग करें तो विशेष सफलता मिलेगी | सफलता प्राप्ति मन्त्र का रोज 11 बार जप जरुर करें |

सिंह राशि :- इस राशि के जो लोग artist हैं उनको अपनी कला कृतियों के प्रदर्शन का सुनहरा अवसर प्राप्त होगा |  आपको रह - रह कर सफलतायें मिलती रहेंगी | माता की कृपा का प्रसाद आपको लगातार मिलता रहेगा इस प्रसाद को संभाल कर रखेंगे तो अच्छा होगा | सफलता प्राप्ति मन्त्र का पाठ पूर्व की ओर मुंह करके 53 बार रोज करें |

कन्या राशि :- इस राशि के नाट्य कलाकारो को अपनी कला दिखाने का अवसर मिलेगा | आपका कोई बड़ा stage show भी हो सकता है | अप्रैल का महिना आपके लिये खुशियों भरा होगा | मां की विशेष कृपा रहेगी | उत्तर दिशा की ओर मुंह करके 33 बार रोज सफलता प्राप्ति मन्त्र का जप करें |

तुला राशि :- इस राशि वाले मूवी डायरेक्टर को मूवी बनाने में नई script और नये विचार मिलेंगे | धीरे धीरे आपके कदम खुद-ब-खुद सफलता की ओर बढ़ते चले जायेंगे | जीवन के हर क्षेत्र में आपको सफलता मिलने का योग बन रहा है | सफलता प्राप्ति मन्त्र को पश्चिम दिशा की ओर मुंह करके 51 बार रोज पढ़ें |

वृश्चिक राशि :- वृश्चिक राशि के जो लोग लेदर डिजाइनिंग से जुड़े हैं उनको जॉब बदलने का मौका मिलेगा | विदेश से भी बुलावा आ सकता है | अप्रैल महीने की 19, 28 तारीख को छोड़ कर हर दिन अच्छा फल देने वाला होगा | सफलता प्राप्ति मन्त्र को 21 बार रोज पढ़ें |

धनु राशि :- धनु राशि के चित्रकारों को एक नया और अनोखा विषय जिसे आप काफी दिनो से तलाश रहे थे वो समय आ गया है | माता की कृपा से छोटी - मोटी समस्यायें सुलझ जायेंगी | सफलता प्राप्ति मन्त्र का 11 बार जप ईशान दिशा की ओर मुंह करके रोज करें |

मकर राशि :- मकर राशि के जो student, fine art के क्षेत्र में जाना चाहते हैं उनके लिये समय अभी ठीक नहीं है | अप्रैल के महीने थोड़ा कठिन है लेकिन समय बदलेगा 16 मई और उसके बाद के महीनो में सफलता का योग है | सफलता प्राप्ति मन्त्र का जप पश्चिम दिशा की ओर मुंह करके 51 बार रोज करें |

कुम्भ राशि :- इस राशि के जो लोग बैंकिंग सेक्टर या furniture designing से जुड़े हैं उनको एक बड़ा agreement मिलने वाला है | जिस काम में भी हाँथ डालेंगे सफलता मिलेगी | निश्चिन्त होकर माता का भजन कीजिये | सफलता प्राप्ति मन्त्र का पाठ 32 बार रोज करें |

मीन राशि :- मीन राशि वाले विद्यार्थियों के लिये ये समय तरह तरह के उतार चढ़ाव से भरा है | आपको confusion से बचना चाहिये | जो लोग राजनीति से जुड़े है उनकी सफलता में थोड़ा वक्त अभी बाकी है | सफलता प्राप्ति मन्त्र का पाठ 21 बार रोज करें |

सफलता का अचूक मन्त्र :-

सर्व मंगल माँड़गल्ये शिवे सर्वार्थसाधिके |

शरण्ये त्र्यम्बिके गौरी नारायणी नामोस्तुते ||

सफलता पाने के उपाय(1) :- कुमकुम, लाख, कपूर, सिंदूर, घी, मिश्री और शहद का पेस्ट तैयार कर लें, इस पेस्ट को देवी मां को तिलक लगायें | अपने मस्तक पर भी पेस्ट का टीका लगायें आपको जरुर सफलता मिलेगी |

सफलता पाने के उपाय(2) :- मिट्टी को घी और पानी में सानकर नौ गोलियां बना लीजिये | इन गोलियों को छाया में सुखा लीजिये | इन गोलियों को पीले सिंदूर की कटोरी में भरकर देवी को चढ़ा दीजिये | नवमी के दिन इन गोलियों को नदी में जरुर बहा दीजिये और सिन्दूर को संभाल कर रखिये जरुरी काम से जाते समय इस सिंदूर का टीका लगाइये सफलता जरुर मिलेगी |

सफलता पाने के उपाय(3) :- खेलकूद के क्षेत्र में सफलता पाने के लिये देवी माँ को सिन्दूर और शहद मिलाकर तिलक करें | अपनी माँ का आशीर्वाद जरुर लें |

सफलता पाने के उपाय(4) :- राजनीति के क्षेत्र में सफलता पाने के लिये लाल कपड़े में 21 चूड़ी, सिन्दूर, दो जोड़ी चांदी की बिछिया, 5 गुडहल के फूल, 42 लौंग, 7 कपूर, और परफ्यूम बांधकर देवी के चरणों में अर्पित करें | सफलता जरुर मिलेगी |

सफलता पाने के उपाय(5) :- प्रतियोगिता में सफलता पाने के लिये 7 प्रकार की दालों का चूरा बना कर चीटियों को खिलाने से सफलता मिलेगी |

सफलता पाने के उपाय(6) :- फिल्म इंडस्ट्री या फिर ग्लैमर की दुनिया में भाग्य आजमाने वाले देवी को देशी घी का तिलक लगायें और उनके सामने घी का दीपक जलायें, देवी आपको सफलता दिलायेंगी |


कालरात्रि देवी

माँ कालरात्रि माँ दुर्गा की सातवी शक्ति का रूप हैं मां कालरात्रि का ये रूप देखने में डरावना है लेकिन ये शुभ फल देने वाली देवी हैं और इसलिये इन्हें शुम्भकरी भी कहा जाता है | ग्रह बाधाओं को दूर करने और सिद्धि प्राप्त करने के लिये मां कालरात्रि की पूजा की जाती है | मां कालरात्रि की पूजा करने वाले के पास कभी डर या भय नहीं आ सकता | मां कालरात्रि की पूजा का विशेष महत्व है |

माँ कालरात्रि का आरोग्य मंत्र -

जय त्वं देवी चामुंडे जय भुतार्तिहारिणी|

जय सर्वगते देवी कालरात्रि नमोउस्तु ते |

मेष राशि :– मेष राशि वाले इस दौरान अच्छी सेहत की तरफ कदम बढायेंगे | जिंदगी प्यार से भरी रहेगी और family में भी ख़ुशी का माहौल रहेगा | सुबह थोड़ी देर मौन रहना अच्छा रहेगा |  मां कालरात्रि के आरोग्य मन्त्र का 53 बार रोज जप करें |

वृष राशि :- वृष राशि वालों आप पर मां की कृपा बनी हुई है, आपका परिवार स्वस्थ और सुखी रहेगा | जो भी काम करेंगे वो सफल होगा | दाम्पत्य सुखों में वृद्धि होगी | मां कालरात्रि के आरोग्य मन्त्र का जप पश्चिम दिशा की ओर मुंह करके 51 बार रोज पढ़ें |

मिथुन राशि :- मिथुन राशि वालों को दिल से जुड़ी कोई परेशानी हो सकती है, अपना cholesterol level ठीक रखें और time पर अपना चेकअप करायें | आप अपने अच्छे स्वास्थ्य के लिये सुबह की सैर करें | मां कालरात्रि के आरोग्य मन्त्र का 21 बार जरुर पढ़ें |

कर्क राशि :- इस राशि वाली महिलाओं के पैर में कुछ तकलीफ हो सकती है, सावधानी बरते | इस राशि के लोगों को अपने खान पान पर विशेष ध्यान देना चाहिये अन्यथा पेट से related कोई समस्या खड़ी हो सकती है | आरोग्य मन्त्र का पाठ पूर्व दिशा की ओर मुंह करके 51 बार रोज करें |

सिंह राशि :- सिंह राशि वाले लोग इस समय खुद को डिप्रेशन से बचाना होगा | कुछ अनआईडेंटीफाइड समस्यायें भी हो सकती हैं | डिप्रेशन से बचाव के लिये समय-समय पर डॉक्टर से सलाह लें | मां कालरात्रि के आरोग्य मन्त्र को 32 बार रोज पढ़ें |

कन्या राशि :- कन्या राशि वालों का समय अनुकूल है | स्वास्थ्य सम्बन्धी कोई समस्या आपको नहीं सतायेगी | आपको अपने पीने के पानी पर विशेष ध्यान रखना चाहिये अशुद्ध पानी का सेवन आपके लिये संकट खड़ा कर सकता है | आरोग्य मन्त्र का पश्चिम दिशा की ओर मुंह करके 33 बार रोज पढ़ें |

तुला राशि :- तुला राशि वालों को अपने लीवर का बचाव करना होगा | आपका energy level भी काफी कम रहेगा | दूसरी ओर आपको पेट से संबन्धित कष्ट हो सकते हैं | मन की परेशानी से जूझना पड़ेगा | मां की शरण में जाने से शांति मिलेगी | आरोग्य मन्त्र का 27 बार पाठ रोज करें |

वृश्चिक राशि :- इस राशि वाले लोगों अपने बुजुर्ग का विशेष ध्यान रखें | जो लोग दमा या खांसी से पीड़ित हैं वो अपनी दवाई खाने में कोई लापरवाही न बरतें | इस राशि की महिलाओं का स्वास्थ्य ठीक रहेगा | मां कालरात्रि के आरोग्य मन्त्र का पाठ ईशान दिशा की ओर मुंह करके 21 बार रोज पढ़ें |

धनु राशि :- धनु राशि वाले अच्छी सेहत का भरपूर लुफ्त उठायेंगे | ध्यान रखें आपका weight बढ़ सकता है | लम्बे समय तक भूखे रहने की स्थिति से आप को बचना चाहिये | उत्तर दिशा की ओर मुंह करके आरोग्य मंत्र का 33 बार पाठ रोज करें |

मकर राशि :- मकर राशि वालों की सेहत मध्यम रहेगी यानि कोई बड़ी परेशानी नहीं सतायेगी | हल्की-फुल्की सर्दी, जुकाम हो सकती है | व्यायाम पर ज्यादा ध्यान दें | ध्यान और योग का सहारा लेना ही आपके लिये बेहतर होगा | आरोग्य मन्त्र का जप 21 बार रोज करें |

कुम्भ राशि :- कुम्भ राशि वालों की पुरानी बीमारियां भी ख़त्म होगी | आप को माता की सीधी कृपा प्राप्त होगी | योग से ज्यादा कारगर और क्या है लेकिन आप का ध्यान व्यायाम पर ज्यादा रहेगा | इस राशि की महिलायें खाना समय पर खायें अपना थोड़ा सा ध्यान रखें | आरोग्य मन्त्र का 24 बार जप रोज करें |

मीन राशि :- मीन राशि वालों अपने आलस्य और ज्यादा खुशी से मिलने वाले अति उत्साह से खुद को बचाना होगा | अगले आने वाले कुछ दिनों में आपका आलस्य ख़त्म होगा | अपने बच्चों का ध्यान रखें, कहीं उछल-कूद में चोट न लग जाये | आरोग्य मन्त्र का 51 बार पाठ रोज करें |

१- ब्लड प्रेशर से बचाव के उपाय

18 लौंग और कपूर के तीन टुकड़ो को अश्वगंधा के साथ मिलाकर माँ को आहुति दें | आहुति देने के लिये मिट्टी के बर्तन का इस्तेमाल करें | आहुति के बाद 5 कदम उलटे चलिये |

२-डायबटिज उपाय :-

18 लौंग और कपूर के तीन टुकड़ो को जामुन के साथ मिलाकर माँ को आहुति दें | आपको इससे जरुर लाभ होगा |

उपाय (३):- रोगी जिस पलंग पर सोता है उस पलंग के पायें में गोमती चक्र चांदी के एक तार से बांधें |

उपाय (४):- भगवान शिव के सामने बैठ कर महामृत्युंजय का मन्त्र जाप, 21, 51, 108 बार पढ़ कर जल में फूंक मारे और रोगी को दिन में तीन बार पिलायें |

उपाय (५):- लम्बी बिमारी से आराम पाने के लिये 108 बार निम्नलिखित मन्त्र का जाप करें,

अच्युतानंदा गोविन्दा विष्णो नारायणामृता |

रोगान्यें नाशयाशेषा ना सु धन्वंतरे हरे ||

उपाय (६):- अकारण भय से बचने के लिये प्रात: काल सरसों के तेल के दीपक में 6 लौंग डालकर निर्जन स्थान में रख दें | निश्चित ही लाभ होगा |

उपाय (७):- दाम्पत्य सुख प्राप्त करने लिये बेल के तीन पत्तों पर अपने पति का नाम गोरोंचन हल्दी का घोल बनाकर मोर पंख की कलम से लिख कर चांदी की डिबिया में भर कर माता के चरणों में रख दें जहाँ पत्ते लिये हैं दाम्पत्य सुख प्राप्त होगा |

शीघ्र विवाह होने के लिये :-

सात केले सात सौ ग्राम गुड और एक नारियल लेकर माता को अर्पित करें, नवमी को नारियल छ: बार, एक बार सीधा और एक बार उल्टा कन्या के सर पर वार कर नदी में प्रवाहित कर दें, केला और गुड का भोग चन्द्रमा व सूर्य भगवान के लिये निकाल दें और उसी में से थोड़ा सा प्रसाद कन्या ग्रहण करे बचे हुये पांच केले व गुड गाय को खिला दें शीघ्र विवाह होगा |

विवाह में बाधा होने पर :-

सवा किलो चने की दाल व सवा लीटर गाय का कच्चा दूध माता को अर्पित करें आज से नवरात्र भर प्रति दिन ऐसा करें अवश्य लाभ होगा |


महागौरी

नवरात्र का आठवां दिन माँ के महागौरी रूप को समर्पित होता है | देवी के महागौरी रूप की आराधना करने वाला जीवन मे हर सुन्दरता को हासिल कर लेता है | महागौरी को खुश कर सभी पापों से मुक्ति पाई  जा सकती है | माँ महागौरी की कृपा हो गई तो जीवन में धन और वैभव की कमी नहीं होती है |

अष्टम महागौरी -

नवरात्री के आंठवें दिन पूजा की जाती है माँ महागौरी की यानि देवी महागौरी दुर्गा की आंठवी शक्ति का रूप है | माता गौरी शिव का आह्नवान करती है | हे महादेव, तुम्हारी ही सारी शक्तियां  मुझमे निहित है | हे देवो के देव, आप ऐसी शक्तियां प्रदान कीजिये जिससे शुंभ निशुंभ नाम के दो राक्षस भाइयों का संहार हो सके | जिन्होंने संसार में हाहाकार मचा रखा है | माना जाता है कि भगवान शंकर ने अपनी सारी शक्तियां महागौरी को दी और महागौरी ने शुंभ निशुंभ का नाश किया, शुंभ-निशुंभ, चंड-मुंड, रक्त बीज जैसे दैत्यों का संहार करने के लिये देवी ने अलग - अलग रूप धरे, कभी गौरवर्णा हो गयीं तो कभी साक्षात मृत्यु बन गयीं | देवी का यही स्वरुप कभी लक्ष्मी, कभी माँ सरस्वती तो कभी माँ काली कहलाया | इसमें एक रूप महागौरी का भी था दुर्गम नाम के राक्षस को मारने के कारण देवी का नाम दुर्गा पड़ा |

मेष राशि :- मेष राशि वालों के दाम्पत्य सम्बन्ध मधुर होंगे | पति पत्नी के बीच प्यार बढ़ेगा दोनों एक दूसरे पर न्योछावर रहेंगे | आपस में बातचीत करने से दूरियां कम होगी | परिवार में हंसी ख़ुशी का माहौल रहेगा | दाम्पत्य सम्बन्ध मधुर बनाने का  मन्त्र 11 बार रोज पढ़ें |

वृष राशि :- वृष राशि वालों  के लिये समय बहुत अच्छा है | आपके दाम्पत्य सम्बन्ध मर्यादित रहेंगे | पति - पत्नी के बीच प्यार बढ़ेगा साथ ही लक्ष्मी की कृपा होगी और घर में धन की बरसात होगी | दाम्पत्य सम्बन्ध बढ़ाने का मन्त्र पूर्व की ओर मुंह करके 32 बार रोज  पढ़ें |

मिथुन राशि :- मिथुन राशि वालों के लिये समय अनुकूल नहीं है विवादों से बचने का उपाय थोड़ा कठिन है | खुद को सामने वाले की जगह पर रख कर सिचुएशन को हैंडल करें | दाम्पत्य संबंधो को बचाना आपके हाँथ में है | दाम्पत्य सम्बन्ध मधुर बनाने का मन्त्र 53 बार रोज पढ़ें |

कर्क राशि :- कर्क राशि वालों लिये समय कुछ ठीक नहीं है | दाम्पत्य जीवन में युद्ध के बादल मंडराते रहेंगे | सावधानी हटते ही दुर्घटना घट सकती है  | बेहतर होगा कि आप माता की शरण में जायें | दाम्पत्य सम्बन्ध मधुर बनाने का मन्त्र ईशान दिशा की ओर मुंह करके 33 बार रोज जप करें |

 

सिंह राशि :- सिंह राशि वालों के लिये समय कुछ नाजुक है | पति - पत्नी को आपसी विवाद से बचना होगा | ध्यान रखें छोटी - छोटी बातें मिलकर बड़ी हो सकती हैं | कभी-कभी घुटन महसूस कर सकते हैं | दाम्पत्य सम्बन्ध मधुर बनाने का मन्त्र 51 बार रोज पढ़ें |

कन्या राशि:- कन्या राशि वालो के लिये समय बहुत अच्छा है | दाम्पत्य जीवन में ढेर सारा प्यार आयेगा |  परिवार में खुशियाँ बढेंगी | एक बात का खास ख्याल रखें, खुद को बुरी नजर से बचायें | दाम्पत्य सम्बन्ध मधुर बनाने का मन्त्र उत्तर दिशा की ओर मुंह करके 21 बार रोज पढ़ें |

तुला राशि:- तुला राशि वालों को सावधान रहना होगा | आप अपनी समझदारी से दाम्पत्य सम्बन्ध को बिगड़ने से बचा सकते हैं | अपने साथी को समझाने की कोशिश कीजिये | दाम्पत्य सम्बन्ध मधुर बनाने का मन्त्र पूर्व की ओर मुंह करके 11 बार रोज जप करें |

वृश्चिक राशि :- वृश्चिक राशि वालों आपके जीवन में नया प्रेम दस्तक देने वाला है | अगर आप विवाहित है तो दाम्पत्य सम्बन्धों में  मधुरता बढ़ेगी | दाम्पत्य सम्बन्ध बेहतर बनाने के लिये मां दुर्गा की उपासना करें और हप्ते में एक दिन मौन व्रत रहें | दाम्पत्य सम्बन्ध मधुर बनाने का मन्त्र 32 बार जरुर पढ़ें |

धनु राशि :- धनु राशि वालों के लिये समय अनुकूल है | पति-पत्नी के बीच हल्की-फुल्की तकरार होगी पर आपसी प्यार में कोई कमी नहीं आयेगी और पैसे की बरसात होगी | दाम्पत्य सम्बन्ध मधुर बनाने का मन्त्र पश्चिम दिशा की ओर मुंह करके 21 बार रोज पढ़ें |

मकर राशि :- मकर राशि वालों के लिये समय कुछ ठीक नहीं है | व्यवसायिक या किसी और वजह से जीवन साथी से दूर रहना पड़ सकता है | हो सकता है आप काम के सिलसिले में बाहर जायें |  दाम्पत्य सम्बन्ध मधुर बनाने का मन्त्र ईशान दिशा की ओर मुंह करके 53 बार रोज जप करें |

कुम्भ राशि :- कुम्भ राशि वालों के लिये समय अच्छा है | दाम्पत्य सम्बन्ध मधुर होंगे, आपसी प्रेम बढ़ेगा आपके लिये शक वाली कोई बात नहीं है | आपका ज्यादातर समय प्रदूषण मुक्त वातावरण में गुजरेगा | दाम्पत्य सम्बन्ध मधुर बनाने का मन्त्र 21 बार रोज पढ़ें |

मीन राशि :- मीन राशि वालों के लिये ये समय ख़ुशी का सन्देश लेकर आया है | दाम्पत्य जीवन में आपसी प्रेम बढ़ेगा | जीवन साथी के नाम से वाहन या property (जमीन) खरीदने का योग बन रहा है | दाम्पत्य सम्बन्ध मधुर बनाने का मन्त्र 33 बार रोज पढ़ें |

पति पत्नी के रिश्ते में मधुरता लाने का मंत्र,

विधेहि देवी कल्याणं विधेहि परमां श्रियम |

रूपं देहि जयं देहि यशो देहि द्विषो जहि ||

महागौरी बरसायेंगी प्यार ही प्यार :-

उपाय (१):- नवमी के दिन स्वेतार्क यानि सफ़ेद मदार का पौधा लाकर घर में लगायें | दिवाली के दिन पौधे की पूजा करें | सफ़ेद मदार के पौधे की पूजा से आपको जरुर लाभ होगा | पति पत्नी के बीच प्यार बढ़ेगा |

उपाय (२):-

अखण्ड सौभाग्य और दाम्पत्य प्रेम बढ़ाने का उपाय सरल है | घर की मालकिन तुलसी का पौधा लाकर, अपने हाथ से सवा दो हाँथ ऊंचाई पर लगायें | इस तुलसी के पौधे के नीचे कृष्णपक्ष की अष्टमी से चतुर्दशी तक दीपक जरुर जलायें | तुलसी जी को सिन्दूर चढायें | नित्य जल दें | अखण्ड सौभाग्य प्राप्त होगा और दाम्पत्य प्रेम बढ़ेगा |

उपाय (३):- प्रेम पूर्ण संबंधों के लिये उपाय करें | दो जमुनिया रत्न लेकर उन्हें गंगाजल में डूबा दें | हर शनिवार को इस गंगा जल को घर में छिड़काव करें | प्रेम सम्बन्ध मधुर होंगे |

उपाय (४) :- आपसी प्रेम और हार्मोनी के लिये उपाय करें | पति पत्नी रात को सोते समय कपूर और लाल सिंदूर तकिये के नीचे रखकर सोयें | कपूर को सुबह जला दें और सिंदूर को पूरे घर में छिड़क दें | आपसी प्रेम बढ़ेगा |

उपाय (५) :- हाथी के पैर के नीचे की मिट्टी लेकर उसकी छह गोलियां बना लें | ध्यान रखें उन गोलियों को धूप में नहीं बल्कि छाया में सुखा लें | इन्हें मिट्टी के एक पात्र में घर के दक्षिण पश्चिम में रख दें | आपका दाम्पत्य प्रेम बढ़ेगा |

उपाय (६) :- झाड़ू की दो सींको को उल्टा - सीधा रखकर नीले धागे से बांधकर घर के दक्षिण - पश्चिम में रखने से दाम्पत्य प्रेम बढ़ेगा |

उपाय(७):- पति पत्नी दोनों के भोजन से कुछ हिस्सा निकाल कर रोज चिड़ियों को देने से आपसी प्रेम बढ़ता है |

उपाय(8):- यदि पति की नशे की आदत की वजह से दाम्पत्य प्रेम में खलल हो तो घोड़े का पसीना लेकर उसपर दाम्पत्य प्रेम मधुर बनाने का मन्त्र 54 बार पढ़कर हाथों में लगाकर पति को सुंघाने से नशे की आदत छूट जाती है


 

महागौरी

नवरात्र का आठवां दिन माँ के महागौरी रूप को समर्पित होता है | देवी के महागौरी रूप की आराधना करने वाला जीवन मे हर सुन्दरता को हासिल कर लेता है | महागौरी को खुश कर सभी पापों से मुक्ति पाई  जा सकती है | माँ महागौरी की कृपा हो गई तो जीवन में धन और वैभव की कमी नहीं होती है |

अष्टम महागौरी -

नवरात्री के आंठवें दिन पूजा की जाती है माँ महागौरी की यानि देवी महागौरी दुर्गा की आंठवी शक्ति का रूप है | माता गौरी शिव का आह्नवान करती है | हे महादेव, तुम्हारी ही सारी शक्तियां  मुझमे निहित है | हे देवो के देव, आप ऐसी शक्तियां प्रदान कीजिये जिससे शुंभ निशुंभ नाम के दो राक्षस भाइयों का संहार हो सके | जिन्होंने संसार में हाहाकार मचा रखा है | माना जाता है कि भगवान शंकर ने अपनी सारी शक्तियां महागौरी को दी और महागौरी ने शुंभ निशुंभ का नाश किया, शुंभ-निशुंभ, चंड-मुंड, रक्त बीज जैसे दैत्यों का संहार करने के लिये देवी ने अलग - अलग रूप धरे, कभी गौरवर्णा हो गयीं तो कभी साक्षात मृत्यु बन गयीं | देवी का यही स्वरुप कभी लक्ष्मी, कभी माँ सरस्वती तो कभी माँ काली कहलाया | इसमें एक रूप महागौरी का भी था दुर्गम नाम के राक्षस को मारने के कारण देवी का नाम दुर्गा पड़ा |

मेष राशि :- मेष राशि वालों के दाम्पत्य सम्बन्ध मधुर होंगे | पति पत्नी के बीच प्यार बढ़ेगा दोनों एक दूसरे पर न्योछावर रहेंगे | आपस में बातचीत करने से दूरियां कम होगी | परिवार में हंसी ख़ुशी का माहौल रहेगा | दाम्पत्य सम्बन्ध मधुर बनाने का  मन्त्र 11 बार रोज पढ़ें |

वृष राशि :- वृष राशि वालों  के लिये समय बहुत अच्छा है | आपके दाम्पत्य सम्बन्ध मर्यादित रहेंगे | पति - पत्नी के बीच प्यार बढ़ेगा साथ ही लक्ष्मी की कृपा होगी और घर में धन की बरसात होगी | दाम्पत्य सम्बन्ध बढ़ाने का मन्त्र पूर्व की ओर मुंह करके 32 बार रोज  पढ़ें |

मिथुन राशि :- मिथुन राशि वालों के लिये समय अनुकूल नहीं है विवादों से बचने का उपाय थोड़ा कठिन है | खुद को सामने वाले की जगह पर रख कर सिचुएशन को हैंडल करें | दाम्पत्य संबंधो को बचाना आपके हाँथ में है | दाम्पत्य सम्बन्ध मधुर बनाने का मन्त्र 53 बार रोज पढ़ें |

कर्क राशि :- कर्क राशि वालों लिये समय कुछ ठीक नहीं है | दाम्पत्य जीवन में युद्ध के बादल मंडराते रहेंगे | सावधानी हटते ही दुर्घटना घट सकती है  | बेहतर होगा कि आप माता की शरण में जायें | दाम्पत्य सम्बन्ध मधुर बनाने का मन्त्र ईशान दिशा की ओर मुंह करके 33 बार रोज जप करें |

 

सिंह राशि :- सिंह राशि वालों के लिये समय कुछ नाजुक है | पति - पत्नी को आपसी विवाद से बचना होगा | ध्यान रखें छोटी - छोटी बातें मिलकर बड़ी हो सकती हैं | कभी-कभी घुटन महसूस कर सकते हैं | दाम्पत्य सम्बन्ध मधुर बनाने का मन्त्र 51 बार रोज पढ़ें |

कन्या राशि:- कन्या राशि वालो के लिये समय बहुत अच्छा है | दाम्पत्य जीवन में ढेर सारा प्यार आयेगा |  परिवार में खुशियाँ बढेंगी | एक बात का खास ख्याल रखें, खुद को बुरी नजर से बचायें | दाम्पत्य सम्बन्ध मधुर बनाने का मन्त्र उत्तर दिशा की ओर मुंह करके 21 बार रोज पढ़ें |

तुला राशि:- तुला राशि वालों को सावधान रहना होगा | आप अपनी समझदारी से दाम्पत्य सम्बन्ध को बिगड़ने से बचा सकते हैं | अपने साथी को समझाने की कोशिश कीजिये | दाम्पत्य सम्बन्ध मधुर बनाने का मन्त्र पूर्व की ओर मुंह करके 11 बार रोज जप करें |

वृश्चिक राशि :- वृश्चिक राशि वालों आपके जीवन में नया प्रेम दस्तक देने वाला है | अगर आप विवाहित है तो दाम्पत्य सम्बन्धों में  मधुरता बढ़ेगी | दाम्पत्य सम्बन्ध बेहतर बनाने के लिये मां दुर्गा की उपासना करें और हप्ते में एक दिन मौन व्रत रहें | दाम्पत्य सम्बन्ध मधुर बनाने का मन्त्र 32 बार जरुर पढ़ें |

धनु राशि :- धनु राशि वालों के लिये समय अनुकूल है | पति-पत्नी के बीच हल्की-फुल्की तकरार होगी पर आपसी प्यार में कोई कमी नहीं आयेगी और पैसे की बरसात होगी | दाम्पत्य सम्बन्ध मधुर बनाने का मन्त्र पश्चिम दिशा की ओर मुंह करके 21 बार रोज पढ़ें |

मकर राशि :- मकर राशि वालों के लिये समय कुछ ठीक नहीं है | व्यवसायिक या किसी और वजह से जीवन साथी से दूर रहना पड़ सकता है | हो सकता है आप काम के सिलसिले में बाहर जायें |  दाम्पत्य सम्बन्ध मधुर बनाने का मन्त्र ईशान दिशा की ओर मुंह करके 53 बार रोज जप करें |

कुम्भ राशि :- कुम्भ राशि वालों के लिये समय अच्छा है | दाम्पत्य सम्बन्ध मधुर होंगे, आपसी प्रेम बढ़ेगा आपके लिये शक वाली कोई बात नहीं है | आपका ज्यादातर समय प्रदूषण मुक्त वातावरण में गुजरेगा | दाम्पत्य सम्बन्ध मधुर बनाने का मन्त्र 21 बार रोज पढ़ें |

मीन राशि :- मीन राशि वालों के लिये ये समय ख़ुशी का सन्देश लेकर आया है | दाम्पत्य जीवन में आपसी प्रेम बढ़ेगा | जीवन साथी के नाम से वाहन या property (जमीन) खरीदने का योग बन रहा है | दाम्पत्य सम्बन्ध मधुर बनाने का मन्त्र 33 बार रोज पढ़ें |

पति पत्नी के रिश्ते में मधुरता लाने का मंत्र,

विधेहि देवी कल्याणं विधेहि परमां श्रियम |

रूपं देहि जयं देहि यशो देहि द्विषो जहि ||

महागौरी बरसायेंगी प्यार ही प्यार :-

उपाय (१):- नवमी के दिन स्वेतार्क यानि सफ़ेद मदार का पौधा लाकर घर में लगायें | दिवाली के दिन पौधे की पूजा करें | सफ़ेद मदार के पौधे की पूजा से आपको जरुर लाभ होगा | पति पत्नी के बीच प्यार बढ़ेगा |

उपाय (२):-

अखण्ड सौभाग्य और दाम्पत्य प्रेम बढ़ाने का उपाय सरल है | घर की मालकिन तुलसी का पौधा लाकर, अपने हाथ से सवा दो हाँथ ऊंचाई पर लगायें | इस तुलसी के पौधे के नीचे कृष्णपक्ष की अष्टमी से चतुर्दशी तक दीपक जरुर जलायें | तुलसी जी को सिन्दूर चढायें | नित्य जल दें | अखण्ड सौभाग्य प्राप्त होगा और दाम्पत्य प्रेम बढ़ेगा |

उपाय (३):- प्रेम पूर्ण संबंधों के लिये उपाय करें | दो जमुनिया रत्न लेकर उन्हें गंगाजल में डूबा दें | हर शनिवार को इस गंगा जल को घर में छिड़काव करें | प्रेम सम्बन्ध मधुर होंगे |

उपाय (४) :- आपसी प्रेम और हार्मोनी के लिये उपाय करें | पति पत्नी रात को सोते समय कपूर और लाल सिंदूर तकिये के नीचे रखकर सोयें | कपूर को सुबह जला दें और सिंदूर को पूरे घर में छिड़क दें | आपसी प्रेम बढ़ेगा |

उपाय (५) :- हाथी के पैर के नीचे की मिट्टी लेकर उसकी छह गोलियां बना लें | ध्यान रखें उन गोलियों को धूप में नहीं बल्कि छाया में सुखा लें | इन्हें मिट्टी के एक पात्र में घर के दक्षिण पश्चिम में रख दें | आपका दाम्पत्य प्रेम बढ़ेगा |

उपाय (६) :- झाड़ू की दो सींको को उल्टा - सीधा रखकर नीले धागे से बांधकर घर के दक्षिण - पश्चिम में रखने से दाम्पत्य प्रेम बढ़ेगा |

उपाय(७):- पति पत्नी दोनों के भोजन से कुछ हिस्सा निकाल कर रोज चिड़ियों को देने से आपसी प्रेम बढ़ता है |

उपाय(8):- यदि पति की नशे की आदत की वजह से दाम्पत्य प्रेम में खलल हो तो घोड़े का पसीना लेकर उसपर दाम्पत्य प्रेम मधुर बनाने का मन्त्र 54 बार पढ़कर हाथों में लगाकर पति को सुंघाने से नशे की आदत छूट जाती है |

 


 

सिद्धिदात्री

आज नवरात्री का नौंवा दिन है और आज पूजा की जाती है देवी सिद्धिदात्री की | देवी सिद्धिदात्री मां दुर्गा की नौवी शक्ति का रूप है | कमल पर विराजमान होने के कारण इन्हें माँ कमला भी कहा जाता है | माँ सिद्धिदात्री भगवान विष्णु की अर्धांगिनी है | देवी सिद्धिदात्री सुख समृद्धि और धन की प्रतीक हैं | कहा जाता है कि देवी सिद्धिदात्री में संसार की सारी शक्तियां हैं | देवी सिद्धिदात्री ने मधु और कैटभ नाम के राक्षसों का वध करके दुनिया का कल्याण किया | सिद्धिदात्री सिद्धि देने वाली देवी है | ये अपने भक्तों की सभी इच्छाओं को पूरा करती हैं |

सबसे पहले डॉक्टर, इंजीनियर, administrator और IT professionals के लिये सफलता के उपाय -

डॉक्टर - चने या चने की दाल दान करें |

इंजीनियर - बालों में लगाने का क्लिप दान करें |

प्रशासक - जुराब दान करें |

IT professionals - हेयर बैंड दान करें |

जो लोग armed फोर्सेस, tele - communication , corporate और merchant navy में हैं उनके लिये भी उपाय बहुत आसान है |

armed forces - चुनरी या दुपट्टा दान करें |

tele - communication - परफ्यूम दान करें |

corporate - जूते या चप्पल दान करें |

merchant navy - दूध पिलायें |

जिन लोगों ने आठ दिन का व्रत रखा है वो आज कन्या खिलायेंगे | दिल्ली में इसे कंजके कहते हैं | कन्याओं को दान क्या करें कि सटीक फल मिले, हम आपको बतायेंगे |

अब बात कन्या भोज और दान भोज के लिये :

कम से कम सात कन्या और एक लंगूर (बालक) को भोजन कराना चाहिये | अगर आप एक कन्या भी खिलायेंगे तो आपको फायदा होगा |

कैसे पायें नये कारोबार में कामयाबी:-

उपाय (१) :- 5 पान के पत्ते और पांच अलग - अलग मिठाई लें और साथ में 5 फूल, 10 कपूर, 10 लौंग मिलायें | फूलों की पत्तियों और मिठाइयों को मिला लें पान के पांचो पत्तों पर मिठाई और फूल रखें नींबू काट दें लेकिन दोनों हिस्से अलग नहीं होने चाहिये, नींबू के हर पीस पर एक - एक लौंग और कपूर रखें बाद में इन्हें जला दें अगले दिन सुबह से सब नदी में डाल दें, कारोबार में आपको सफलता जरूर मिलेगी |

उपाय(२) :- पांच गुडहल के फूल अलग - अलग आटे  की 5 लोइयों में दबा कर इन आटे की लोइयों को आज देवी को चढ़ा दें और कल यानि दशमी के दिन इन्हें सांड (बैल) को खिला दें ...आप चाहे जिस कारोबार में हो, आपको कामयाबी जरुर हासिल होगी |

उपाय (३) :- पांच टुकड़े फिटकरी 6 नीले फूल और एक कमर में बांधने की बेल्ट आज देवी को चढ़ा दें कल यानि दशमी को बेल्ट किसी कन्या को दान कर दें ....नीले फूल बहते पानी में डालें और फिटकरी के टुकड़ो को संभाल कर अपने पास रखें इंटरव्यू में जाते वक़्त या अपने कारोबार से जुड़े किसी महत्वपूर्ण काम पर जाते वक़्त ये फिटकरी के टुकड़े अपने साथ ले जाना न भूलें ...सफलता मिलेगी |

क्या दें कन्याओं को तोहफा :-

रीयल स्टेट से जुड़े लोग - पत्थर की मूर्ती दान करें |

व्यापारी - साबुत मूंग दाल दान करें |

ट्रांसपोर्टर्स - नमकीन और बादाम दान करें |

उद्योगपति - सोने की कोई चीज दान करें |

लोहा व्यवसायी - काजू और किशमिश दान दें |

सर्राफा व्यवसायी - मीठा शर्बत पिलायें |

मीडियाकर्मी - कमर की बेल्ट दान करें |

बैंकर्स - केला और चावल दान दें |

ठेकेदार - नकद पैसे दान करें |

फिल्म और ग्लैमर से जुड़े लोग दही दान करें |

खिलाड़ी - मसूर की दाल दान करें |

ज्योतिषी और संत - धार्मिक किताब दान करें |

आज राम नवमी है | श्रीराम को स्मरण करने का दिन | वासान्तिक नवरात्र की नवमी राम नवमी कहलाती है | इस नवरात्र में राम रक्षा स्रोत का अनुष्ठान करने से सुखी शांत गृहस्थ जीवन, रक्षा और सम्मान प्राप्त होता है | अगर आपने नवरात्र में राम रक्षा स्रोत का अनुष्ठान नहीं किया है तो आज ही ग्यारह या इक्कीस जप कर लीजिये | अगर आप पूरा स्रोत नहीं पढ़ सकते तो एक श्लोक - श्री राम राम रघुनंदम राम राम ही पढ़ लीजिये | श्री राम का विख्यात मन्त्र है रां रामाय नम: | इस मन्त्र से मनुष्य बहुत सुख और सम्मान प्राप्त करता है | इस मन्त्र के छ: स्वरुप हैं |

श्री राम को कमल चढ़ाने से धन धान्य मिलता है | खुशियाँ आती है | हम आपको बतायेंगे क्या चढ़ायें रामनवमी के दिन भगवान राम को |

हर मन्त्र से मिलेगा फल

रां रामाय नम:  - ज्ञान पाने के लिये |

क्लीं रामाय नम:  -  सम्मोहन के लिये |

हीं रामाय नम:  - शक्ति के लिये |

एं रामाय नम:  - विद्या के लिये |

श्री रामाय नम: - धन के लिये |

ॐ रामाय नम:- शिव तत्व के लिये |

क्या चढ़ायें भगवान राम को :-

धन - धान्य के लिये - बेल के फूल |

राजा को वश में करने के लिये - चन्दन चमेली का फूल |

वशीकरण के लिये - नीले कमल |

लम्बी उम्र के लिये - दूब घास |

बुद्धि के लिये - नये पलाश के फूल |

ख़ुशी के लिये - लाल कमल |

 

 

Share this post

Submit Vasantiya Navraatra in Delicious Submit Vasantiya Navraatra in Digg Submit Vasantiya Navraatra in FaceBook Submit Vasantiya Navraatra in Google Bookmarks Submit Vasantiya Navraatra in Stumbleupon Submit Vasantiya Navraatra in Technorati Submit Vasantiya Navraatra in Twitter