आज का राहुकाल/ 10 दिसंबर-16 दिसंबर (दिल्ली)

  • Mon
  • Tue
  • Wed
  • Thu
  • Fri
  • Sat
  • Sun
आज का राहुकाल
08:20 - 09:38

आज का राहुकाल
14:50 - 16:08

आज का राहुकाल
12:14 - 13:32

आज का राहुकाल
13:33 - 14:51

आज का राहुकाल
10:57 - 12:15

आज का राहुकाल
09:40 - 10:58

आज का राहुकाल
16:10 - 17:28

विभिन्न राशियों में हर्षल का प्रभाव
अनुवाद उपलब्ध नहीं है |

विभिन्न राशियों में हर्षल का प्रभाव


मेष- राशि में हर्षल व्यक्ति को दृढ़ता से अपनी बात कहने वाला तथा अपने पक्ष को कभी सही ढंग से रखने वाला तो कभी-कभी उदंडता से कहने वाला बनाता है । ये कभी कभी विद्रोही स्वभाव के तो कभी हिंसात्मक प्रवृत्ति के होते हैं । ऐसे लोग बिना थके लगातार कार्य करते हैं और अड़ियल स्वभाव के होते हैं।

वृष- राशि में हर्षल व्यक्ति को हठी और जिद्दी स्वभाव का बनाता है । ये अपने व्यवसाय में हमेशा परिवर्तन करते रहते हैं और नई विधा को अपनाते हैं । भौतिकता से छुटकारा पाने की कोशिश में लगे रहते हैं और कुछ हद तक परम्परा के प्रति आस्थावान होते हैं । इनके पास अचानक जितनी आसानी से पैसा आता है उतनी ही आसानी से चला भी जाता है ।

मिथुन- राशि में हर्षल विचारों में स्वन्त्रता प्रदान करने के साथ नए विचारों का जन्म भी करता है । ये लोग बिना थके लगन से अपना काम करते हैं, लेकिन अनुशासन के मामले में कमजोर होते हैं । ये अपने बनाए रास्ते पर काम करना पसंद करते हैं । विज्ञान, साहित्य और शिक्षा के क्षेत्र में ये प्रवीण होते हैं। साथ ही इलेक्ट्राॅनिक्स, दूरसंचार और मीडिया के क्षेत्रों में भी ये सफल होते हैं ।

कर्क- राशि में हर्षल व्यक्ति को परिवारिक या घरेलू जीवन के प्रति गैर परंपरावादी बनाता है । इनका विचार कभी भी स्थिर नहीं होता । ये काम को भावनात्मक रूप से करते हैं, जिसका वास्तविकता से कोई संबंध नहीं होता । ये लोग अधिकतर अन्र्तमुखी होते हैं, लेकिन इनकी कल्पना शक्ति प्रबल होती है । इनके मित्र कम और विरोधी अधिक होते हैं । किसी भी काम को पूरा करने के लिये इन्हें बहुत प्रयासरत होना पड़ता है ।

सिंह- राशि में हर्षल व्यक्ति को अड़ियल और दूसरों की राय को न मानने वाला बनाता है। इससे वह अपनी हानि स्वयं करता है । ये अपनी संतान के प्रति समर्पित और उदार हृदय वाले होते हैं । अपने बच्चों के साथ पिता का कम, दोस्त का रिश्ता अधिक निभाते हैं । इनका अधिकतर जीवन एक शुभचिन्तक की तलाश में ही बीत जाता है।

कन्या- राशि में हर्षल के होने से व्यवसाय में लगातार परिवर्तन होता है । रोजगार पाने में हमेशा कुछ न कुछ बाधा बनी रहती है । ये किसी भी समस्या के दोनों पहलू देखते है, जिससे कई बार समाधान पाने में अधिक समय बीत जाता है । ये दीर्घसूत्री होते हैं, स्वास्थ्य संबंधी परेशानी से निजात पाने के लिये ये कई तरह के इलाज करवाते हैं ।

तुला- में हर्षल रहने पर दूसरों से संबंध बनाए रखना मुश्किल हो जाता है । दरअसल ये संबंधों में स्वतंत्रता चाहते हैं और दूसरों की राय को कोई महत्व नहीं देते । सामाजिक जीवन जीना पसन्द है, लेकिन यहां भी अपने स्वतंत्रता प्रिय स्वभाव के कारण असफल होते हैं । ये सिर्फ अपने बराबर वालों से ही सम्बन्ध बनाकर रखते हैं । इनके जीवन का तराजू ऊपर-नीचे होता रहता है । व्यवसाय में भी ये असफल सिद्ध होते हैं।

वृश्चिक- राशि में हर्षल मानसिक असन्तुष्टि देता है । ये अपने कल्पनालोक में खोए रहते हैं । गुप्त ज्ञान प्राप्त करने के इच्छुक रहते हैं और काम-वासना के प्रति इनका झुकाव होता है । ये अपने पैसों के प्रति अधिक चिंता नहीं रखते । कई बार धोखा-धड़ी से या किसी अन्य तरह से इन्हें विशाल सम्पत्ति प्राप्त हो जाती है, लेकिन दुव्र्यसनों के कारण ये उस सम्पत्ति का नाश कर देते हैं, साथ ही सामाजिक यश भी समाप्त कर लेते हैं ।

धनु- राशि में हर्षल व्यक्ति को परम्परा विरोधी बनाता है । इनके विचार असंगत होते हैं खासकर कि धार्मिक विचारों में तो इनकी बिल्कुल भी रूचि नहीं होती । ये थोड़े अंधविश्वासी किस्म के होते हैं । लेकिन इस सब के चलते ये लोग टूरिज्म के क्षेत्र में बहुत ख्याति प्राप्त करते हैं । ये अच्छे शोध करने वाले और एस्ट्रोनाॅट भी बनते हैं ।

मकर- राशि में हर्षल होने पर व्यक्ति इतना प्रभावशाली हो जाता है कि सरकारी क्षेत्र में रहने पर सरकार की नीति और दिशा बदल सकता है । उसी तरह किसी व्यापार में भी कार्य करने के तरीके बदलकर व्यापार को ऊंचाई पर पहुंचा सकते हैं । कार्य क्षेत्र में अपने नए विचारों से बदलाव करके अग्रणी बने रहते हैं ।

कुम्भ- राशि में हर्षल व्यक्ति को बुद्धिमान बनाता है तथा स्वतन्त्र कार्य शैली अपनाकर सफलता प्राप्त करने के गुर सिखाता है । व्यक्ति हमेशा जिज्ञासु बना रहता है । नई नई चीजों की खोज में लगा रहता है । जिससे उसकी उन्नति होती है । ये गैर परम्परावादी, लेकिन संवेदनशील होते हैं ।

मीन- राशि में हर्षल होने से व्यक्ति रहस्यमय ज्ञान को नए तरीके से जानने का इच्छुक होता है । नई कलाओं और विधाओं को जन्म देता है तथा संगीत के क्षेत्र में सफल होता है। ये विदेश में ख्याति प्राप्त करते हैं । धन सम्पत्ति अर्जित करना इनका उद्देश्य होता है।

Share this post

Submit विभिन्न राशियों में हर्षल का प्रभाव in Delicious Submit विभिन्न राशियों में हर्षल का प्रभाव in Digg Submit विभिन्न राशियों में हर्षल का प्रभाव in FaceBook Submit विभिन्न राशियों में हर्षल का प्रभाव in Google Bookmarks Submit विभिन्न राशियों में हर्षल का प्रभाव in Stumbleupon Submit विभिन्न राशियों में हर्षल का प्रभाव in Technorati Submit विभिन्न राशियों में हर्षल का प्रभाव in Twitter