English

श्रीहरि का नृसिंह अवतार- कैसे आप अपनी बुरी आत्मा एवं शत्रुओं से रक्षा कर सकते हैं |

शास्त्रों में ऐसी मान्यता है कि बुरी आत्मा एवं शत्रुओं से रक्षा के लिए यदि नृसिंह जयंती के दिन शाम को नृसिंह भगवान के मंत्र का जाप किया जाए तो सभी बाधाओं से अवश्य मुक्ति मिलती है. हिन्दू पंचांग के अनुसार नृसिंह जयंती का व्रत वैशाख माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को मनाया […]

श्रीहरि का नृसिंह अवतार- कैसे आप अपनी बुरी आत्मा एवं शत्रुओं से रक्षा कर सकते हैं | Read More »

वट सावित्री व्रत कथा और पूजा विधि

वट सावित्री व्रत संवत 2074 ज्येष्ठ कृष्ण अमावस्या जानिये वट सावित्री व्रत कथा व पूजा विधि वट सावित्री व्रत एक ऐसा व्रत जिसमें हिंदू धर्म में आस्था रखने वाली स्त्रियां अपने पति की लंबी उम्र और संतान प्राप्ति की कामना करती हैं । उत्तर भारत में तो यह व्रत काफी लोकप्रिय है । इस व्रत

वट सावित्री व्रत कथा और पूजा विधि Read More »

चातुर्मास में नहीं होंगे शुभ कार्य

आषाढ़ माह के शुक्ल पक्ष की एकादशी को देवशयनी एकादशी होती है । देवशयनी एकादशी को हरिशयनी, पद्मनाभा तथा प्रबोधनी के नाम से भी जाना जाता है । भविष्य पुराण, पद्म पुराण तथा श्रीमद्भागवत पुराण के अनुसार हरिशयन को योगनिद्रा एकादशी भी कहा गया है । इसी दिन से चातुर्मास का आरंभ माना गया है

चातुर्मास में नहीं होंगे शुभ कार्य Read More »

कैसे प्रश्न कुंडली की सहायता से जान सकते हैं अपने सवालों का जवाब।

श्न ज्योतिष, ज्योतिष कि वह कला है जिससे आप अपने मन की कार्यसिद्धि को जान सकते है। कोई घटना घटित होगी या नहीं, यह जानने के लिए प्रश्न लग्न देखा जाता है। प्रश्न ज्योतिष मै उदित लगन के विषय में कहा जाता है कि लग्न मे उदित राशि के अंश अपना विशेष महत्व रखते है। प्रश्न ज्योतिष

कैसे प्रश्न कुंडली की सहायता से जान सकते हैं अपने सवालों का जवाब। Read More »