हिरा और मानिक के बाद पुखराज (Pukhraj gemstone) सबसे कठोर रत्नों में आता है | यह मुख्यत: यह पीले रंग का होता

हिन्दू धर्म की मान्यताओं के अनुसार दान (Donation) करना सबसे बढ़ा पुण्य है | किसी भी व्यक्ति की कुंडली में जब कोई

वर्ष में एक दिन ऐसा आता है जिसका हर भाई बहन को इंतज़ार रहता है | यह त्यौहार हर श्रावण मॉस की

श्रावण माह के शुक्ल पक्ष के दसवें दिन स्त्रियाँ हिन्दू धर्म का सबसे बड़ा व्रत करती हैं | इस व्रत में माता लक्ष्मी

कपूर (kapur) शुरू से ही हिन्दू धार्मिक कार्यों में बहुत महत्व रखता है | हिन्दू धर्म के अनुसार कपूर को काफी पवित्र

यमुनोत्री धाम (Yamunotri Mandir) चार धामों में से एक हिमालय की पर्वत श्रृंखला पर स्थित है | चार धाम की यात्रा इसी

नाग हमारी हिन्दू संस्कृति में बहुत महत्व रखते हैं | इसलिए हर श्रावण माह के शुक्ल पक्ष में पंचमी तिथि के दिन

प्राचीन समय में हकीक (Hakik) रत्न को योद्धाओं का पत्थर कहा जाता था | यह एक षट्कोणीय क्रिस्टल होता है जो की

भारतीय संस्कृति में गुरु की उपाधि भगवान से भी ऊपर मानी गयी है | गुरु के दिखाए मार्ग पर चल कर ही

आज के समय में बिना पैसों के जीवन बहुत मुश्किल है | इसीलिए आज के वक्त इंसान के पास नौकरी (job) होना

भारत में कईं धार्मिक स्थल और मंदिर हैं | और हर मंदिर और धार्मिक स्थल पर भक्त गण पूजा अर्चना के लिए

उड़ीसा के पूर्वी तट पर स्थित श्री जगन्नाथ पुरी में भगवान श्री जगन्नाथ जी की रथ-यात्रा (Jagannath Rath Yatra 2019) का उत्सव