त्योहारहिंदी

कैसे मनाया जाता है जन्माष्टमी का त्यौहार

Image result for janmashtami 2019

भगवान श्री कृष्ण के जन्म के उपलक्ष में मनाया जाने वाला त्यौहार जन्माष्टमी (Janmashtami 2019) बड़े उत्साह के साथ मनाया जाता है | यह त्यौहार हर भाद्रपद माह के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि के दिन मनाया जाता है | इस बार यह त्यौहार 24 अगस्त के दिन मनाया जायेगा | इस दिन कईं मन्दिरों में झांकियां निकलती हैं और श्री कृष्ण को झुला झुलाया जाता है | साथ ही साथ रासलीला का आयोजन भी किया जाता है |

माना जाता है की, श्री कृष्ण देवकी और वासुदेव के आंठवे पुत्र थे | श्री कृष्ण के मामा मथुरा नगरी के बहुत अत्याचारी राजा थे | कंस के पापों का घड़ा भर जाने के बाद आकाशवाणी होती है की उसकी बहन देवकी का आंठवा पुत्र ही उसका वध करेगा | यह सुन वसुदेव और देवकी को कंस एक कालकोठरी में बंद कर देते हैं | इसके बाद कंस एक के बाद एक अपनी बहन के सात संतानों को मार देता है | फिर जब श्री कृष्ण का जन्म होता है तब भगवान विष्णु वासुदेव को आदेश देते हैं की श्रीकृष्ण को गोकुल में यशोदा माता और नंद बाबा के पास पहुंचा आएं | जहाँ श्री कृष्ण कंस के प्रकोप से बच जाएँ | तभी से उनके जन्म की ख़ुशी में हर वर्ष जन्माष्टमी (Janmashtami 2019) का उत्सव मनाया जाता है |

इसी उपलक्ष में धी हांड़ी की प्रतियोगिता का आयोजन भी किया जाता है | इस प्रतियोगिता में लडकों का एक समूह एक के उपर एक चढ़ता है और काफी ऊँचाई पर लटकी हुई दही की हांड़ी को फोड़ता है | इसी और मुश्किल बनाने के लिए आस पास के लोग लडकों पर पानी फेंकते हैं | हांड़ी पहले फोड़ने वाला समूह जीत जाता है | इस प्रतियोगिता के ज़रिए लोग श्री कृष्ण को याद करते हैं क्योंकि वे बचपन में ऐसी ही सबके घरों में जा कर हांड़ी में से धी चुराते थे |

इसके आलावा अपने जीवन की किसी भी समस्या का समाधान जानने के लिए आचार्य इंदु प्रकाश जी से परामर्श हेतु सम्पर्क करें |

#Janmashtami #KrishnaJanmashtami #Dahihandi #Shreekrishna #Dwarka #Festivals

Leave a Response


Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /home/customer/www/acharyainduprakash.com/public_html/blog/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 492