Month: December 2018

कैसे लगाया जा सकता है व्यक्ति की योग्यताओं का अनुमान

सम्पूर्ण विश्व में प्रसिद्ध भारतीय अखंड ज्योतिषशास्त्र के द्वारा जातक की जन्मकुंडली को देखकर उसकी योग्यता का अनुमान आसानी से लगा सकते हैं और ज्योतिषशास्त्र में सर्वप्रथम किया जाने वाला सर्वाधिक आवश्यक कार्य होता है। वर्तमान समय के इस भौतिक वातावरण को देखते हुये व्यक्ति के करियर में श्रेष्ठतम सफलता का मूलभूत श्रोत है। क्योंकि …

कैसे लगाया जा सकता है व्यक्ति की योग्यताओं का अनुमान Read More »

कैसे कर देता है व्यक्ति को प्रभावित जन्मकुंडली में बना कालसर्प दोष

ज्योतिषशास्त्र के अनुसार काल सर्प दोष को एक अशुभ योग कहा जाता है माना जाता है कि यदि किसी जातक की जन्मकुंडली में राहु और केतु ग्रह के बीच में सभी ग्रह आ जाए तो काल सर्प योग बनता है। कालसर्प योग को ज्योतिषशास्त्र व धर्म शास्त्र के अनुसार पूर्वजन्मों का कर्म कहा जाता है। …

कैसे कर देता है व्यक्ति को प्रभावित जन्मकुंडली में बना कालसर्प दोष Read More »

जानिये किस वार को कौन सा तिलक लगाना माना जाता है शुभ

हिन्दू धर्म ग्रंथों के अनुसार हर वार- तिथि का अपना-अपना एक विशेष महत्व होता है जो व्यक्ति को अपने प्रभाव से घेरे रखता है आज जानते है ज्योतिषशास्त्र व धर्म शास्त्र के अनुसार कि किस वार को कौन सा तिलक लगाना शुभ माना जाता है | सोमवार – सोमवार का दिन भगवान शंकर का दिन …

जानिये किस वार को कौन सा तिलक लगाना माना जाता है शुभ Read More »

जन्मकुंडली में अशुभ चंद्र ग्रह के प्रभाव से दिल-दहलाने वाली बीमारियाँ

मानव जीवन में हर व्यक्ति चाहता है कि मेरा जीवन सदैव हर प्रकार से खुशियाँ से भरा रहे और में एक सुखी जीवन यापन करता रहूँ परन्तु ग्रहों की चाल ऐसा कहाँ होने देती जो की सम्पूर्ण ब्रह्माण्ड में अपना दब-दवाव बनाये रखती है। भारतीय फलित ज्योतिष गणना के अनुसार ग्रह कहीं न कहीं से …

जन्मकुंडली में अशुभ चंद्र ग्रह के प्रभाव से दिल-दहलाने वाली बीमारियाँ Read More »

क्यों माना जाता है मलमास (खरमास) को मांगलिक कार्यों के लिए निषेध ?

भारतीय ज्योतिषशास्त्र व इस  खंड प्रत्यक्ष शास्त्रपर अध्ययन कर रहे ज्योतिषीय विद्वदजनों के अनुसार खरमास का प्रारम्भ रविवार 16 दिसंबर 2018से होगा और यह 14 जनवरी 2019 तक रहेगा। माना जाता है की इस माह के दौरान विवाह कार्य समेत सभीप्रकार के मंगल कार्य नहीं किये जाते है। मलमास जिसे एक खरदोष नाम से जाना …

क्यों माना जाता है मलमास (खरमास) को मांगलिक कार्यों के लिए निषेध ? Read More »

क्यों आता है व्यक्ति के चलते व्यापार में उतार-चढ़ाव

भारतीय अखंड ज्योतिष शास्त्र के अनुसार बुध ग्रह को व्यापार का कारक ग्रह माना जाता है। बुध ग्रह अपनी कई विशेष कलाओं के कारण नवग्रहों में एक अपनी अलग पहचान बनाये रखता है।  किसी भी व्यापार में सफलता के लिए बुध का बली होना आवश्यक होता है। क्योंकि बुध बुद्धि-विवेक और सोच-विचार की शक्ति प्रदान …

क्यों आता है व्यक्ति के चलते व्यापार में उतार-चढ़ाव Read More »

नहीं किया जाता है इन पांच नक्षत्रों में शुभ-अशुभ काम

भारतीय ज्योतिष शास्त्र को प्राचीन काल से जातक के मार्गदर्शक रूप में सदैव सर्वोपरि माना गया है जो की हर मानव प्राणी को प्रभावित करता है ज्योतिषशास्त्र का सम्पूर्ण ज्ञान 27 नक्षत्रों में समाहित है इनमें से अंत के पांच नक्षत्रों को पंचक का नाम दिया है जिसे अशुभ नक्षत्र माना जाता है कहा जाता …

नहीं किया जाता है इन पांच नक्षत्रों में शुभ-अशुभ काम Read More »

आखिर क्यों माना जाता है एक मुखी रुद्राक्ष को कल्याणकारी

भारतीय पौराणिककथाओं के अनुसार भगवान शिव को सम्पूर्ण संसार का कल्याणकारी देव ˜माना जाता है। भगवान शिव के द्वारा ही उत्पन्न प्रत्यक्ष रूप में एक मुखी रुद्राक्ष मानव जीवन को सुखमय व कल्याणकारी बनाने के लिए प्रकट किया। इस एक मुखी रुद्राक्ष की उत्पत्ति भगवान शिव ने अपने नेत्रों से भू धरा पर गिरे प्रथम …

आखिर क्यों माना जाता है एक मुखी रुद्राक्ष को कल्याणकारी Read More »

जन्मकुंडली के प्रथम भाव में सूर्य ग्रह का प्रभाव

भारतीय अखण्ड ज्योतिष शास्त्र के अनुसार मानव जीवन में सूर्य ग्रह का विशेष महत्व है। हिन्दू धर्म में सूर्य को तेजोमयी देव का स्वरूप मानकर इनकी विधि  विधान से पूजा-अर्चना की जाती है। यह ग्रह धरती पर ऊर्जा का सबसे बड़ा प्राकृतिक अद्भुद स्रोत है। वैदिक ज्योतिष के अनुसार सूर्य को सभी ग्रह , नक्षत्रों …

जन्मकुंडली के प्रथम भाव में सूर्य ग्रह का प्रभाव Read More »

ज्योतिषशास्त्र के अनुसारकिन-किन लोगों को मिलता है अपना मनचाहा प्रेम

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार व्यक्ति की जन्मकुंडली में एक ऐसा स्थान (भाव) होता है जिसे हर कोई भी व्यक्ति प्राप्त करना चाहता है। यह न उम्र देखता है ना जाति-पाती का बंधन। थोड़ा सा अनुकूल वातावरण मिलते ही दो दिलों के बीच प्रेम पनपने लगता है। आजकल के इस भौतिक जीवन में जहां स्त्री-पुरुषों का …

ज्योतिषशास्त्र के अनुसारकिन-किन लोगों को मिलता है अपना मनचाहा प्रेम Read More »