Month: August 2018

क्या है मंगलवार व्रत का महत्व और उसकी विधि?

सभी हनुमान भक्त मंगलवार और शनिवार का व्रत हनुमान जी के लिए रह सकते हैं. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार मंगलवार का व्रत उन्हें करना चाहिए जिनकी कुंडली में मंगल ग्रह निर्बल हो और जिसके चलते वह शुभ फल नहीं दे रहा हो. मंगलवार व्रत से लाभ: इस व्रत से कुंडली का मंगल गृह शुभ फल देने वाला …

क्या है मंगलवार व्रत का महत्व और उसकी विधि? Read More »

क्या है सोमवार व्रत का महत्व, क्या है इसकी विधि ?

सप्ताह के सातों दिन किसी न किसी ईश्वर की पूजा, भक्ति और व्रत के लिए होते हैं पर सोमवार का दिन हिन्दू धर्म परमपराओं के अनुसार भगवान शिव जी को समर्पित होता है, क्युकी ऐसा माना जाता है कि शिव जी की भक्ति हर पल ही शुभ होती है। सच्चे मन से पूजा की जाए …

क्या है सोमवार व्रत का महत्व, क्या है इसकी विधि ? Read More »

ये है रक्षा बंधन का शुभ महूरत, इस मंत्र का करें उच्चारण होगा लाभ

इस मंत्र का करें उच्चारण येन बद्धो बली राजा दानवेन्द्रो महाबल: तेन त्वामनुबध्नामि रक्षे मा चल मा चल: अर्थात – जिस प्रकार राजा बलि में रक्षा सूत्र से बंधकर विचलित हुए बिना अपना सब कुछ दान कर दिया, उसी प्रकार हे रक्षा! आज मैं तुम्हें बांधता हूं, तू भी अपने उद्देश्य से विचलित न होना …

ये है रक्षा बंधन का शुभ महूरत, इस मंत्र का करें उच्चारण होगा लाभ Read More »

क्या है जन्माष्टमी का महत्व ? जानिए श्री कृष्ण के बारे मैं कुछ रोचक बातें

जन्माष्टमी के दिन भगवान श्री कृष्ण के जन्मोत्सव को मनाया जाता है| अष्टमी तिथि का महत्व इसलिये है क्योंकि वह वास्तविकता के प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष स्वरूपों में सुन्दर संतुलन को दर्शाता है| भगवान श्रीकृष्ण का अष्टमी तिथि के दिन जन्म होना यह दर्शाता है कि वे आध्यात्मिक और सांसारिक दुनिया में पूर्ण रूप से परिपूर्ण थे …

क्या है जन्माष्टमी का महत्व ? जानिए श्री कृष्ण के बारे मैं कुछ रोचक बातें Read More »

हम रक्षा बंधन क्यों मनाते हैं, क्या है इस त्यौहार का महत्व ?

रक्षाबंधन भाई बहनों का त्योहार है जो मुख्यत: हिन्दुओं में प्रचलित है पर इसे भारत के सभी धर्मों के लोग समान उत्साह और भाव से मनाते हैं। पूरे भारत में इस दिन का माहौल देखने लायक होता है। हिन्दू श्रावण मास (जुलाई-अगस्त) के पूर्णिमा के दिन मनाया जाने वाला यह त्योहार भाई का बहन के …

हम रक्षा बंधन क्यों मनाते हैं, क्या है इस त्यौहार का महत्व ? Read More »