bhavishyavani

mata

माता महालक्ष्मी व्रत से होगी धन की वृद्धि

नीके दिन जब आइहैं, बनत न लगिहैं देर जब एक हुआ तो दस होते दस हुए तो सौ की इच्छा है | सौ पाकर भी यह सोच हुआ की सहस्त्र हों तो अच्छा है | बस यही हाल है हम सब का जिसके पास जितना है उससे और अधिक की लालसा बनी रहती है हम […]

माता महालक्ष्मी व्रत से होगी धन की वृद्धि Read More »

जानिए बुद्धि व वाणी का स्वामी बुध ग्रह का मानव जीवन पर प्रभाव

अखंड भारतीय ज्योतिष शास्त्र के अनुसार  बुध  ग्रह  को भगवान गणपति जी का स्वरुप के साथ- साथ बुद्धि का प्रदाता भी कहा जाता है और देवताओं का संदेशवाहक भी। ज्योतिष गणना के अनुसार बुध ग्रह को भ राशि चक्र में मिथुन और कन्या राशि को अधिपति माना है। बुध ग्रह हर मानव प्राणी के जीवन

जानिए बुद्धि व वाणी का स्वामी बुध ग्रह का मानव जीवन पर प्रभाव Read More »

जानिये कैसे जन्म कुंडली मे प्रकट करता है राजत्व प्रभाव गज केशरी योग

 भारतीय अखण्ड़ ज्योतिष के अनुसार जन्मकुंडली में बन रहे गुरु और चंद्र के योग से गजकेशरी योग प्रकट होता है। जिसे गज केशरी राज योग के नाम से भी जाना जाता है। वैदिक ज्योतिष के अनुसार यदि किसी जन्मकुंडली में बृहस्पति चंद्रमा एक ही स्थान में हो तो ऐसी स्थिति में जातक की जन्मकुंडली में

जानिये कैसे जन्म कुंडली मे प्रकट करता है राजत्व प्रभाव गज केशरी योग Read More »

जानिये ज्योतिष शास्त्र के अनुसार चंद्र ग्रह का मानव जीवन में शुभ-अशुभ प्रभाव

भारतीय ज्योतिष गणना के अनुसार ब्रह्माण्ड के तमाम ग्रह, नक्षत्रों व पिंडों के माध्यम से मानव जगत पर पढ़ने वाले अनेकों शुभ – अशुभ प्रभाव का सार्थक अध्ययन जो की हमारे ऋषि-मुनीयों के हजारों वर्ष के तप व संचरण से अखंड ज्योतिष शास्त्र का उद्गमन हुआ जो आज के युग में विख्यात व सम्पूर्ण विश्व

जानिये ज्योतिष शास्त्र के अनुसार चंद्र ग्रह का मानव जीवन में शुभ-अशुभ प्रभाव Read More »

चार धामों में से एक “केदारनाथ मंदिर”

मंदिर के पवित्र स्थल की आंतरिक दीवारे पौराणिक कथाओ और बहुत से देवी – देवताओ की चित्रकला से विभूषित है। प्रतिष्ठित मंदिर की उत्पत्ति के प्रमाण हमें महान महाकाव्य महाभारत में दिखाई देते है। यह मंदिर भारत के उत्तराखंड में केदारनाथ की मंदाकिनी नदी के पास वाली घरवाल हिमालय पर्वत श्रुंखालओ पर बना हुआ है। चरम

चार धामों में से एक “केदारनाथ मंदिर” Read More »

जानें कहां कहां लगता है कुंभ मेला

कुम्भ पर्व विश्व मे किसी भी धार्मिक प्रयोजन हेतु भक्तों का सबसे बड़ा संग्रहण है. लाखों की संख्या में लोग इस पावन पर्व में उपस्थित होते हैं. कुम्भ का संस्कृत अर्थ है कलश, ज्योतिष शास्त्र में कुम्भ राशि का भी यही चिह्न है. हिन्दू धर्म में कुम्भ का पर्व हर 12 वर्ष के अंतराल पर

जानें कहां कहां लगता है कुंभ मेला Read More »

भाइयों से नहीं बनती तो करें ये उपाय

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार मंगल ग्रह का मानव जीवन में बहुत ही महत्व पूर्ण स्थान है। वैदिक ज्योतिष  के अनुसार यदि मंगल ग्रह की परिभाषा दी जाए तो उन लोगो का मंगल ग्रह ख़राब होता है जिनकी यारी दोस्ती कम होती है या अपने ही भाइयो से नहीं बनती है। यदि इंसान अपने ही भाई

भाइयों से नहीं बनती तो करें ये उपाय Read More »

शुक्रवार विशेष : धन प्राप्ति के लिए करे ये उपाय

शुक्रवार माँ लक्ष्मी जी का दिन है। मां लक्ष्मी जी अपनी अर्चना से उतना प्रसन्न नहीं होती जितना अधिक भगवान विष्णु जी की आराधना से खुश होती हैं। अतः जल्दी ही धन प्राप्ति की इच्छा रखने वाले लोगों को शुक्रवार के दिन दक्षिणावर्ती शंख में जल भरकर भगवान विष्णु जी का अभिषेक करना चाहिए। इससे

शुक्रवार विशेष : धन प्राप्ति के लिए करे ये उपाय Read More »

गुरुवार व्रत और पूजा विधि

गुरुवार का दिन भगवान बृहस्पति की पूजा के लिए शुभ माना गया है। शास्त्रों के अनुसार भगवान बृहस्पति साधु और संतों के देव माने गए हैं और इसी तरह पीला रंग संपन्नता का प्रतीक भी है। यही वजह है कि पीला रंग इस दिन को समर्पित किया गया है। गुरुवार का व्रत बड़ा ही फलदायी

गुरुवार व्रत और पूजा विधि Read More »

सोमवार के दिन ऐसे करें शिव जी को प्रसन्न

सोमवार के दिन शिव जी की पूजा करने से उनकी विशेष कृपा प्राप्त होती है। उनके पूजन के लिए अलग-अलग विधान भी है। भक्त जैसे चाहे अपनी कामनाओं के लिए उनकी पूजा कर सकते है। शवे भक्ति:शिवे भक्ति:शिवे भक्तिर्भवे भवे।। अन्यथा शरणं नास्ति त्वमेव शरंण मम्।। उच्चारण में अत्यंत सरल शिव शब्द अति मधुर है।

सोमवार के दिन ऐसे करें शिव जी को प्रसन्न Read More »