Month: March 2019

अनजाने में भी ना करें नई-नई जगहों पर जाकर पूजा

आज के बदलते समाज और बदलती जीवन शैली में लोग अपने रीति-रिवाज, देवी-देवताओं को भूलते जा रहे है जबकि ऐसा नहीं करना चाहिए। आज की युवा पीढ़ी बहुत ही सफल, शिक्षित है। लेकिन कही न कही अज्ञानता के कारण अपने पूर्वजो के द्वारा चलाये गये रीति-रिवाजो को मानने की बजाए उनके विपरीत/विमुख होती जा रही …

अनजाने में भी ना करें नई-नई जगहों पर जाकर पूजा Read More »

इस राम नवमी बढ़ाएं व्यापार और दाम्पत्य जीवन में खुशियाँ

भगवान राम के जन्म दिवस को राम नवमी (Ram Navmi) के रूप में मनाया जाता है | राम जी का जन्म अभिजित नक्षत्र में दोपहर बारह बजे चैत्र शुक्ल पक्ष नवमी को हुआ था | मान्यता है की इस दिन सभी घरों  में खीर. पूरी और हलवा बनता है | भगवान राम विष्णु जी के …

इस राम नवमी बढ़ाएं व्यापार और दाम्पत्य जीवन में खुशियाँ Read More »

क्या आपको अपना कारोबार शुरू करना है ?

प्राचीन काल से चली आ रही रीति से व्यक्ति सदैव दो रास्तों पर चलता आ रहा है | वह अपनी योग्यताओं और क्षमताओं के अनुसार अपनी आजीविका के साधन को चुनता रहता है कभी वह अपने खुद के व्यवसाय (business) के पीछे दौड़ता है तो कभी वह नौकरी करने के लिए घर से दूर चला …

क्या आपको अपना कारोबार शुरू करना है ? Read More »

अगर नहीं बन रहा है आपका कोई भी काम

अगर आपको भी लग रहा है कि आपका कोई भी काम ठीक से नहीं बन पा रहा है या आप जो काम करते हैं, उसका आप सही फल नहीं मिल पा रहा है, भाग्य(luck) आपका साथ नहीं दे रहा है या पढ़ाई(education) के मामले में आपको कोई सपोर्ट नहीं कर रहा है या संतान के …

अगर नहीं बन रहा है आपका कोई भी काम Read More »

छे मुखी रुद्राक्ष के फायदे, ज्ञान और तीव्र बुद्धि

रुद्राक्ष (Rudraksha) की उत्पत्ति भगवान शिव के रूद्र से हुई है इसलिए इसका नाम रुद्राक्ष पड़ा। रुद्राक्ष को पूर्ण विधिवत व श्रद्धा अनुसार धारण करने से भगवान शिव की तो विशेष कृपा प्राप्त होती ही है साथ में रुद्राक्ष को उनके मुख के अनुसार धारण करने से अलग-अलग देवों द्वारा भी आशीर्वाद प्राप्त होता है। …

छे मुखी रुद्राक्ष के फायदे, ज्ञान और तीव्र बुद्धि Read More »

आपकी जन्मकुंडली का आपके भाग्य से क्या सम्बंध है ?

इस चराचर जगत में मनुष्य अपने को श्रेष्ठ बनाने के लिए कठिन से कठिन मेहनत करने में कसर नहीं छोड़ता पर भाग्य यदि कमजोर हो तो वह सारी मेहनत असफल साबित हो जाती है इस लिए कर्म के साथ भाग्य भी अपने स्थान पर एक महत्व पूर्ण स्थान बनाए रखा हुआ है। मानव जीवन के …

आपकी जन्मकुंडली का आपके भाग्य से क्या सम्बंध है ? Read More »

जब शिव जी ने काटा भ्रह्मा का सर | कालाष्टमी

भारतीय धर्म ग्रंथों के अनुसार व ज्योतिष शास्त्र द्वारा निर्मित हिंदु पंचाग के अनुसार हर माह की कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को कालाष्टमी (Kalashtmi) का पर्व भारत वर्ष में बड़े धूम-धाम से मनाया जाता है। कालाष्टमी को ‘भैरवाष्टमी’ के नाम से भी जाना जाता है। भगवान भोलेनाथ के भैरव रूप के स्मरण मात्र से …

जब शिव जी ने काटा भ्रह्मा का सर | कालाष्टमी Read More »

इस दिन ना जलाएं घर में चूल्हा, मिलेगा यह फल

शीतला सप्तमी (Sheetla Saptmi) का त्योहार हिन्दू कैलेंडर के अनुसार चैत्र मास के कृष्ण पक्ष की सप्तमी तिथि को मनाया जाता है। इस बार शीतला सप्तमी का व्रत 27 मार्च, बुधवार को है। वहीं कुछ जगह पर ये व्रत अष्टमी तिथि पर भी मनाया जाता है। मुख्य रूप से ये त्योहार उत्तर प्रदेश, राजस्थान और …

इस दिन ना जलाएं घर में चूल्हा, मिलेगा यह फल Read More »

जीवन के सुख-दुख के सहारे के लिए ज्योतिष का बड़ा योगदान है

ज्योतिषशास्त्र (Astrology) का प्रधान कार्य मानव जीवन को फलादेश कर्म से जोड़े रखना ही है। कर्म के परिपाक को व कर्म के फल को अभिव्यक्ति करना ही ज्योतिष का कार्य है। जिस प्रकार अंधकार में स्थित वस्तुओं का दर्शन दीप के सहारे होता है ठीक उसी तरह ज्योतिष (Astrology) के अनुसार ग्रहों के सहारे कर्म …

जीवन के सुख-दुख के सहारे के लिए ज्योतिष का बड़ा योगदान है Read More »

संतान प्राप्ति या चाहते हों लम्बी आयु, करें इसकी पूजा

हिंदू धर्म में पीपल के पेड़ का बहुत बड़ा महत्व है | माना जाता है की पीपल के पेड़ पर देवी-देवताओं का वास होता है | इस पेड़ को श्रेष्ठ देव वृक्ष की पदवी भी मिली है| वैज्ञानिक नज़रिए से देखने पर भी पीपल के पेड़ हमारे लिए काफी महत्वपूर्ण है | विज्ञान के मुताबिक …

संतान प्राप्ति या चाहते हों लम्बी आयु, करें इसकी पूजा Read More »