bhavishyavani

जय श्री राम – राम जन्म कुंडली और राम नवमी

जब-जब पृथ्वी पर बुराई अपने पांव पसारती है, तब-तब भगवान मानव अवतार में जन्म लेकर पृथ्वी पर आते हैं और बुराई का अंत करते हैं । शास्त्रों में वर्णन है कि विष्णु जी के अवतार श्री राम का जन्म भी बुराई का अंत करने के लिये और धर्म की पुनः स्थापना करने के लिये अयोध्या […]

जय श्री राम – राम जन्म कुंडली और राम नवमी Read More »

श्रीराम के प्रसिद्ध मंदिर

मर्यादा पुरूषोत्तम भगवान श्री राम भारतवासियों के दिल में बसते हैं । भगवान श्री राम के जीवन से जुड़े कहे अनकहे सत्य भारत देश की पवित्र भूमि पर अनेकों जगह मिलते हैं। ऐसी ही कुछ जगहों के बारे में हम आपको बता रहे हैं जो आपको भगवान राम के इतिहास से अवगत कराती है। अयोध्या

श्रीराम के प्रसिद्ध मंदिर Read More »

रामनवमी पर राशिअनुसार उपाय

इस अत्यंत चमत्कारी राम यंत्र की राम नवमी के दिन जल, अक्षत, रोली, पुष्प, इत्यादि से पूजा करके बतायी गयी राशिअनुसार रामचरित मानस की चैपाइयों का 108 बार जप करके अपनी इच्छित सभी मनोकामनाओं की पूर्ति करें. मेष- राशि वालों का कोई बहुप्रतीक्षित कार्य सम्पन्न होगा । इस दिन आप मनोरथ प्राप्ति के लिए इस चैपाई का जाप

रामनवमी पर राशिअनुसार उपाय Read More »

राम नवमी – भगवन श्री राम को जन्मदिन की बधाई

नाम             – श्री राम चन्द्र अवतार        – विष्णु के सातवें अवतार जन्म            – चैत्र शुक्ल पक्ष नवमी माता पिता- दशरथ-कौशल्या पत्नी             – सीता (लक्ष्मी अवतार) भाई  -भरत, लक्ष्मण और शत्रुघ्न बहन            –

राम नवमी – भगवन श्री राम को जन्मदिन की बधाई Read More »

अप्सरा साधना – कसे आप सबको अपनी तरफ सम्मोहित कर सकते हैं ?

हर किसी के मन में यह बात जरूर आती होगी कि काश, मैं अपने व्यक्तित्व से जिसको चाहूं उसको आपनी तरफ सम्मोहित कर सकूं लेकिन फिर भी आप इसमे विफल रहते हैं, तो आप रम्भा तृतीय के दिन व्रत कर देवी रम्भा की साधना कर अपने अन्दर वो आकर्षण प्राप्त कर सकते हैं, जिससे आप

अप्सरा साधना – कसे आप सबको अपनी तरफ सम्मोहित कर सकते हैं ? Read More »

21 May – विश्व सांस्कृतिक विविधता दिवस

पूरे विश्व में सांस्कृतिक विविधता का दिवस 21 मई को मनाया जायेगा । यह दिवस पूरे विश्व में अलग-अलग देशों की सांस्कृतिक महत्ता को दर्शाने के लिये, उनकी विविधता को जानने के लिये मनाया जाता है । दुनिया के सभी देशों की अपनी अलग भाषा, अलग परिधान और अलग-अलग सांस्कृतिक विशेषताएं हैं । हमारी भारतीय

21 May – विश्व सांस्कृतिक विविधता दिवस Read More »

नारद मुनि – कैसे बने विश्व के प्रथम पत्रकार

‘नारायण-नारायण’ गाते भगवन्नाम निरन्तर प्रेम रस सुधा सागर मग्न तन मन की स्मृति नहीं तनिक-सी, वृत्ति नित्य प्रभु पद संलग्न ।। सहज बजाते वीणा सुस्वर मधुर, लिये कर में करताल । हो उन्मत्त नृत्य करते, मुनि नारद रहते नित्यनिहाल’ सूचना और संवाद के क्षेत्र में सबसे पहला नाम नारद मुनि का ही आता है ।

नारद मुनि – कैसे बने विश्व के प्रथम पत्रकार Read More »

बुद्ध पूर्णिमा क्यों मनाई जाती है | क्या है इसका महत्व |

निराशाजनक वातावरण के युग में पूरे समाज में शांति, भाईचारे, प्रेम व एकता का संदेश देने वाले भगवान बुद्ध को समर्पित है बुद्ध पूर्णिमा का पर्व । वैशाख मास की पूर्णिमा का भारतीय संस्कृति में बेहद ही अद्वितीय स्थान है । यह पर्व अपने आप में कई ऐतिहासिक पलों को संजोये हुये है । पूर्णिमा

बुद्ध पूर्णिमा क्यों मनाई जाती है | क्या है इसका महत्व | Read More »

श्रीहरि का नृसिंह अवतार- कैसे आप अपनी बुरी आत्मा एवं शत्रुओं से रक्षा कर सकते हैं |

शास्त्रों में ऐसी मान्यता है कि बुरी आत्मा एवं शत्रुओं से रक्षा के लिए यदि नृसिंह जयंती के दिन शाम को नृसिंह भगवान के मंत्र का जाप किया जाए तो सभी बाधाओं से अवश्य मुक्ति मिलती है. हिन्दू पंचांग के अनुसार नृसिंह जयंती का व्रत वैशाख माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को मनाया

श्रीहरि का नृसिंह अवतार- कैसे आप अपनी बुरी आत्मा एवं शत्रुओं से रक्षा कर सकते हैं | Read More »

वट सावित्री व्रत कथा और पूजा विधि

वट सावित्री व्रत संवत 2074 ज्येष्ठ कृष्ण अमावस्या जानिये वट सावित्री व्रत कथा व पूजा विधि वट सावित्री व्रत एक ऐसा व्रत जिसमें हिंदू धर्म में आस्था रखने वाली स्त्रियां अपने पति की लंबी उम्र और संतान प्राप्ति की कामना करती हैं । उत्तर भारत में तो यह व्रत काफी लोकप्रिय है । इस व्रत

वट सावित्री व्रत कथा और पूजा विधि Read More »