आध्यात्मिकहिंदी

नवरात्र के दुसरे दिन पूजें माँ ब्रह्चारिणी

जैसा की नवरात्रि के दौरान नौ विशेष रात्रियों में माँ दुर्गा के नौ रूपों की पूजा अर्चना की जाती है और उनका आशीर्वाद प्राप्त किया जाता है | इसमें पहले दिन माँ शैलपुत्री की पूजा होती है, जिससे भक्त माता से भूमि, भवन और वाहन का आशीर्वाद प्राप्त करते हैं |

फिर दुसरे दिन माता ब्रह्मचारिणी (Mata Brahmacharini) के पूजन का दिन आता है | दिनांक 30 सितम्बर, 2019 को माँ दुर्गा के दुसरे स्वरुप माता ब्रह्मचारिणी की पूजा की जाएगी | ब्रह्मचारिणी में ब्रह्मा का अर्थ है तपस्या और चारिणी का अर्थ है  आचरण करने वाली, अर्थात ब्रह्मचारिणी का पूरा अर्थ है तप का आचरण करने वाली ।

इन माता के दाहिने हाथ में जप की माला है और बाय हाथ में कमंडल है | इस खास दिन माता ब्रह्मचारिणी की पूजा करने से भक्त को बहुत लाभ होते हैं |

– इन माता की पूजा अर्चना करने से भक्त में तप, त्याग और संयम की वृद्धि होती है |

– साथ ही भक्तों को शिक्षा और व्यवसाय में सफलता मिलती है |

– जीवन की कठिन परिस्थितियों में मन विचलित नहीं होता |

– माता के आशीर्वाद से सिद्धि की प्राप्ति होती है |

माँ ब्रह्मचारिणी (Mata Brahmacharini) का मंगल ग्रह पर आधिपत्य है, अर्थात इस देवी की पूजा से आपको मंगल ग्रह के सभी दोषों से मुक्ति मिलती है | अगर आप इस दिन मंगल यंत्र धारण करते हैं तो यह आपके लिए अत्यंत लाभदायक है |

अगर आप मंगल यंत्र धारण करने के लिए इसे प्राप्त करना चाहते हैं तो Astro E Shop वेबसाइट पर प्राप्त कर सकते हैं | इस वेबसाइट पर सही नक्षत्रों में बने यंत्र, रत्न और रुद्राक्ष मिलते हैं |

अपने जीवन की किसी भी समस्या का समाधान प्राप्त करने के लिए विश्वविख्यात ज्योतिषाचार्य इंदु प्रकाश जी से परामर्श लें, बुकिंग करने के लिए सम्पर्क करें |

Get the guidance for your life and life problems from best astrologer in Gurgaon Acharya Indu Prakash ji. To know more call us on – 9971000226.       

Leave a Response