Lord Vishnu

स्वर्ग की प्राप्ति के लिये करें वैकुंठ एकादशी व्रत

लाभ वैकुण्ठ एकादशी (Vaikunth Ekadashi) को मुक्कोटी एकादशी के नाम से भी जाना जाता है। ऐसी मान्यता है कि इस दिन वैकुण्ठ, जो की भगवान विष्णु का निवास स्थान है। जो श्रद्धालु इस दिन एकादशी का व्रत करते हैं उनको स्वर्ग की प्राप्ति होती है और उन्हें जन्म-मरण के चक्र से मुक्ति मिल जाती है। […]

स्वर्ग की प्राप्ति के लिये करें वैकुंठ एकादशी व्रत Read More »

कैसे हुई सफला एकादशी व्रत की शुरुआत

पौराणिक कथाओं के अनुसार एकादशी व्रत कथा व महत्व हर हिन्दू धर्म से जुड़ा हुआ व्यक्ति जानता होगा । हर मास की कृष्ण व शुक्ल पक्ष को मिलाकर दो एकादशियां आती हैं। इस दिन भगवान विष्णु की पूजा की जाती है। लेकिन यह बहुत कम जानते हैं कि एकादशी एक देवी थी जिनका जन्म भी

कैसे हुई सफला एकादशी व्रत की शुरुआत Read More »

दीपावली से जुडी अन्य कहानियाँ

दीपावली (Diwali) हमारा सबसे प्राचीन धार्मिक पर्व है। यह पर्व प्रतिवर्ष कार्तिक मास की अमावस्या को मनाया जाता है। देश-विदेश में यह बड़ी श्रद्धा, विश्वास एवं समर्पित भावना के साथ मनाया जाता है। यह पर्व ‘प्रकाश-पर्व’ के रूप में मनाया जाता है। इस पर्व के साथ अनेक धार्मिक, पौराणिक एवं ऐतिहासिक मान्यताएं जुड़ी हुई हैं।

दीपावली से जुडी अन्य कहानियाँ Read More »

सिद्धिविनायक मन्दिर का क्या है इतिहास ?

मुंबई में स्थित भगवान गणेश (Shree Ganesh) को समर्पित सिद्धिविनायक मन्दिर (Siddhivinayak Mandir) सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि पुरे विश्व में प्रसिद्ध है | इस मन्दिर का निर्माण 1801 में विट्ठु और देउबाई पाटिल ने करवाया था | यहाँ हर धर्म और जाती के भक्त भगवान गणेश (Shree Ganesh) के दर्शन करने आते हैं

सिद्धिविनायक मन्दिर का क्या है इतिहास ? Read More »

क्या है विष्णु जी के वराह अवतार की कहानी

कहा जाता है की धरती पर जुर्म बढ़ जाता है तो भगवान (God) धरती पर अवतार लेकर बुराई का सर्वनाश करने आते हैं | ऐसे ही एक अवतार थे वराह (Varaha Avtaar), जिन्हें भगवान विष्णु (Lord Vishnu) के दस अवतारों में से तीसरा अवतार कहा जाता है | इस अवतार का जन्म भाद्रपद मास में

क्या है विष्णु जी के वराह अवतार की कहानी Read More »

हरिशयनी एकादशी से होता है चातुर्मास की शुरुआत

अषाढ़ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी हरिशयनी एकादशी (Harishayani Ekadashi 2019 ) के रूप में मनाया जायेगा | इस दिन भ्ग्वाब विष्णु का पूजन किया जाता है और व्रत किया जाता है | इस बार यह तिथि 12 जुलाई, 2019 के दिन है | आषाढ़ शुक्ल एकादशी से कार्तिक शुक्ल एकादशी  तक हरिशयन का

हरिशयनी एकादशी से होता है चातुर्मास की शुरुआत Read More »

क्या है चातुर्मास ? इस दौरान क्यों नही करते कोई शुभ कार्य ?

15 जुलाई, 2019 से से चार महीने का पर्व यानि चातुर्मास (Chaturmas 2019) शुरु होगा | माना जाता है की इन महीनों में व्रत और पूजा कर विशेष फल प्राप्त होता है | यह पर्व सावन, भाद्रपद, आश्विन और कार्तिक महीनों के दौरान मनाया जाता है |देव शयन एकादशी से शुरू होने वाला चातुर्मास कार्तिक

क्या है चातुर्मास ? इस दौरान क्यों नही करते कोई शुभ कार्य ? Read More »

वास्तु दोष और ग्रह प्रवेश के लिए उत्तम है कुर्म जयंती

वैसाख मास की पूर्णिमा के दिन कुर्म जयंती (Kurma Jayanti 2019) का पर्व मनाया जाता है | हिंदू धर्म की मान्यता के अनुसार  भगवान विष्णु ने समुद्र मंथन में सहायता करने के लिए एक कुर्म यानि की एक कछुए का अवतार लिया था, ताकि वह अपनी पीठ पर मंदराचल पर्वत को धारण कर सकें |

वास्तु दोष और ग्रह प्रवेश के लिए उत्तम है कुर्म जयंती Read More »

श्री नृसिंह जयंती व्रत का महत्व

हर वैसाख मास में शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी तिथि को श्री नृसिंह जयंती (Narsingh Jayanti 2019) का व्रत किया जाता है | इस बार यह चतुर्दशी 17 मई, 2019 के दिन मनाई जायेगी | आपको बता दें की श्री नृसिंह शक्ति अवं पराक्रम के देवता है | पुरानों के अनुसार इसी दिन भगवान विष्णु ने

श्री नृसिंह जयंती व्रत का महत्व Read More »

मोहिनी एकादशी पूजा विधि और व्रत कथा

वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को मोहिनी एकादशी (Mohini Ekadashi 2019) कहा जाता है | इस बार यह एकादशी 15 मई 2019 के दिन मनाई जायेगी | इस दिन वैवाहिक रस्में और शुभ कार्य किये जाते हैं | इस दिन पूजा करने से सभी दुःख दूर होते हैं और साथ ही किये हुए

मोहिनी एकादशी पूजा विधि और व्रत कथा Read More »