ज्योतिषहिंदी

चांदी से सुधारें अपना जीवन

चांदी एक ऐसी धातु है जिसका हमारे जीवन में हर रोज इस्तेमाल होता है. धार्मिक दृष्टि से देखा जाये तो चांदी काफी पवित्र और शुद्ध धातु है | ज्योतिषशास्त्र में चांदी शुक्र और चंद्रमा से जुड़ा है | यह शरीर के जल तत्व को नियंत्रित करती है. चांदी मध्य मूल्यवान होने के कारण ज्यादा प्रयोग की जाती है. इसलिए आम आदमी की जिंदगी में चांदी का ज्यादा महत्व है.

कैसे करें चांदी का प्रयोग-

– चांदी का छल्ला कनिष्ठा उंगली में धारण करने से मन का संतुलन बहुत अच्छा हो जाता है | और तो और इससे अशुभ चंद्रमा शुभ प्रभाव देना शुरू कर देता है |
– चांदी की चेन को गले में भी धारण किया जा सकता है | इसको वाणी शुद्ध करता है और हमारे हार्मोंस संतुलित होने लगते है |
– शुद्ध चांदी का कड़ा धारण करने से वात पित्त और कफ नियंत्रण में रहते हैं |

Remove all your health problems by remedies and suggested by the world’s best astrologer Acharya Indu Prakash.

– चांदी के गिलास या कटोरी में पानी पीने से सर्दी जुकाम नहीं होता |
– चांदी की कटोरी या चम्मच से शुद्ध शहद का सेवन करने से शरीर विषमुक्त हो जाता है.
– शुद्ध चांदी के लोटे से पंचामृत जैसे की दूध, दही, घी, शहद, शक्कर सोमवार के दिन भगवान शिव को अर्पण करने से  शरीर के रोग खत्म होते हैं | मन शांत हो जाता है और ग्रहों की अशुभ दशा हम पर दुष्प्रभाव नहीं डालती है |

चांदी के प्रयोग में किन-किन सावधानियों का पालन करें

– चांदी की शुद्धता का ध्यान रखें | अशुद्ध चांदी के दुष्प्रभाव होते हैं |
– चांदी के साथ सोना तभी मिलाएं  जब ज़रुरी हो | बिना किसी वजह के सोना और चांदी को मिलाना से बचें | चांदी के साथ सोने के आलावा कोई और धातु को मिलाने से भी बचें |
– भावनात्मक समस्याओं में चांदी का प्रयोग करते समय सावधानी बरतें |
– कर्क, वृश्चिक और मीन राशि वालों के लिए चांदी हमेशा उत्तम है.
– मेष, सिंह और धनु राशि के लिए चांदी बहुत अनुकूल नहीं होती.
– बाकी राशियों के लिए चांदी के परिणाम सामान्य हैं |

Know your favorable gemstone, yantra or metal to help enhance your quality of life by meeting the gurgaon best astrologer Acharya Indu Prakash.

Leave a Response