आध्यात्मिक

कौन है लक्ष्मी जी की बड़ी बहन अलक्ष्मी

हम सभी देवी लक्ष्मी को भली भांति जानते हैं | यह देवी अपने भक्तों को धन और समृद्धि प्रदान करती है | इस देवी की उत्पत्ति समुद्र मंथन के दौरान हुई थी | पर यह काफी कम लोग ही जानते हैं की देवी लक्ष्मी की कोई बड़ी बहन भी है | देवी लक्ष्मी की बड़ी […]

कौन है लक्ष्मी जी की बड़ी बहन अलक्ष्मी Read More »

पिशाचमोचन श्राद्ध है बहुत खास

अभी इस दौरान अग्रायण मास चल रहा है जो की आने वाली तारिक 23 दिसम्बर तक रहेगा | इस दौरान 10 दिसम्बर को पिशाचमोचन श्राद्ध भी किया जाएगा | अग्रायण यानि मार्गशीर्ष मास के दौरान यह श्राद्ध करने की परम्परा है | पिशाचमोचन (Pishach) श्राद्ध वह खास दिन होता है, जिस दिन उन लोगों का

पिशाचमोचन श्राद्ध है बहुत खास Read More »

Shiv Shakti Trishul Damru Rudraksha Locket

शिव शक्ति लॉकेट से मिलेगा शिव का आशीर्वाद

भगवान शिव का आशीर्वाद जीवन में बहुत महत्व रखता है | शिव जी का आशीर्वाद जीवन में आगे बढने में और जीवन के हर मोड़ पर हमारी रक्षा करता है | भगवान शिव जी को प्रसन्न करना भी आसान माना जाता है | भगवान शिव का दूसरा नाम इसीलिए भोले शंकर भी है क्योंकी यह

शिव शक्ति लॉकेट से मिलेगा शिव का आशीर्वाद Read More »

क्या है गायत्री मंत्र का अर्थ

माँ गायत्री वेदमाता भी पुकारी जाती हैं। धार्मिक दृष्टि देखें तो गायत्री मन्त्र (Gayatri Mantra), इस समस्त ब्रह्माण्ड और व्याप्त जीवित जगत के कल्याण का सबसे बड़ा स्रोत है | ये एक ऐसा मंत्र है जिसकी उपासना स्वयं देवता भी करते हैं जिसके गुणों का वर्णन करना वेदों और शास्त्रों में भी संभव नहीं है।

क्या है गायत्री मंत्र का अर्थ Read More »

औरंगाबाद का देव सूर्य मन्दिर

मन्दिर हिन्दू धर्म में बहुत महत्व रखते हैं | जो व्यक्ति मन्दिर जाकर भगवान की पूजा अर्चना करता है, उस पर सदैव प्रभु का आशीर्वाद बना रहता है | भारत में एक से एक अनूठे और अद्भुत मंदिर देखने को मिलते हैं जिनकी कल्पना करना आज के दौर में भी बहुत मुश्किल है | ऐसे

औरंगाबाद का देव सूर्य मन्दिर Read More »

मंदिर किस दिशा में रखना होता है शुभ

पूजा पाठ सनातन धर्म में बहुत महत्वपूर्ण माना गया है | जो भी पूजा पाठ करता है और प्रभु की भक्ति करता है उसका मन शांत रहता है और सकारात्मक उर्जा से घिरे रहते है | वैसे तो आज भी कईं लोग पूजा करने मंदिर में ही जाते हैं किन्तु कुछ लोगों के लिए रोज़

मंदिर किस दिशा में रखना होता है शुभ Read More »

Stambheshwar-mahadev-mandir-gujarat

शिव पुराण में भी है स्तंभेश्वर महादेव मन्दिर का ज़िक्र

भारत में कई अद्भुत और विशाल मन्दिर हैं | कई ऐसे भी जिनकी माया आज भी लोगों को अचरज में दाल देती है | ऐसे ही कुछ मंदिरों में से एक है गुजरात स्थित भरूच ज़िले का स्त्म्भेश्वर महादेव मन्दिर (Stambheshwar Mandir) | इस मन्दिर की एक खास बात है जो इसे दुसरे कई मन्दिरों

शिव पुराण में भी है स्तंभेश्वर महादेव मन्दिर का ज़िक्र Read More »

स्वर्ग की प्राप्ति के लिये करें वैकुंठ एकादशी व्रत

लाभ वैकुण्ठ एकादशी (Vaikunth Ekadashi) को मुक्कोटी एकादशी के नाम से भी जाना जाता है। ऐसी मान्यता है कि इस दिन वैकुण्ठ, जो की भगवान विष्णु का निवास स्थान है। जो श्रद्धालु इस दिन एकादशी का व्रत करते हैं उनको स्वर्ग की प्राप्ति होती है और उन्हें जन्म-मरण के चक्र से मुक्ति मिल जाती है।

स्वर्ग की प्राप्ति के लिये करें वैकुंठ एकादशी व्रत Read More »

मकर संक्रांति का सूर्य देव से नाता

मकर संक्रांति (Makar Sankranti) को सूर्य के संक्रमण का त्यौहार माना जाता है। एक जगह से दूसरी जगह जाने अथवा एक-दूसरे का मिलना ही संक्रांति होती है। सूर्यदेव जब धनु राशि से मकर पर पहुंचते हैं तो मकर संक्रांति मनाई जाती है। सूर्य के राशि परिवर्तन को संक्रांति कहते हैं। यह परिवर्तन साल में एक

मकर संक्रांति का सूर्य देव से नाता Read More »

कैसे हुई सफला एकादशी व्रत की शुरुआत

पौराणिक कथाओं के अनुसार एकादशी व्रत कथा व महत्व हर हिन्दू धर्म से जुड़ा हुआ व्यक्ति जानता होगा । हर मास की कृष्ण व शुक्ल पक्ष को मिलाकर दो एकादशियां आती हैं। इस दिन भगवान विष्णु की पूजा की जाती है। लेकिन यह बहुत कम जानते हैं कि एकादशी एक देवी थी जिनका जन्म भी

कैसे हुई सफला एकादशी व्रत की शुरुआत Read More »