आध्यात्मिकहिंदी

रामायण की हर घटना है सच, यह हैं सबूत

राम और रामायण आदि काल से लोगों की आस्‍था का केन्‍द्र रहे हैं। रामायण की माने तो लंकेश रावण को मार कर प्रभु श्री राम ने धर्म की स्‍थापना की थी। क्‍या रावण के सच मे दस सिर और बीस हाथ थे। क्‍या हनुमान जी अपना रूप मनचाहा बढ़ा सकते थे। ऐसे कई सवाल है जो समय-समय पर लोगों के विचार मे आते हैं। उसमे सबसे बड़ा सवाल है राम सेतु का, जिसे श्री राम ने बना कर वानर सेना के साथ रावण की नगरी लंका पर हमला बोला था। आज हम आप को रामायण से जुड़े कुछ ऐसे तथ्‍यों से अवगत कराने जा रहे हैं जिसके बाद आप कह सकेंगे कि ये सब सत्‍य है (Proofs of Ramayan) । रामायण मे जो कुछ भी लिखा है वह सत्‍य है।

पानी पर तैरने वाले पत्थर – भारत और श्रीलंका के बीच की खाड़ी में ऐसे पत्थर पाए जाते हैं जो पानी पर तैरते हैं रामायण की कथा में भी ऐसे पत्थरों का जिक्र मिलता है इन्हीं पत्थरों की सहायता से भगवान राम की सेना ने राम सेतु का निर्माण किया था। इसके बारे में जानकर इतने समय बाद भी लोग हैरान रह जाते हैं की कोई पत्थर पानी में कैसे तैर सकता है |

रामायण (Proofs of Ramayan) की कथा के अनुसार जब लक्ष्मण जी मूर्छित हो गए थे तब हनुमान जी को हिमालय पर्वत भेजा गया। ताकि वह संजीवनी बूटी ला सकें। जब हनुमान जी संजीवनी बूटी को नहीं खोज पाए तो वह पूरा हिमालय पर्वत ही लंका तक उठाकर ले आए। श्रीलंका की जिस जगह पर हनुमान जी ने वह पर्वत रखा था उस जगह आज भी हिमालय की जड़ी बूटियों पाई जाती है।

अपने जीवन की किसी भी समस्या का समाधान प्राप्त करने के लिए आचार्य इंदु प्रकाश जी से परामर्श प्राप्त करें |

Leave a Response


Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /home/customer/www/acharyainduprakash.com/public_html/blog/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 492