Astrology

rashifal

तुला राशि वार्षिक राशिफल 2020

तुला राशि (Tula rashi 2020) के जातकों का करियर इस वर्ष थोडा अस्थिर रहेगा पर अच्छे अवसर भी मिलते रहेंगे | इस वर्ष पैसा निवेश करने से पहले किसी अनुभवी की सलाह लें | बाकि तुला राशि के लिए हर लिहाज़ से कैसा रहेगा वर्ष 2020 हम जानेंगे | सबसे पहले हम बात तुला राशि […]

तुला राशि वार्षिक राशिफल 2020 Read More »

गुरु नानक जयंती क्यों है इतनी खास

कार्तिक पूर्णिमा के दिन गुरु नानक जी (Guru Nanak Ji) का जन्मदिन मनाया जाता है| 15 अप्रैल 1469 को पंजाब के तलवंडी जो कि अब पाकिस्तान में हैं और जिसे ननकाना साहिब के नाम से भी जाना जाता है, में गुरु नानक ने माता तृप्ता व कृषक पिता कल्याणचंद के घर जन्म लिया| गुरू नानक

गुरु नानक जयंती क्यों है इतनी खास Read More »

Skanda Mata Navratri

माँ स्कंदमाता देती हैं मोक्ष का आशीर्वाद

श्री दुर्गा का पंचम रूप श्री स्कंदमाता (Maa skandmata) हैं। श्री स्कंद (कुमार कार्तिकेय) की माता होने के कारण इन्हें स्कंदमाता (Skanda mata) कहा जाता है। नवरात्रि के पंचम दिन इनकी पूजा और आराधना की जाती है। इनकी आराधना से विशुद्ध चक्र के जाग्रत होने वाली सिद्धियां स्वतः प्राप्त हो जाती हैं। इनकी आराधना से

माँ स्कंदमाता देती हैं मोक्ष का आशीर्वाद Read More »

kaise paye manchaha pyar

प्रेम प्राप्ति के उपाय

जीवन (Life) में प्रेम का बहुत महत्व होता है | सब कुछ होते हुए भी अगर प्रेम (love) ना हो तो जीवन व्यर्थ सा लगता है | मनुष्य एक सामाजिक जिव है और जीवन व्यतीत करने और अपना वंश आगे बढ़ाने के लिए सभी मनुष्यों को एक साथी (Life Partner) की ज़रूरत होती है |

प्रेम प्राप्ति के उपाय Read More »

12 मुखी रुद्राक्ष धारण करने के लाभ

सूर्य (Sun) सारे ब्रह्मांड (Universe) का केंद्र है और ज्योतिषशास्त्र (Astrology) में कहा जाता है की सूर्य सभी 9 ग्रहों के स्वामी भी हैं | अगर आप पर सूर्य की कृपा हो तो व्यापार और नौकरी (Job) सम्बंधित समस्याओं से मुक्ति मिलती है और साथ ही समाज में मान सम्मान भी बढ़ता है | पर

12 मुखी रुद्राक्ष धारण करने के लाभ Read More »

दक्षिणावर्ति शंख क्यों है सबसे खास

हिन्दू धर्म में शंख की महत्वता कम नहीं हैं | शंख (Shankha) उन चुनिंदा सामग्रियों में शुमार है जो किसी भी पूजन में बहुत महत्वपूर्ण होते हैं | इसकी उत्पत्ति माता लक्ष्मी की तरह ही समुद्र से हुई थी इसीलिए इसे माता लक्ष्मी के भाई की उपाधि दी गयी है | काफी समय पहले राजा

दक्षिणावर्ति शंख क्यों है सबसे खास Read More »

पाँच मुखी रुद्राक्ष क्यों धारण किया जाता है ?

रुद्राक्ष भगवान शिव को अति प्रिय हैं | शिव जी ने रुद्राक्ष अपने अति प्रिय भक्तों के कल्याण के लिए बनाया है | मुख्यत: पंच मुखी रुद्राक्ष यानि पाँच मुखी रुद्राक्ष (5 Mukhi Rudraksha) में शिव जी (Shiv Ji) की सभी शक्तियाँ समाहित हैं | इस रुद्राक्ष का स्वामी गुरु (Jupiter) ग्रह होता है जिससे

पाँच मुखी रुद्राक्ष क्यों धारण किया जाता है ? Read More »

शिक्षा और एकाग्रता बढ़ाता है 4 मुखी रुद्राक्ष

भगवान शिव कल्याण करने वाले देवता हैं | माना जाता है की भगवान शिव को खुश करना ज़्यादा मुश्किल भी नहीं है, शिव जी बहुत भोले हैं और यह उन देवताओं में से हैं जो भक्तों से जल्दी प्रसन्न हो जाते हैं | भगवान शिव हमेशा से चाहते रहे हैं की उनके भक्तों का कल्याण

शिक्षा और एकाग्रता बढ़ाता है 4 मुखी रुद्राक्ष Read More »

केतु के प्रकोप से बचें

वैसे तो केतु और राहू छाया ग्रह है, पर इनका प्रकोप काफी भयानक होता है | किन्तु ऐसा नही है की केतु ग्रह का प्रभाव हमेशा नकारात्मक हो, केतु ग्रह के प्रभाव सकारात्मक भी होते हैं | आध्यात्म, वैराग्य, मोक्ष, तांत्रिक आदि का कारक केतु होता है | कुंडली में केतु राहू से मिल कर

केतु के प्रकोप से बचें Read More »

घर में ऐसे रखें कछुआ, होंगे बहुत लाभ

कछुआ हिंदू ज्योतिष (Astrology) मान्यताओं में बहुत महत्व रखता है | बहुत समय पहले स्वयं भगवान विष्णु ने कछुआ का रूप धारण कर समुद्र मंथन के लिए मंद्रांचल पर्वत को अपने कवच पर रखा था | इसीलिए अपने घरों में कछुआ रखना बहुत शुभ माना जाता है | यहाँ तक की केवल हिन्दू ज्योतिष (Astrology) ही

घर में ऐसे रखें कछुआ, होंगे बहुत लाभ Read More »