mangal

मंगल यंत्र से कैसे मिलेगा आपको लाभ

हिंदू शास्त्रों में मंगल ग्रह (Mangal Yantra) को नवग्रहों में सबसे शक्तिशाली माना जाता है। ऐसा कहा जाता है कि जिस व्यक्ति की कुंडली में मंगल उच्च स्थान पर होता है, उस जातक को वह शुभ फल प्रदान करते है जैसे हर कार्य में सफलता प्राप्त होती है और समाज में मान सम्मान में वृद्धि […]

मंगल यंत्र से कैसे मिलेगा आपको लाभ Read More »

नवरात्र के दुसरे दिन पूजें माँ ब्रह्चारिणी

जैसा की नवरात्रि के दौरान नौ विशेष रात्रियों में माँ दुर्गा के नौ रूपों की पूजा अर्चना की जाती है और उनका आशीर्वाद प्राप्त किया जाता है | इसमें पहले दिन माँ शैलपुत्री की पूजा होती है, जिससे भक्त माता से भूमि, भवन और वाहन का आशीर्वाद प्राप्त करते हैं | फिर दुसरे दिन माता

नवरात्र के दुसरे दिन पूजें माँ ब्रह्चारिणी Read More »

मंगल ग्रह का जीवन पर प्रभाव

भारतीय अखंड ज्योतिष शास्त्र में मंगल (Mangal) ग्रह को कालपुरुष का पराक्रमी सेनापति ग्रह माना गया है। ब्रहमाण्ड में स्थित मंगल (Mangal) ग्रह पराक्रम, स्फूर्ति साहस, आत्मविश्वास, रक्त, भूमि, धैर्य, देश प्रेम, छोटे भाई-बहन, आन्तरिक बल, अचल सम्पति, दृढ़ता, महत्वाकांक्षा, खतरे उठाने की शक्ति, क्रोध, घृणा, उत्तेजना, झूठ, नैतिकता की हानि का कारक ग्रह है.

मंगल ग्रह का जीवन पर प्रभाव Read More »

भाइयों से नहीं बनती तो करें ये उपाय

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार मंगल ग्रह का मानव जीवन में बहुत ही महत्व पूर्ण स्थान है। वैदिक ज्योतिष  के अनुसार यदि मंगल ग्रह की परिभाषा दी जाए तो उन लोगो का मंगल ग्रह ख़राब होता है जिनकी यारी दोस्ती कम होती है या अपने ही भाइयो से नहीं बनती है। यदि इंसान अपने ही भाई

भाइयों से नहीं बनती तो करें ये उपाय Read More »