best astrologers in india

कौन है लक्ष्मी जी की बड़ी बहन अलक्ष्मी

हम सभी देवी लक्ष्मी को भली भांति जानते हैं | यह देवी अपने भक्तों को धन और समृद्धि प्रदान करती है | इस देवी की उत्पत्ति समुद्र मंथन के दौरान हुई थी | पर यह काफी कम लोग ही जानते हैं की देवी लक्ष्मी की कोई बड़ी बहन भी है | देवी लक्ष्मी की बड़ी […]

कौन है लक्ष्मी जी की बड़ी बहन अलक्ष्मी Read More »

फेंग शुई में घोड़े का महत्व

बात चाहे वास्तु शास्त्र की हो या फेंग शुई की, दोनों ही विद्याओं में ऐसा कहा गया है की घर या ऑफिस में कुछ जानवरों की प्रतिमाएं रखने से लाभ होता है | किसी जानवर की मूर्ति धन लाभ दिलाती है और किसी की घर में सुख शांति | ऐसी ही एक मान्यता है घोड़े

फेंग शुई में घोड़े का महत्व Read More »

Shiv Shakti Trishul Damru Rudraksha Locket

शिव शक्ति लॉकेट से मिलेगा शिव का आशीर्वाद

भगवान शिव का आशीर्वाद जीवन में बहुत महत्व रखता है | शिव जी का आशीर्वाद जीवन में आगे बढने में और जीवन के हर मोड़ पर हमारी रक्षा करता है | भगवान शिव जी को प्रसन्न करना भी आसान माना जाता है | भगवान शिव का दूसरा नाम इसीलिए भोले शंकर भी है क्योंकी यह

शिव शक्ति लॉकेट से मिलेगा शिव का आशीर्वाद Read More »

कैसे आपकी मदद करेगा फेंग शुई पिरामिड

जीवन में तनाव मुक्त रहना, आज के दौर में सबसे मुश्किल काम है | तनाव ही आपके जीवन में रोग, क्रोध जैसी अन्य नकारात्मक उर्जाओं का ज़िम्मेदार है | स्वस्थ और सकारात्मक जीवन के लिए आपका तनाव मुक्त रहना अत्यंत आवश्यक है | शुरुआत से ही तनाव दूर करने में फेंग-शुई ने हमारी बहुत मदद

कैसे आपकी मदद करेगा फेंग शुई पिरामिड Read More »

मंदिर किस दिशा में रखना होता है शुभ

पूजा पाठ सनातन धर्म में बहुत महत्वपूर्ण माना गया है | जो भी पूजा पाठ करता है और प्रभु की भक्ति करता है उसका मन शांत रहता है और सकारात्मक उर्जा से घिरे रहते है | वैसे तो आज भी कईं लोग पूजा करने मंदिर में ही जाते हैं किन्तु कुछ लोगों के लिए रोज़

मंदिर किस दिशा में रखना होता है शुभ Read More »

स्वर्ग की प्राप्ति के लिये करें वैकुंठ एकादशी व्रत

लाभ वैकुण्ठ एकादशी (Vaikunth Ekadashi) को मुक्कोटी एकादशी के नाम से भी जाना जाता है। ऐसी मान्यता है कि इस दिन वैकुण्ठ, जो की भगवान विष्णु का निवास स्थान है। जो श्रद्धालु इस दिन एकादशी का व्रत करते हैं उनको स्वर्ग की प्राप्ति होती है और उन्हें जन्म-मरण के चक्र से मुक्ति मिल जाती है।

स्वर्ग की प्राप्ति के लिये करें वैकुंठ एकादशी व्रत Read More »

इन वास्तु के उपायों से मिलेगी सफलता

वास्तु (Vastu) विज्ञान में हमारे पूर्वजों ने अपने दिव्य ज्ञान से ऐसे अनेक तथ्यों को शामिल किया है जो कि किसी भी भवन के रहवासियों को शांतिपूर्वक रहने में परम सहायक होते हैं। इन सभी तथ्यों में ‘क्यों’ और ‘कैसे’ की कोई गुंजाइश नहीं है क्योंकि प्रयोगकर्ता को होने वाले प्रत्यक्ष लाभ ही इसके प्रमाण

इन वास्तु के उपायों से मिलेगी सफलता Read More »

विवाह की समस्याओं को कैसे करें दूर

हर माता-पिता अपने पुत्र-पुत्री के लिए योग्य वर ढुंढना तो पहले से ही शुरु कर देते हैं। लेकिन विवाह (Marriage) के लिए शुभ समय, शुभ मुहूर्त का इंतजार करते हैं। उनका यह इंतजार उनकी चिंता बढ़ाता हैं। हर वो लड़की-लड़का जो अपने जीवन के सबसे सुनहरे पल का बेसबरी से इंतजार कर रहे होते है।

विवाह की समस्याओं को कैसे करें दूर Read More »

12 मुखी रुद्राक्ष से प्राप्त होती है सूर्य की कृपा

बारह मुखी रुद्राक्ष (12 mukhi rudraksha) भगवान महा विष्णु का स्वरुप माना गया है| बारह आदित्यों का तेज इस रुद्राक्ष में सम्माहित है इसलिए भगवान सूर्य देव की विशेष कृपा का भी पात्र है यह रुद्राक्ष| बारह मुखी रुद्राक्ष धारण करने मात्र से असाध्य व भयानक रोगों से मुक्ति मिलती है | ह्रदय रोग, उदार

12 मुखी रुद्राक्ष से प्राप्त होती है सूर्य की कृपा Read More »

कैसे हुई माता अन्नपूर्ण की उत्पत्ति

मार्गशीर्ष मास की पूर्णिमा को सुख-सौभाग्य तथा समृद्धि को देने वाली माँ  ‘अन्नपूर्णा जयंती’ (Annapurna Jayanti) हर्ष और उल्लास के साथमनाया जाता है। ऐसी मान्यता है कि प्राचीन काल में एक बार जब पृथ्वी पर अन्न की कमी हो गयी थी, तब माँ पार्वती (गौरी) ने अन्न की देवी, ‘माँ अन्नपूर्णा’ के रूप में अवतरित

कैसे हुई माता अन्नपूर्ण की उत्पत्ति Read More »