india tv astrologer

hindu mantras worship meditation

क्या है ॐ का अर्थ ?

आपने किसी हवन, कीर्तन या किसी पूजन में ‘ॐ’ या Aum का उच्चारण ज़रूर सुना होगा | इसका उच्चारण किसी भी तरह के पूजन से पहले किया जाता है जिससे की वातावरण और पूजन में उपस्थित सभी लोग पवित्र हो जाते हैं | यह शब्द तीन ध्वनियों से जुड़ कर बना है जो हैं अ, […]

क्या है ॐ का अर्थ ? Read More »

घर में सभी को सौभाग्य देगी यह मछली

अच्छे भाग्य के लिए फेंग शुई में कईं यंत्रों में से एक है कार्प मछली | यह यंत्र फेंग शुई के अनुसार धन सम्बन्धी सौभाग्य के लिए काफी लोकप्रिय है | इस यंत्र में 3 कार्प मछली खड़ी बनी होती हैं जिनके ऊपर की ओर हुए मुख पर एक क्रिस्टल बॉल रखी जाती है |

घर में सभी को सौभाग्य देगी यह मछली Read More »

कैसे आपकी मदद करेगा फेंग शुई पिरामिड

जीवन में तनाव मुक्त रहना, आज के दौर में सबसे मुश्किल काम है | तनाव ही आपके जीवन में रोग, क्रोध जैसी अन्य नकारात्मक उर्जाओं का ज़िम्मेदार है | स्वस्थ और सकारात्मक जीवन के लिए आपका तनाव मुक्त रहना अत्यंत आवश्यक है | शुरुआत से ही तनाव दूर करने में फेंग-शुई ने हमारी बहुत मदद

कैसे आपकी मदद करेगा फेंग शुई पिरामिड Read More »

क्या है गायत्री मंत्र का अर्थ

माँ गायत्री वेदमाता भी पुकारी जाती हैं। धार्मिक दृष्टि देखें तो गायत्री मन्त्र (Gayatri Mantra), इस समस्त ब्रह्माण्ड और व्याप्त जीवित जगत के कल्याण का सबसे बड़ा स्रोत है | ये एक ऐसा मंत्र है जिसकी उपासना स्वयं देवता भी करते हैं जिसके गुणों का वर्णन करना वेदों और शास्त्रों में भी संभव नहीं है।

क्या है गायत्री मंत्र का अर्थ Read More »

औरंगाबाद का देव सूर्य मन्दिर

मन्दिर हिन्दू धर्म में बहुत महत्व रखते हैं | जो व्यक्ति मन्दिर जाकर भगवान की पूजा अर्चना करता है, उस पर सदैव प्रभु का आशीर्वाद बना रहता है | भारत में एक से एक अनूठे और अद्भुत मंदिर देखने को मिलते हैं जिनकी कल्पना करना आज के दौर में भी बहुत मुश्किल है | ऐसे

औरंगाबाद का देव सूर्य मन्दिर Read More »

Stambheshwar-mahadev-mandir-gujarat

शिव पुराण में भी है स्तंभेश्वर महादेव मन्दिर का ज़िक्र

भारत में कई अद्भुत और विशाल मन्दिर हैं | कई ऐसे भी जिनकी माया आज भी लोगों को अचरज में दाल देती है | ऐसे ही कुछ मंदिरों में से एक है गुजरात स्थित भरूच ज़िले का स्त्म्भेश्वर महादेव मन्दिर (Stambheshwar Mandir) | इस मन्दिर की एक खास बात है जो इसे दुसरे कई मन्दिरों

शिव पुराण में भी है स्तंभेश्वर महादेव मन्दिर का ज़िक्र Read More »

स्वर्ग की प्राप्ति के लिये करें वैकुंठ एकादशी व्रत

लाभ वैकुण्ठ एकादशी (Vaikunth Ekadashi) को मुक्कोटी एकादशी के नाम से भी जाना जाता है। ऐसी मान्यता है कि इस दिन वैकुण्ठ, जो की भगवान विष्णु का निवास स्थान है। जो श्रद्धालु इस दिन एकादशी का व्रत करते हैं उनको स्वर्ग की प्राप्ति होती है और उन्हें जन्म-मरण के चक्र से मुक्ति मिल जाती है।

स्वर्ग की प्राप्ति के लिये करें वैकुंठ एकादशी व्रत Read More »

क्या है लोहड़ी के पीछे की कथा

लोहड़ी (Lohri) पर्व की महत्वता सबसे ज़्यादा पंजाब राज्य में देखने को मिलती है | छोटे बच्चे लोहड़ी से कुछ दिन पहले से ही लोहरी के गीत गाते हैं और साथ ही लोहरी के लिए लकड़ियां, मेवे, रेवडियां, मूंगफली इकट्ठा करने लगते हैं। लोहरी वाले दिन शाम को आग जलाई जाती है। अग्नि के चारों

क्या है लोहड़ी के पीछे की कथा Read More »

मकर संक्रांति का सूर्य देव से नाता

मकर संक्रांति (Makar Sankranti) को सूर्य के संक्रमण का त्यौहार माना जाता है। एक जगह से दूसरी जगह जाने अथवा एक-दूसरे का मिलना ही संक्रांति होती है। सूर्यदेव जब धनु राशि से मकर पर पहुंचते हैं तो मकर संक्रांति मनाई जाती है। सूर्य के राशि परिवर्तन को संक्रांति कहते हैं। यह परिवर्तन साल में एक

मकर संक्रांति का सूर्य देव से नाता Read More »

सुनेला रत्न के लाभ

पुखराज का उपरत्‍न सुनेला, पीले-भूरे रंग का होता है। इस रत्‍न की चमक उगते सूरज के समान होती है। वैदिक ज्‍योतिष के अनुसार सुनेला रत्‍न गुरु ग्रह से संबंधित होता है। इसे पहनने से गुरु से संबंधित दोष दूर होते हैं, मान-सम्‍मान की प्राप्‍ति होती है, निर्णय लेने की क्षमता का विकास होता है और

सुनेला रत्न के लाभ Read More »